Breaking News

सोशल मीडिया से

द्वेष की धूल तले दबे बहुजन नायक

द्वेष की धूल तले दबे बहुजन नायक । फारवर्ड प्रेस अक्टूबर 2015 अंक में पढ़िए गंगू तेली और गुरू घंटाल का सही इतिहास । आखिर कौन था गंगू तेली ? क्यों बदनाम हुए गुरू घंटाल ? मैं जो सोच रहा हूँ , वह यह कि अरबी – फारसी में भूत …

Read More »

भारत की 4 सबसे बड़ी बीफ निर्यातक कम्पनियो के मालिक ब्राह्मण ?

क्या आप जानते हैं भारत की 4 सबसे बड़ी बीफ निर्यातक कम्पनियो के मालिक कौन हैं ? हमारे देश में बीफ (गाय एवं अन्य पशुओं के मांस) का उत्पादन एवं व्यापार काफी अरसे से होता आ रहा है। बीफ भारतवासियों के एक बड़े हिस्से के भोज्य सामग्री में शामिल रहा …

Read More »

भानमती-देश की 100 ताकतवर महिलाओं में एक

बहराइच की निरक्षर भानमती अन्य महिलाओं और समाज के लिए एक प्रेरणा बनकर उभरी हैं. कभी मजदूरी करके घर चलाने वाली शुमार हो चुकीं है. उन्हें राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी 22 जनवरी राष्ट्रपति भवन में सम्मानित करेंगे.हाल ही में महिला और बाल विकास मंत्रालय ने भानमती जैसे महिलाओं की तलाश शुरू …

Read More »

कामरेड ए.बी .बर्धन – सोशल मीडिया से

सीपीआई के वरिष्ठ नेता एबी बर्धन के निधन पर मुख्यमंत्री अखिलेश दुख व्यक्त किया… कामरेड वर्धन का इस तरह से जाना भारत के वामपंथी आंदोलन को बहुत बड़ा झटका है।वर्तमान संकटकालीन दौर में आपके दिशा निर्देश की बड़ी जरूरत थी देश को कामरेड!! अलविदा!! लाल सलाम!!नमन!!!! फेसबुक पर साहित्यकार चौथीराम …

Read More »

अभी भी दलित को हर कुँवें से पानी पीने का अधिकार नही है-सीताराम येचुरी

प्रेमचंद की कहानी ‘ठाकुर का कुआँ’ आज भी प्रासंगिक है . का कहना है कि गाँव के हर कुँवें पर लाल झंडा लहराना इसलिए जरूरी है कि अभी भी दलित को हर कुँवें से पानी पीने का अधिकार नही है. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के कोलकाता प्लेनम में जाति-प्रश्न पर केन्द्रीय …

Read More »

केंद्र सरकार की नौकरियों में ओ.बी.सी और एस.सी मात्र 12%

आर.टी.आई. द्वारा प्राप्त की गयी सूचना से पता चला कि केंद्र सरकार की नौकरियों में मात्र 12% प्रतिशत अन्य पिछड़ा वर्ग के प्रतिनिधि हैं । 52% प्रतिशत ओ.बी.सी. का सत्ताईस प्रतिशत कोटा भी केंद्र सरकार 25 साल बाद भी लागू नही कर पायी। ओ.बी.सी को सोचना चाहिए कि आखिर उनका …

Read More »

मनई-मनई का भेद जहां वो भेद भेद हम पार जाब….

हर फादर क्रिसमस पर ही जनमता है। पिताजी होते तो आज 25 दिसंबर को 89 पूरे कर लेते। वे पीएम नहीं बने। सीएम नहीं बने। पर जहां थे वहां अडिग रहे पहाड़ की तरह। पिताजी ने सिखाया था कि विनम्र बनो पर झुको नहीं। किसी के भी समक्ष नहीं। झुकना …

Read More »

बनारस विश्वविद्यालय के नाम में “हिन्दू” शब्द क्यों लगाया पण्डित मालवीय ने?

”आज सुबह से ही एक सवाल जेहन में बार बार आ रहा है। जानकार मित्र कृपया प्रकाश डालें। तीन बार भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष रह चुके पण्डित मदन मोहन मालवीय की ऐसी क्या मजबूरी थी कि बनारस विश्वविद्यालय के नामकरण में “हिन्दू” का जोड़ लगाना पड़ा? यदि मजबूरी न …

Read More »

चौरी चौरा कांड में 170 मे किन 19 लोगों को मिली फांसी?

चौरी चौरा कांड में 170 लोगों को फांसी की सजा सुनाई गई थी। बाद में ऊंची अदालत ने 19 लोगों की ही फांसी बरकरार रखी। फांसी पाने वाले अधिकतर दलित-पिछड़ी जातियों के थे। वकील मदनमोहन मालवीय को जिन लोगों को फांसी से बचाने का श्रेय दिया जाता है, मुझे उनके …

Read More »

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com