Breaking News

बीजेपी को लगा बड़ा झटका, इस निर्दलीय प्रत्याशी ने थामा आरएलडी का हाथ…..

कैराना, उत्तर प्रदेश में कैराना लोकसभा उपचुनाव से पहले बड़ा उलटफेर हुआ है. निर्दलीय प्रत्याशी कंवर हसन ने अजीत सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल का हाथ थाम लिया है. इससे बीजेपी को बड़ा झटका लग सकता है, क्योंकि गठबंधन को लगभग 20 हज़ार वोटों का फायदा हो सकता है.

शिवपाल यादव हुए भावुक ,मुलायम सिंह और अखिलेश से कही ये बात…

 विधायकों को खुलेआम धमकी, पूर्व डीजीपी के घर डकैती, यूपी में कानून व्यवस्था ध्वस्त- अखिलेश यादव

  योगी सरकार ने फिर किये पीसीएस अफसरों के तबादले

 कंवर हसन तबस्सुम हसन के देवर हैं और चुनाव में उनके खड़े होने से गठबंधन को वोट कटने का डर सता रहा था. आज आरएलडी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी की पहल पर कंवर हसन ने गठबंधन प्रत्याशी यानी अपनी भाभी तबस्सुम हसन को समर्थन दे दिया. कंवर के इस कदम से बीजेपी के लिए ​मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं.

यूपी उपचुनाव में बीजेपी की बढ़ी मुश्किले ,सपा गठबंधन को मिला इस बड़ी पार्टी का साथ

गोरखपुर के डॉ. कफील खान, अब बचायेंगे इनकी जान, मुख्यमंत्री बोले….

यूपी मे हालात बद्तर, अब भाजपा विधायकों से मांगी जा रही रंगदारी, सीएम से की शिकायत

कैराना में राष्ट्रीय लोक दल की उम्मीदवार तबस्सुम हसन को समाजवादी पार्टी, कांग्रेस, बीएसपी के बाद आम आदमी पार्टी का भी समर्थन मिला हुआ है. तबस्सुम का मुकाबला बीजेपी की मृगांका सिंह से है. ऐसे में कंवर हसन के रालोद में शामिल हो जाने से तबस्सुम हसन को बड़ा फायदा हो सकता है.

यूपी उपचुनाव में बीजेपी की बढ़ी मुश्किले ,सपा गठबंधन को मिला इस बड़ी पार्टी का साथ

गोरखपुर के डॉ. कफील खान, अब बचायेंगे इनकी जान, मुख्यमंत्री बोले….

यूपी मे हालात बद्तर, अब भाजपा विधायकों से मांगी जा रही रंगदारी, सीएम से की शिकायत

अजित सिंह और उनके बेटे जयंत चौधरी गांव-गांव घूम कर तबस्सुम के पक्ष में वोट मांग रहे हैं. समाजवादी पार्टी के नेताओं का भी पूरा अमला कैराना में जोर आजमाइश कर रहा है. बीएसपी और कांग्रेस के लोग भी अपने तरीकों से तबस्सुम की मदद कर रहे हैं.

 मोदी सरकार के इस फैसले से SC, ST,OBC और अल्पसंख्यक के मन मे पक्षपात की आशंका- शिवपाल यादव

राहुल गांधी ने छात्रों को किया आगाह, बताया मोदी सरकार कैसे आरएसएस के अनुकूल अफसरों को भरेगी

कैराना उपचुनाव हुआ और भी दिलचस्प,बीजेपी को रोकने के लिए दो बड़े दुश्मन हुए एक

28 मई को यूपी के कैराना में वोट डाले जाएंगे हैं. इसके साथ ही नूरपुर सीट पर विधानसभा उपचुनाव भी 28 मई को ही होंगे.  बीजेपी के लिए कैराना सीट जीतना काफी अहम है क्योंकि इससे पहले बीजेपी यूपी के फूलपुर और गोरखपुर सीट पर उपचुनाव हार चुकी है. ये दोनों ही बीजेपी के गढ़ रहे हैं. ऐसे में कैराना का उपचुनाव बीजेपी के लिए यूपी में साख बचाने की लड़ाई है.

कर्नाटक जा रहे अखिलेश यादव, पूरी करेंगे अपनी ये हसरतें

क्रिकेटर रवींद्र जडेजा की पत्नी को पुलिस वाले ने सरेआम मारा थप्पड़,जानिए क्या है पूरा मामला

 सामाजिक असमानता दूर करने के लिये, जाति जनगणना के आंकडे सार्वजनिक करे मोदी सरकार- अखिलेश यादव

अखिलेश यादव चले पिता की राह पर, इस समाजवादी चिंतक को माना अपना आदर्श

कर्नाटक चुनाव परिणाम बदलने का बीजेपी इस तरह ले रही बदला- अखि

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com