राजनीतिक दलों के प्रचार पर है, निर्वाचन आयोग की पैनी नजर

News85 January 12, 2017 0

ayogलखनऊ, उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2017 के पहले राजनीतिक नारों से रंगे निजी भवनों पर निर्वाचन आयोग की नजर है।

सभी 75 जिलों में उप्र निर्वाचन आयोग के निर्देश पर निजी भवनों की दीवारों पर लिखे नारों को हटाने का कार्य जोरों पर चल रहा है। इसके साथ में बैनर, पोस्टर व अन्य प्रचार सामग्रियों को हटवाने में भी अधिकारीगण जुटे हुए हैं। यूपी निर्वाचन आयोग कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा सामान्य निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा होने के पश्चात् उत्तर प्रदेश के 75 जनपदों में निर्वाचन अधिकारियों ने विभिन्न राजनीतिक दलों की लाखों की संख्या में प्रचार सामग्रियों को हटवाया गया है। प्रचार सामग्रियों में सरकारी व अर्ध-सरकारी भवनों की दीवारों पर लिखी वाल-राइटिंग, पोस्टर, बैनर, स्टीकर, निजी भवनों पर लिखे गए नारों व दुकानों, मकानों व भवनों पर टंगे झंडों को निर्वाचन अधिकारियों ने हटवाया है।

 

उत्तर प्रदेश में समस्त जिला निर्वाचन अधिकारियों ने अपनी कोर कमेटी के साथ प्रमुख बैठकें करनी शुरू कर दी है। कुछ स्थानों पर बैठकों के बाद पैदल मार्च भी किया जा रहा है। वहीं फ्लाइंग एवं स्टैटिक सर्विलांस टीमें बराबर अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में चक्रमण कर आदर्श आचार संहिता के सम्बम्ध में पैनी नजर रख रही है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2017 की तिथियां घोषित हो चुकी है। राज्य के पहले चरण में 15 जिलों में 73 सीटों पर 11 फरवरी को मतदान, दूसरे चरण में 11 जिलों में 67 सीटों पर 15 फरवरी को मतदान, तिसरे चरण में 12 जिलों में 69 सीटों पर 19 फरवरी को मतदान, चौथे चरण में 12 जिलों में 53 सीटों पर 23 फरवरी को मतदान, पांचवे चरण में 11 जिलों के 52 सीटों पर 27 फरवरी को मतदान, छठवें चरण में 7 जिलों 49 सीटों पर चार मार्च को मतदान और आखिरी व सातवें चरण में 7 जिलों की 40 सीटों पर 8 मार्च को मतदान होना तय है।

Leave A Response »