Breaking News

बीजेपी विधायक की पत्रकारों को खुली धमकी, सीमा मे रहें नही तो….?

नई दिल्ली,  बीजेपी विधायक ने पत्रकारों को खुली चेतावनी दी है कि आप अपनी पत्रकारिता की लाइन तय कर लें, कि कैसे रहना है. वैसे रहना जैसे शुजात बुखारी के साथ हुआ है? राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने बीजेपी विधायक के बयान पर बीजेपी को घेरा है.

सोनिया और राहुल गांधी से मिलने पहुंची सपना चौधरी,राजनीति में धमाल मचाने को तैयार

शिवपाल यादव ने अखिलेश और धर्मेन्द्र को लेकर कही ये बड़ी बात…..

कश्मीर में वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि बीजेपी विधायक  के बयान पर विवाद तेज हो गया है. कश्मीर के वरिष्ठ पत्रकार संपादक शुजात बुखारी की 14 जून को श्रीनगर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. वह प्रेस कॉलोनी स्थ‍ित अपने दफ्तर से एक इफ्तार पार्टी में शामिल होने जा रहे थे, तभी कुछ हमलावरों ने उन पर गोलियों की बौछार कर दी थी. इस हत्या की चारों तरफ कड़ी निंदा की गई थी.

अमित शाह के बैंक पर कांग्रेस का बड़ा हमला, बताया- बड़ा घोटाला, खोले कई और राज

नोटबंदी के बाद अमित शाह के बैंक मे, सबसे ज्यादा रकम जमा करने को लेकर, बड़ा खुलासा

कश्मीर में पीडीपी-बीजेपी सरकार में मंत्री रहे लाल सिंह ने शुक्रवार को पत्रकारों को चेतावनी देते हुए कहा कि उन्होंने कहा, ‘कश्मीर के पत्रकारों ने गलत माहौल पैदा कर दिया था उधर. अब तो मैं कश्मीर के पत्रकारों से कहूंगा कि आप भी अपनी पत्रकारिता की लाइन तय कर लें कि कैसे रहना है. वैसे रहना जैसे शुजात बुखारी के साथ हुआ है? इसीलिए अपने आपको(पत्रकार) संभालें, और एक लाइन खींचे ताकि यह भाईचारा न टूटे और यह बना रहे.’

प्रसिद्ध समाजवादी छायाकार अशोक यादव के त्रयोदश संस्कार पर, बड़ी संख्या मे लोगों ने दी श्रद्धांजलि

लोकसभा चुनाव से पहले ये नेता हुए सपा में शामिल….

लाल सिंह ने शुजात बुखारी हत्याकांड का जिक्र करते हुए पत्रकारों को चेताया। हालांकि वह शुजात बुखारी के भाई बसारत का नाम ले रहे थे। समाचार एजेंसी एएनआई के द्वारा ट्वीट किए गए लाल सिंह की प्रेस क्रान्फ्रेंस के एक हिस्से के वीडियो के मुताबिक, ”जैसे कश्मीर के पत्रकारों ने एक गलत माहौल पैदा कर दिया था उधर.. अब तो मैं कश्मीर के पत्रकारों को कहूंगा कि आप भी लाइन ड्रॉ करिए अपनी.. जर्नलिस्म की.. कि आपने कैसे रहना है, ऐसे रहना है जैसे वो बसारत (शुजात बुखारी के जगह उनके भाई का नाम ले गए) के साथ हुआ है? इस तरीके के हालात बनते रहें? इसलिए अपने आप को संभाले और एक लाइन ड्रॉ करें, ताकि ये भाईचारा ब्रेक न हो और भाईचारा बना रहे, और प्रोग्रेस होती रहे.. तरक्की होती रहे.. और इसी उम्मीद से हम आपका बहुत शुक्रिया करते हैं।”

योगी सरकार से सहयोगी दल इस कदर नाराज, नही शामिल हुये इस खास कार्यक्रम मे

जानिए क्यों नाराज हुए ये दलित सांसद,लगाये गंभीर आरोप

 कठुआ गैंग रेप मामले में आरोपियों का पक्ष लेने के कारण लाल सिंह पहले ही विवाद में आए थे. जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले के रासाना गांव एक आठ साल की बच्ची साथ कथित तौर पर कई दिनों तक गैंगरेप कर उसकी नृशंस हत्या कर दी गई थी. तब मामले के आरोपियों के समर्थन में मंत्री रहे लाल सिंह और चंदर प्रकाश गंगा ने रैलियां निकाली थीं. आरोपियों का इस कदर समर्थन करने के चलते दोनों नेताओं को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ गया था.

दलित विधायक के अपमान पर, बुरी तरह घिरे बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय

सुधार के लिये न्यायपालिका को भी न बख्शने वाले, न्यायमूर्ति जे. चेलमेश्वर आज होंगे रिटायर

लाल सिंह का मानना है कि कठुआ मामले को पत्रकारों की वजह से हवा मिली और उन्हें मंत्री पद से त्याग पत्र देना पड़ा. उस मसले का संदर्भ लेते हुए ही उन्होंने शुक्रवार को पत्रकारों को यह हिदायत दे डाली. इधर लाल सिंह के इस बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने फौरन बीजेपी पर निशाना साध लिया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘प्रिय पत्रकारों आपके सहयोगियों को बीजेपी के विधायक से धमकी मिली है. ऐसा लगता है कि शुजात की मौत अब गुंड्डों के लिए पत्रकारों के खिलाफ एक हथियार बन गया है.’

शिवपाल यादव ने कहा, मुझे अखिलेश यादव के इस फैसले का है इतंजार

केवल विज्ञापन और बयान वाली सरकार है ये -अखिलेश यादव

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला ने लाल सिंह के विवास्पद बयान पर ट्वीट कर पलटवार किया है। उमर अबदुल्ला ने लाल सिंह के पत्रकारों को चेतावनी देने वाले एक वीडियो को रीट्वीट करते हुए लिखा, ”प्रिय पत्रकारों, कश्मीर में आपके साथियों को अभी बीजेपी विधायक के द्वारा धमकाया गया है। ऐसा लगता है कि शुजात की मौत अब गुंडे अन्य पत्रकारों को धमकाने के औजार के तौर पर कर रहे हैं।”

Dear journalists, your colleagues in Kashmir just got threatened by a @BJP4IndiaMLA. It seems Shujaat’s death is now a tool for goons to use to threaten other journalists. https://t.co/LCLeWnHAK7

— Omar Abdullah (@OmarAbdullah) June 23, 2018

योगी सरकार ने किये पुलिस अफसरों के तबादले

राहुल गांधी से मिले कमल हासन, राजनीति को लेकर अटकलें शुरू

जानिए अखिलेश यादव ने बच्चों के इस खेल को क्यों किया याद…

आखिर क्यों जाना पड़ा शिवपाल यादव को जेल…….

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com