Breaking News

गैस सिलेंडर फटने पर कंपनी देती है इतने लाख का मुआवजा….

नई दिल्ली, आज के समय में सभी के घर में गैस-सिलेंडर होता है और गैस सिलेंडर का सही से उपयोग करना हम सभी के लिए जरूरी है. अगर आपके भी घर में गैस सिलेंडर है और आप उसका प्रयोग करते हैं तो यह खबर आपके लिए बहुत ही जरूरी है.

घर के दरवाजे पर चढ़ रहा था ये विशालकाय जानवर, लोग के उड़ गये होश…

गैस सिलिंडर लीक होने और फटने के मामले में महिला के मौत के एक मामले में कंज्यूमर कोर्ट ने कंपनी को 10 लाख 46 हजार रुपये मुआवजा देने का निर्देश दिया है. साथ ही, इसी हादसे में बुरी तरह जख्मी हुईं दूसरी महिला को 1 लाख 75 हजार रुपये का मुआवजा देने का निर्देश दिया है. LPG यानी रसोई गैस के तौर पर इस्तेमाल होने वाली गैस का इस्तेमाल अब देश की अधिकांश जनता करती है.

इन तीन लोगों ने किया इस जानवर के साथ सामूहिक बलात्कार

ऐसे में जरूरी है कि हमें पता हो कि एलपीजी का इस्तेमाल का करते हुए क्या सावधानियां बरतनी चाहिए और किसी प्रकार की दुर्घटना होने पर क्या किया जाना चाहिए. साथ ही यह भी पता होना चाहिए कि यदि LPG गैस सिलिंडर फट जाता है या गैस लीक होने की वजह से हादसा हो जाता है तो आपके, एक ग्राहक होने के नाते, क्या अधिकार हैं.

बाघों के हमले से दुनिया के सबसे बड़े रिंग मास्टर की मौत…

यदि सिलिंडर में लीकेज या ब्लास्ट होता है तो इसकी जिम्मेदारी डीलर और कंपनी की है. 16 साल पहले हुए हादसे पर नैशनल कंज्यूमर फोरम ने यह आदेश दिया था और यह अब भी लागू है. नैशनल कंज्यूमर फोरम ने अपने फैसले में कहा था कि मार्केटिंग डिस्प्लिन गाइडलाइंस 2014 फॉर एलपीजी डिस्ट्रिब्यूशन के तहत तय है कि डीलर ने डिफेक्टिव सिलिंडर सप्लाई किया तो वह अपनी जिम्मेदारी शिकायती पर नहीं डाल सकता. गाइडलाइंस कहती हैं कि डीलर डिलिवरी से पहले चेक करे कि सिलिंडर बिल्कुल ठीक है या नहीं.

इस जानवर के दूध से बनता है दुनिया का सबसे महंगा पनीर, ये है कीमत

 मायएलपीजी.इन (http://mylpg.in) के मुताबिक जैसे ही कोई व्यक्ति एलपीजी कनेक्शन लेता है तो उसे मिले सिलेंडर से यदि उसके घर में कोई दुर्घटना होती है तो वह व्यक्ति 50 लाख रुपये तक के बीमा का हकदार हो जाता है.

एक दुर्घटना पर अधिकतम 50 लाख रुपये तक का मुआवजा मिल सकता है. दुर्घटना से पीड़ित प्रत्येक व्यक्ति को अधिकतम 10 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति दी जा सकती है.

इन कपड़ो को पहनकर नहीं कर सकेंगे इमामबाड़ा का दीदार…

एलपीजी सिलेंडर के बीमा कवर पाने के लिए ग्राहक को दुर्घटना होने की तुरंत सूचना नजदीकी पुलिस स्टेशन और अपने एलपीजी वितरक को देनी होती है.

पीएसयू ऑयल विपणन कंपनियों जैसे इंडियन ऑयल, एचपीसी तथा बीपीसी के वितरकों को व्यक्तियों और संपत्तियों के लिए तीसरी पार्टी बीमा कवर सहित दुर्घटनाओं के लिए बीमा पॉलिसी लेनी होती है.

यूपी में ये छोटी सी दुकान में कचौड़ी बेचने वाला निकला करोड़पति…

ये किसी व्यक्तिगत ग्राहक के नाम से नहीं होतीं बल्कि हर ग्राहक इस पॉलिसी में कवर होता है. इसके लिए उसे कोई प्रीमियम भी नहीं देना होता.

एफआईआर की कॉपी, घायलों के इलाज के पर्चे व मेडिकल बिल तथा मौत होने पर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, मृत्यु प्रमाणपत्र संभाल कर रखें.

दुर्घटना होने पर उसकी ओर से वितरक के जरिए मुआवजे का दावा किया जाता है. दावे की राशि बीमा कंपनी संबंधित वितरक के पास जमा करती है और यहां से ये राशि ग्राहक के पास पहुंचती है.

एसी में रहने से होती है ये बीमारी,इन चीजों से भी बनाएं दूरी

अब ये लोग कर सकेंगे फ्री मे हवाई यात्रा….

अब यहां पर भी मिलेगा पेट्रोल-डीजल…

ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर मोदी सरकार ने किया ये बड़ा बदलाव…

Spread the love
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com