Breaking News

85 प्रतिशत एससी एसटी उत्पीड़न की शिकायतें सही, पर सुप्रीम कोर्ट चूक मानने को तैयार नही

नई दिल्ली, 85 प्रतिशत एससी एसटी उत्पीड़न की शिकायतें सही होने के बावजूद, सुप्रीम कोर्ट अपनी चूक मानने को तैयार नही है। यह आंकड़ा केद्र सरकार ने अपनी दलील मे सुप्रीम कोर्ट मे रखा. लेकिन एससी एसटी फैसले में सुधार के लिए केंद्र सरकार की दलीलें न मानते हुए, सुप्रीम कोर्ट अपने फैसले पर अडिग  रहा और तत्काल तर्क देने से भी नहीं चूका।  मामले पर अब 16 मई को सुनवाई है।

तुरंत बदलें अपने ट्विटर एकाउंट का पासवर्ड, सॉफ्टवेयर में मिला बग

 वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय को सीबीआई ने किया गिरफ्तार

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट  के उस फैसले पर रोक की मांग की, जिसमें एससी एसटी कानून के तहत भी तत्काल एफआइआर और गिरफ्तारी नहीं हो सकती है। सरकार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के कारण ही कुछ लोगों की जानें भी गईं। लेकिन कोर्ट अपने फैसले पर अडिग  रही , बल्कि सीधा जवाब दिया – ‘फैसला किसी को अपराध करने को नहीं कहता है।’

 समाजवादी पार्टी बड़े परिवर्तन की ओर, अखिलेश- शिवपाल मिलकर लिखेंगे सफलता की नई ईबारत

बीजेपी सांसद ने सीएम योगी के दलित भोज पर कसा तंज

केंद्र  सरकार ने आंकड़े देते हुए कहा कि महज 15 प्रतिशत शिकायतें झूठी पाई गई। कोर्ट ने तत्काल जवाब दिया- इसका यह मतलब नहीं कि बाकी के 85 प्रतिशत मामले सही हैं। हम नहीं कह रहे आंकड़े देखिए। तभी न्यायमित्र खड़े हो गए और कहा- 75 फीसद मामलों में आरोपी बरी हो गए। दलितों पर अत्याचार का ये आलम है कि दूल्हे को घोड़े से उतार दिया जाता है। अखबारों में आयी ऐसी खबरों का हवाला दिया।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर इन पत्रकारों को किया गया याद

वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय के खिलाफ, सीबीआई ने किया मामला दर्ज

 इस बार सरकार का पक्ष रखते हुए अटार्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि फैसला गलत है। कोर्ट कानून की व्याख्या कर सकता है, लेकिन कानून नहीं बना सकता। कोर्ट शून्यता भरने के लिए दिशानिर्देश जारी कर सकता है, लेकिन मौजूदा कानून के खिलाफ निर्देश नहीं दे सकता। इसके अलावा इस कानून में शिकायत मिलने पर पुलिस तत्काल एफआइआर दर्ज करने को बाध्य है जबकि कोर्ट ने इस पर रोक लगा दी है।

जिन्ना की तस्वीर की खिलाफत कर रहे लोग, गोडसे के मंदिरों का भी विरोध करें – जावेद अख्तर

भाजपा सरकार मे किसान के पास आत्महत्या करने के अलावा दूसरा विकल्प नहीं-समाजवादी पार्टी

इन दलीलों को नकारते हुए न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल और यूयू ललित की पीठ ने कहा कि फैसले में एफआईआर दर्ज करने पर रोक नहीं है सिर्फ डीएसपी को पहले शिकायत जांचने को कहा गया है और अगर डीएसपी संतुष्ट हैं कि शिकायत झूठी नहीं है तो वो सीधे भी एफआइआर दर्ज कर सकता है।

इंटरनेट पर खेसारीलाल यादव ने मचाया धमाल, एक दिन में बना डाले ये रिकार्ड….

यूपी में उपचुनाव के लिए अधिसूचना जारी, जानिए पूरा विवरण….

राजभर समाज को सपा का समर्थन, मुख्यमंत्री को बताया सामंतवादी

लोकसभा चुनाव को लेकर, क्यों हैं मुलायम सिंह यादव इतने निश्चिंत ?

पिछड़ा, दलित और मुस्लिम गठजोड़, उपचुनाव मे तोड़ सकता है पुराने रिकार्ड

ओमप्रकाश राजभर का एक बार फिर अपनी सरकार पर हमला

मोदी सरकार का वरिष्ठ नागरिकों को बड़ा तोहफा, अब हर महीने मिलेगी 10000 रुपये पेंशन

समाजवादी पार्टी की नई कार्यकारिणी में, तीनों उपाध्यक्ष बदले गये

 संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने के पीछे, बीजेपी के इरादे खतरनाक-अखिलेश यादव

पीएम मोदी ने अचानक धुर विरोधी एचडी देवगौड़ा की तारीफ क्‍यों की?

अखिलेश यादव ने बताई क्या हैं बीजेपी की रणनीति…..

तेलंगाना के सीएम राव से मिलने पहुंचे अखिलेश यादव,राजनीतिक हलचल तेज

सचिन तेंदुलकर ने अपने बेटे के भविष्य को लेकर दिया बड़ा बयान…

योगी के मंत्री ने दलित के घर खाया खाना, लेकिन खाना किसी और के हाथ का……

गोकशी के आरोप मे पुलिस कस्टडी मे मौत, गुर्जर समाज बीजेपी सरकार पर भड़का

राहुल गांधी के सवालों का जवाब छोड़ सब बोल गये पीएम मोदी,आखिर क्यों बच रहें हैं ?

सपा सरकार बनी तो इन पर होगी ये कार्रवाई- अखिलेश यादव

 

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com