Breaking News

9/11 यानि अमेरिका पर हुए आतंकी हमलों की 18वीं बरसी

नई दिल्ली,अमेरिका पर हुए आतंकी हमलों की 11 सितंबर 2019 को 18वीं बरसी है.  इस हमले ने दुनिया को हिलाकर रख दिया था. आतंकी संगठन अल-क़ायदा ने 11 सितंबर 2001 को संयुक्त राज्य अमेरिका पर आत्मघाती हमला किया. अल कायदा आतंकवादियों ने उस दिन चार यात्री विमानों का अपहरण किया था. आतंकवादियों ने हवाई जहाज को मिसाइल के रूप में उपयोग किया था.

अब रेलवे फ्री में रिचार्ज करेगा, आपका मोबाइल नंबर

700 रुपये महीने में इंटरनेट, मुफ्त फोन कॉल, एचडी टीवी और डिश….

आतंकवादियों ने जानबूझकर उनमें से दो विमानों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, न्यूयॉर्क शहर के ट्विन टावर्स के साथ टकरा दिया था, जिससे विमानों पर सवार सभी लोग तथा भवनों के अंदर काम करने वाले अनेक लोग मारे गए थे. दोनों बड़ी इमारतें दो घंटे के अंदर ढह गई थीं. यहां तक कि उनके पास वाली इमारतें भी पूरी तरह से तबाह हो गईं थी और दूसरी इमारतों को भारी नुकसान हुआ था.

लखनऊ में ट्रैफिक दबाव को कम करने के लिए, उठाया गया ये बड़ा कदम

शिक्षक और स्टूडेंट्स को पीएम मोदी ने दी ये खास सलाह….

आतंकवादियों ने तीसरे विमान को वाशिंगटन डी.सी. के बाहर आर्लिंगटन, वर्जीनिया में पेंटागन से टकरा दिया था. आतंकवादियों द्वारा वाशिंगटन डी॰सी॰ की ओर पुनर्निर्देशित किए गए चौथे विमान के कुछ यात्रियों एवं उड़ान चालक दल द्वारा विमान का नियंत्रण फिर से लेने के प्रयास के बाद, विमान ग्रामीण पेंसिल्वेनिया में शैंक्सविले के पास एक खेत में जा टकराया. किसी भी उड़ान से कोई भी जीवित नहीं बचा था.

ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर जारी हुआ ये नया नियम

यूपी के इस सरकारी स्कूल के बच्चों का दिमाग है गुगल से भी तेज….

इस पूरे हमले में 3000 से अधिक लोग मारे गए थे तथा लगभग 6,000 अन्य लोग घायल हो गए थे. यह हमला इतना बड़ा था कि इस हमले में लगी आग को बुझाने में करीब 100 दिन का समय लगा था. इस हमले के बाद अमेरिका में तीन गुना कैंसर के मरीजों की संख्या बढ़ी है.  कैंसर का मुख्य कारण टॉवर की धूल को बताया गया है. अमेरिका ने इस हमले के दोषी ओसामा बिन लादेन को भी आखिरकार मार गिराया था.

अब यूपी में लखनऊ के बाद इस शहर में चलेगी मेट्रो….

मोदी सरकार ने की इन अधिकारियों की छुट्टी,देखे लिस्ट….

11 सितंबर की तारीख को स्वामी विवेकानंद के एक चर्चित भाषण से जोड़कर देखा जाता है, जो उन्होंने 1893 को अमेरिका के शिकागो में विश्व धर्म सम्मेलन में दिया था. अपने संबोधन में स्वामी विवेकानंद ने सांप्रदायिकता, धार्मिक कट्टरता और हिंसा का जिस तरह से उल्लेख किया था वह आज सवा सौ साल के बाद भी उतने ही भयावह रूप में उपस्थित हैं. उन्होंने कहा था कि अगर यह बुराइयां न होतीं तो दुनिया आज से कहीं बेहतर जगह होती.

इस दुकान के समोसे में निकली छिपकली….

स्‍टेट बैंक के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर….

एक करोड़ रुपये जीतने का मौका, बस करना होगा ये छोटा सा काम

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना हुआ बेहद आसान,जानें पू

Spread the love
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com