हर रोज़ सिर्फ एक सेब खाने से होते हैं ये चौंकाने वाले फायदे

चाहे सुबह की सुस्ती भगानी हो या अनिद्रा, सेब हर तरह से सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है. यही वजह है कि डॉक्टर्स भी सेब का सेवन करने की सलाह देते हैं. आइए, इस स्वादिष्ट और पौष्टिक फल के बारे में कुछ अनकही बातें जानते हैं. 17वीं शताब्दी के अमेरिकी कानून के तहत, किसी भी व्यक्ति को अपनी नई जमीन पर कुछ भी उगाने से पहले सेब के पांच पौधे लगाने पड़ते थे. इसके बाद ही वह उस भूमि पर कोई दूसरा काम कर सकता था. जॉन कार्लटोन नामक अमेरिकी महापुरुष, जो जॉन एप्पलसीड के नाम से लोकप्रिय थे, सेब को दुनिया की बेहतरीन चीज मानते थे. हम भी कुछ हद तक उनके विचारों से सहमत हैं और आपको भी इससे सहमत होना चाहिए.

तो आइए, सेब की लोकप्रियता के कारणों पर एक नजर डालते हैं पौराणिक काल से ही सेब लोकप्रिय है पृथ्वी के पहले पुरुष और महिला द्वारा वर्जित फल का सेवन करने के काफी सालों बाद यहूदियों ने शेकार और ग्रीक के निवासियों ने सिकेरा नामक पेय पदार्थ का सेवन किया. यह पेय पदार्थ सेब और खमीर उठे हुए जूस को एकसाथ पकाकर बनाया जाता था. इसे सेहत के लिए अच्छा माना जाता था. रहस्यमय आइल ऑफ एवलॉन, जो सेल्टिक के बहादुरों के आराम करने की जगह थी, का शाब्दिक अर्थ सेब का द्वीप है. वसंतऋतु और उत्साह की स्कैंडनेविया की देवी, इडूना उत्तरी योरोप के देवताओं और देवियों को हर शाम अपने बगीचे के सेब खिलाया करती थीं, ताकि जवां बने रहें.

सेब के बारे में एक कहावत भी प्रसिद्ध है-रोजाना एक सेब खाइए और डॉक्टर से दूर रहिए. सड़े हुए सेब का इस्तेमाल आंखों की सूजन कम करने के लिए किया जाता है. फ्रांस में टाइफॉइड से बचाव के लिए सेब के जूस को पानी में मिलाकर पिया जाता है. डॉक्टर्स भी सहमत हैं यह फल गुलाब की जाति का है. सेब सेहत के बहुत अच्छा माना जाता है. सेब फ्लेवेनॉइड्स और पॉलिफेनॉल्स का प्रमुख स्नोत है. ये दोनों बेहद प्रभावशाली ऐंटी-ऑक्सिडेंट्स हैं. अध्ययनों से पता चलता है कि 100 ग्राम सेब खाने से आपको उतनी ही मात्रा में ऐंटी-ऑक्सिडेंट मिलते हैं जितने कि 1,500 मिलीग्राम विटामिन सी खाने से मिलता है.

सेब में मौजूद विटामिन्स और मिनरल्स रक्त कोशिकाओं को ताकतवर बनाते हैं. सेब में मौजूद पेक्टिन डायबिटिक लोगों के कोलेस्ट्रॉल और शुगर लेवल को कम करने में सहायता करता है. सेब में मैलिक और टाटरिक एसिड भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जो पाचन क्रिया सुचारू रूप से चलाने में सहायता करते हैं. इसके अलावा, सेब में मौजूद प्राकृतिक चीनी को पचाना आसान होता है. रात में सोने से पहले एक पके हुए सेब के सेवन करने से अनिद्रा और कब्ज से छुटकारा पाया जा सकता है. सेब में विटामिन बी, सी एवं पोटैशियम भी प्रचुर मात्रा होता है, जो हैंगओवर से बाहर निकलने में सहायता करता है. लेकिन जरूरत से ज्यादा सेब का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इसमें हल्की मात्रा में लैक्सटिव भी होता है. जिससे पेट साफ होता है.

अतः दिन भर में 2 से अधिक सेब का सेवन नहीं करना चाहिए. सेब का भरपूर फायदा उठाने के लिए उसे छिलके सहित बिना काटे ही खाएं. सबसे अच्छी बात यह है कि सेब वसा, सोडियम और कोलेस्ट्रॉल मुक्त होता है. सेब दांतों के लिए अच्छा होता है. सेब में मौजूद टाटरिक एसिड प्लाक से छुटकारा दिलाने में मदद करता है और मसूड़ों को साफ रखने में भी सहायता करता है. अतः इसे प्राकृतिक टूथब्रश के नाम से भी जाना जाता है.

सेब को जानें…

सेब उगाने के विज्ञान को पोमोलॉजी कहा जाता है. -ताजा सेब पानी में तैरता है, क्योंकि उसके वॉल्यूम का 25 प्रतिशत हवा होता है.

सेब के पेड़ की उत्पत्ति कैप्सियन और काला सागर के बीच के क्षेत्र में हुई थी. विश्वभर में, करीब, 7,500 प्रकार के सेब उगाए जाते हैं.

हमेशा चमकीले और चिकने सतहवाले ताजे सेब ही खरीदें और इन्हें फ्रिज में स्टोर करें.

कटे हुए सेब को भूरा होने से बचाने के लिए नींबू या नारंगी का रस लगाएं.

पकानेवाले सेब सामान्य सेब से अलग होते हैं. इनमें चीनी की मात्रा कम होती है. सेब के पौष्टिक गुण…

विटामिन ए- 3 मिलीग्राम विटामिन बी-  0.07 मिलीग्राम विटामिन सी- 5 मिलीग्राम कैल्शियम- 6 मिलीग्राम आयरन- 3 मिलीग्राम पोटैशियम- 130 मिलीग्राम कार्बोहाइड्रेट- 14.9 ग्राम कैलोरीज- 58

Spread the love
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com