Breaking News

कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज और बेटे-बहू समेत 22 लोगों में कोरोना की पुष्टि

नई दिल्ली, उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज समेत उनके परिवार और स्टाफ के 23 सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। बेटे, बहुएं और पांच साल के पोते में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। जबकि बड़े बेटे का सैंपल दोबारा जांच के लिए भेजा जा रहा है। महाराज के परिवार के सदस्यों समेत उनके आवास में काम करने वाले 41 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे।

शनिवार को उत्तराखंड के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज की पत्नी पूर्व मंत्री अमृता रावत कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने महाराज और उनके परिवार के सभी सदस्यों के साथ ही आवास में काम करने वाले कर्मचारियों के सैंपल जांच के लिए भेजे थे।

इनमें कैबिनेट मंत्री महाराज, उनके छोटे बेटे सुयश, बड़ी बहू आराध्य, छोटी बहू मोहिनी, पांच साल के पोते श्रेयांश में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। जबकि बड़े बेटे श्रद्धेय का सैंपल दोबारा से जांच के लिए भेजा जा रहा है। वहीं, महाराज के आवास में काम करने वाले 17 कर्मचारियों में कोरोना संक्रमण मिला है।

महाराज और उनका परिवार कोरोना संक्रमित मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। महाराज की पत्नी अमृता रावत को रविवार सुबह ही एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था, इसके बाद दोपहर में महाराज और अन्य लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। जिसके बाद महाराज समेत अन्यों को भी एम्स ऋषिकेश में भर्ती करा दिया गया।

कैबिनेट मंत्री महाराज और उनके परिवार के सदस्यों व स्टाफ में कोरोना की पुष्टि हुई है। विभाग की ओर से 41 सैंपल जांच के लिए गए थे। इसमें 22 सैंपल कोरोना पॉजिटिव आए हैं। सभी को भर्ती कराया गया है। इन सभी के संपर्क में आए लोगों को चिह्तिन करने की कोशिश की जा रही है।


पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के परिवार में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने पर प्रशासन ने सर्कुलर रोड, डालनवाला स्थित उनके आवास के आसपास का क्षेत्र पाबंद (सील) कर दिया है। क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बना दिया है। अगले आदेश तक यहां के लोग क्षेत्र से बाहर नहीं जाएंगे। इस दौरान क्षेत्र के बैंक, दुकानें और अन्य प्रतिष्ठान भी बंद रहेंगे।

जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने रविवार को इसके आदेश जारी कर दिए हैं। पर्यटन मंत्री के सर्कुलर रोड स्थित आवास के पूरब में कर्जन रोड, पश्चिम में अब्दुल्ला खान का मकान, उत्तर में अमित अग्रवाल का मकान और दक्षिण में 13 म्यूनिसिपल रोड के क्षेत्र को पाबंद किया है। डीएम ने कहा कि इस क्षेत्र में जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति अब प्रशासन कराएगा।

परिवार का एक सदस्य खरीदारी के लिए बाहर निकल सकता है। मोबाइल वैन के जरिए पाबंद क्षेत्र में दूध की सप्लाई की जाएगी। नगर निगम को क्षेत्र की साफ-सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के साथ मुनादी कर लोगों को जागरूक करने के निर्देश जारी किए गए हैं। इसके अलावा पुलिस क्षेत्र की बैरिकेडिंग करेगी। सीएमओ को सामुदायिक स्वास्थ्य पर नजर रखने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि अगर कोई इमरजेंसी है तो कंटेनमेंट जोन के लोग पुलिस के टोल फ्री नंबर 112 पर संपर्क कर सकते हैं। आदेश का पालन न करने वाले लोगों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के परिवार के कोरोना संक्रमित होने पर नगर निगम की टीम ने रविवार को सर्कुलर रोड स्थित उनके आवास और आसपास के क्षेत्र को सैनिटाइज किया। कर्मचारियों ने पूरे क्षेत्र में एक प्रतिशत सोडियम हाईपोक्लोराइट का छिड़काव किया।

मंत्रिमंडल के सदस्य होंगे होम क्वारंटीन कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के कोरोना पॉजिटिव आने से उत्तराखंड सरकार पर कोरोना संक्रमण का संकट मंडराने लगा है। पॉजिटिव आने से पहले महाराज शुक्रवार को मंत्रिमंडल की बैठक में शामिल हुए थे। इस बैठक में मुख्यमंत्री समेत सभी कैबिनेट मंत्री, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह सहित शासन के अन्य उच्च अधिकारी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने एहतियात बरतते हुए सभी बैठकें निरस्त कर दी हैं, जबकि कई मंत्री होम क्वारंटीन में चले गए हैं।

हालांकि आईसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार मंत्रिमंडल की बैठक जिस फार्मेट में होती है, वह संक्रमण के लिहाज से लो रिस्क श्रेणी में आती है।  महाराज के पॉजिटिव आते ही सरकार में हड़कंप मच गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को अपनी सभी बैठकें निरस्त कर दी। उन्होंने किसी से मुलाकात नहीं की।

वहीं अधिकांश मंत्रियों ने खुद को होम क्वारंटीन कर लिया है। महाराज के साथ बैठक में मौजूद होने से कई मंत्री भी सहमे हुए हैं कि कहीं उनमें कोरोना का लक्षण न आ जाए। मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने बताया कि मंत्रिमंडल में जो भी अधिकारी शामिल थे, उनमें से आधे अधिकारी होम क्वारंटीन होंगे और आधे वर्क फ्रॉम होम करेंगे।

पौड़ी विकास खंड पाबौ के एक व्यक्ति की हार्ट अटैक से मौत हो गई है। क्वारंटीन अवधि के दौरान मृतक व्यक्ति रविवार को कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के साथ संस्थागत क्वारंटीन हुआ था। स्वास्थ्य विभाग ने एतिहात के तौर पर मृतक व्यक्ति का कोरोना सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिया है।  

रविवार सुबह विकास खंड पाबौ के एक गांव में 42 वर्षीय एक व्यक्ति को सीने में तेज दर्द की शिकायत हुई। जिस पर परिजन उस व्यक्ति को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय पौड़ी लाए। यहां उपचार के दौरान व्यक्ति की मौत हो गई। डाक्टरों ने व्यक्ति के मौत का कारण हार्ट अटैक बताया। मृतक व्यक्ति विगत 14 मई को लुधियाना से गांव लौटा था।

जहां उसे क्षेत्र के एक सरकारी विद्यालय में संस्थागत क्वारंटीन केंद्र में 14 दिन क्वारंटीन किया गया था। विगत 28 मई को वह व्यक्ति क्वारंटीन अवधि पूर्ण करने के बाद घर लौट गया था। बताया जा रहा है कि मृतक व्यक्ति संस्थागत क्वारंटीन अवधि के दौरान रविवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए विकास खंड पाबौ के ही एक युवक के साथ क्वारंटीन हुआ था।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com