Breaking News

दलित मुद्दों पर रामगोपाल यादव ने न्यायपालिका को खींचा, कहा-तीसरे सदन के तौर पर काम कर रहा सुप्रीम कोर्ट

नयी दिल्ली, दलित मुद्दों की अनदेखी को लेकर समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने न्यायपालिका को कटघरे मे खड़ा किया ? उनहोने कहा कि तीसरे सदन के तौर पर सुप्रीम कोर्ट काम कर रहा है।

खेतों के बजाय सड़कों पर किसान व खेत मजदूर, जानिये क्यों ?

बीजेपी सरकार पर बरसे जिग्नेश मेवानी, मायावती को बहन बता, दलित-एकता का दिया ये महामंत्र

राज्यसभा में अनुसूचित जातियां और अनुसूचित जनजातियां ;अत्याचार निवारण संशोधन विधेयक 2018 पर चर्चा के दौरान समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने न्यायपालिका पर जबर्दस्त हमला किया। उन्होने कहा कि उच्चतम न्यायालय अभी तीसरे सदन के तौर पर काम करने लगा है और अब कानून भी न्यायपालिका ही बनाने लगी है। उन्होंने कहा कि सामाजिक न्याय से जुड़े जनहित याचिकाओं की सुनवाई करने वालों में अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति वर्ग के न्यायाधीश होने चाहिए।

अब शुरू होगी अखिलेश यादव की साईकिल यात्रा, जानिये कौन दिखायेगा हरी झंडी

पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण, ये बड़ा नेता बसपा से निष्कासित

कांग्रेस  ने  आरोप लगाया कि दलित मुद्दे पर केन्द्र सरकार की मंशा सही नहीं है क्योंकि उसने अनुसूचित जातियां और अनुसूचित जनजातियां ;अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 को कमजोर किये जाने के स्थान पर अध्यादेश नहीं लायी। कांग्रेस  सदस्य कुमारी सैलजा ने चर्चा के दौरान कहा कि हाल के वर्षाें में दलितों के विरूद्ध अपराध में वृद्धि हुयी है और भारतीय जनता पार्टी शासित राज्यों में इस तरह की अधिक घटनायें हो रही है।

अखिलेश यादव के लिए अमर सिंह का खास संदेश…

मोदी सरकार ने दिया तीन तलाक पर बड़ा फैसला……

उन्होंने मोदी सरकार के दलित हितैषी होने पर सवाल उठाते हुये कहा कि इस विधेयक को सही मंशा से क्या लाया गया है । इसको संविधान की नौंवी सूची में शामिल किया जाना चाहिए था ताकि कोई इसको चुनौती नहीं दे सकता। उन्होंने कहा कि यह सरकार सिर्फ दबाव में ही काम करती है और अपनी ओर से कुछ नहीं करती है। हर मुद्दे पर जब दवाब बनता है तब यह सक्रिय होती है।

रामगोपाल यादव कहा ने, आप कभी नाराज न होना,भले सदस्य नाराज हो जाये…..

अब RBI में भी RSS के लोग शामिल, मोदी सरकार पर उठे सवाल….

इससे पहले सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत ने इस विधेयक को सदन में पेश करते हुये कहा कि उच्चतम न्यायालय के एक निर्णय से यह कानून कमजोर हुआ है। इस कानून को मजबूत बनाने एवं दलित एवं आदिवासियों को न्याय दिलाने के लिए यह संशोधन किया जा रहा है।

राज्यसभा के नये उपसभापति निर्वाचित ,जानिए कितने मिले वोट…

दलित संगठनों का आज ‘भारत बंद’…?

यूपी मे दो और शेल्टर होम में देह व्यापार का भंडाफोड़, संचालिका बीजेपी महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष

बीजेपी को झटका, सपा में शामिल हुए सैकड़ों साथियों के साथ ये नेता….

अखिलेश यादव ने योगी सरकार द्वारा सरकारी खर्च पर संघ-भाजपा की फौज नियुक्त करने का किया पर्दाफाश

राम भक्तों ने राम मंदिर का निर्माण किया शुरू….

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com