Breaking News

UPSSSC में हुआ बड़ा बदलाव, अब इस तरह होगा इंटरव्यू

लखनऊ,यूपी अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने बड़ा बदलाव किया गाया है।  उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने साक्षात्कार लेने की पुरानी प्रक्रिया में बदलाव कर दिया है। नई व्यवस्था में अभ्यर्थियों से उनका नाम, पता नहीं पूछा जाएगा। साक्षात्कार के लिए बनने वाले पैनल के पास सिर्फ रोलनंबर की सूची होगी और इसके आधार पर ही यह प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इतना ही नहीं, इसके लिए बनने वाला पैनल भी चंद मिनट पहले घोषित होगा।

समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के मंडल प्रभारी बनाए गए,देखे लिस्ट….

राफेल सौदा देश का सबसे बड़ा रक्षा घोटाला, जेपीसी से करायें जांच – प्रशांत भूषण

राज्य सरकार ने समूह ग तक की भर्ती में साक्षात्कार समाप्त कर दिया है, लेकिन पूर्ववर्ती सरकार में शुरू हुई भर्ती प्रक्रिया में यह व्यवस्था लागू है। अधीनस्थ सेवा चयन आयोग रुकी भर्ती प्रक्रिया को जल्द पूरी कर लेना चाहता है। इसीलिए चरणबद्ध तरीके से साक्षात्कार लेने का कार्यक्रम घोषित किया जा रहा है। आयोग चाहता है कि साक्षात्कार प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से हो। इसलिए इसमें कुछ महत्वपूर्ण संशोधन किए गए हैं।

साइक्लिंग- भारत ने छह स्वर्ण सहित 13 पदक के साथ जीता ट्रैक एशिया कप

80 रूपये मे लखनऊ से पहुंचेंगे दिल्ली, ये है सबसे किफायती स्कूटर, जानिये कीमत

आयोग की नई व्यवस्था के मुताबिक अभ्यर्थियों का साक्षात्कार सिर्फ उनके रोलनंबर के आधार पर होगा। साक्षात्कार से 30 मिनट पहले इसके लिए पैनल बनाया जाएगा। इसमें एक बोर्ड सदस्य के साथ दो विशेषज्ञ समेत तीन लोग होते हैं। बोर्ड सदस्य के साथ कौन विशेषज्ञ होगा यह भी अब उसी समय बताया जाएगा, जब साक्षात्कार शुरू होने वाला होगा। इतना ही रोटेशन के आधार पर पैनल में बदलाव किया जाएगा, जिससे साक्षात्कार से पहले कोई जुगाड़बाजी न चल सके। अगर कोई कर भी ले तो वह चाहकर भी साक्षात्कार में उसे मनचाहा नंबर न दे सके।

महापंचायत में मुख्यमंत्री की गैरमौजूदगी अखरी गुर्जर नेताओं को, योगी सरकार को दे डाली यह धमकी

शिवपाल के सेक्‍युलर मोर्चा गठन के बीच मुलायम सिंह का आया अहम बयान….

आयोग का मानना है कि नई व्यवस्था से धांधली की संभावना काफी हद तक खत्म हो जाएगी। इसमें भाई, भतीजावाद, जातिधर्म और क्षेत्रवाद के नाम पर किसी को पास नहीं किया जा सकेगा। इसके साथ ही पैनल में शामिल होने वाले विषय विशेषज्ञों के चयन की प्रक्रिया पारदर्शी रखी गई है। आयोग के अध्यक्ष सदस्यों की मौजूदगी में उनसे राय के बाद ही विशेषज्ञों का चयन कर रहे हैं।

मुलायम सिंह के सपा के कार्यक्रम में जाने पर शिवपाल के सेक्युलर मोर्चे ने दी ये प्रतिक्रिया…

मुलायम सिंह यादव के घर आई एक और मेहमान फिर बने दादा..

लखनऊ के इस प्रसिद्ध मंदिर मे चल रहे बालिका आश्रय गृह पर छापा, छुड़ाई गईं कई बच्चियां

सपा के वरिष्ठ नेता ने थामा शिवपाल यादव के सेक्युलर मोर्चे का दामन

समाजवादी पार्टी के संगठनात्मक ढांचे में समाजवादी सेक्युलर मोर्चा की सेंध

 

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com