Breaking News

जानिये, दारू मे भी राम देखने वाले नरेश अग्रवाल की राम कथा

लखनऊ, सांसद नरेश अग्रवाल अब भाजपा मे शामिल हो गयें हैं।  लेकिन विवादों को लेकर उनका नाता बड़ा पुराना रहा है। कांग्रेस, लोकतांत्रिक कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी के बाद नरेश अग्रवाल  की भाजपा पाँचवीं पार्टी  है। अब तक वह चार पार्टी छोड़ चुकें हैँ। एक बार तो  नरेश अग्रवाल ने राज्यसभा में हिंदू धर्म के भगवान की तुलना मदिरा से कर दी थी जिसके बाद बीजेपी ने बहुत हंगामा काटा था।

शिवपाल सिंह की भविष्यवाणी हुयी सच, पहले ही किया था सावधान, जानिये क्या कहा था ?

नरेश अग्रवाल ने एक बार फिर बदली पार्टी , भाजपा में हो रहें हैं शामिल

सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद ने गठबंधन को लेकर किया बड़ा एेलान…

 संसद के मानसून सत्र के दौरान,  नरेश अग्रवाल  ने उस समय विवाद खड़ा कर दिया था जब विपक्ष अल्पसंख्यकों पर हमले, गोरक्षा के नाम पर हिंसा, दलितों का उत्पीड़न जैसे तमाम मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश कर रहा था। उस समय नरेश अग्रवाल को दारू मे राम दिख गये,  जिसके कारण विपक्ष की सारी रणनीति हिल गई है।

तेजस्वी यादव ने मोदी पर लगाया ये बड़ा आरोप…

भाजपा ने राज्यसभा चुनावों के लिए अपने 18 उम्मीदवारों की घोषणा ,देखें पूरी लिस्ट

कोका कोला का इंडिया के लिए नया प्लान, जानिए अब क्या देगी आपको कंपनी

 राज्यसभा मे बोलते हुये नरेश अग्रवाल ने कहा था कि व्हिस्की में विष्णु बसे, रम में बसे श्रीराम जिन में माता जानकी  और ठर्रे में हनुमान, सिया पत रामचंद्र की जय। नरेश अग्रवाल यहीं पर नहीं रुके थे और हिंदू धर्म का अपमान करना जारी रखा उन्होंने कहा कि गाय हमारी माता है तो बैल क्या हुआ वो भी तो कुछ होगा। बछड़ा हमारा क्या लगेगा। नरेश अग्रवाल के इन बयानों के बाद बीजेपी को विपक्ष को घेरने का  मौका मिल गया ।

 मैं खुद को बैकवर्ड नहीं मानता था, लेकिन भाजपा ने मुझे बना दिया-अखिलेश यादव

राज्यसभा चुनाव के लिये कांग्रेस ने जारी की उम्मीदवारों की सूची

राजद ने की राज्यसभा उम्मीदवारों के नाम की घोषणा

 बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव ने नरेश अग्रवाल से माफी मांगने के लिए कहा। संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि  अग्रवाल ने हिंदू धर्म का अपमान किया है इसलिये उन्हे माफी मांगनी चाहिए। इसके बाद जोरदार हंगामा हुआ। इसके बाद बीजेपी ने ‘श्री राम का अपमान, नहीं सहेगा हिंदुस्तान’ जैसे नारे लगाना शुरू कर दिये। जोरदार हंगामा होने के बाद  विपक्ष की रणनीति में सेंध लग गई।

सिर पर मैला ढोने की प्रथा देश मे अभी भी जारी, संसदीय समिति ने पेश की रिपोर्ट

न्यायपालिका मे बेंच फिक्सिंग कर फैसलों को किया जाता है प्रभावित

यादव महासभा ने दिया योगी सरकार के मंत्री ब्रजेश पाठक को धन्यवाद, जानिये क्यों ?

 बीजेपी ने सपा नेता के बयान को आधार बनाकर विपक्ष को घेरने की कवायद शुरू कर दी। देवी देवताओं के नाम को शराब के साथ जोड़कर नरेश अग्रवाल ने बीजेपी के हाथ वो हथियार दे दिया जिस से सदन मे विपक्ष की जुबान बंद हो गई। वही नरेश अग्रवाल अब बीजेपी मे शामिल हो गए हैं। अब सवाल यह उठता है कि  नरेश अग्रवाल ने राज्यसभा में दिया बयान वापस ले लिया या फिर भाजपा ने ही अपनी आपत्ति वापस ले ली?

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com