Breaking News

सपा-बसपा के बीच सीटें तय, मायावती- अखिलेश लड़ेंगे चुनाव, ये दो पर्व गठबंधन के लिये महत्वपूर्ण

लखनऊ,  उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन की रूपरेखा लगभग तय हो गयी है। महागठबंधन में सीटों के आवंटन का आधार लोकसभा चुनावों में प्रदर्शन के आधार पर किया गया है।

बीजेपी को लगा बड़ा झटका, विधायक ने बनाई अलग पार्टी….

SC/ST एक्ट के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दिया केंद्र सरकार को झटका, जानिये क्या कहा

सूत्रों का कहना है कि 2014 के चुनाव में समाजवादी पार्टी पांच सीटों पर जीती थी और 31 सीटों पर दूसरे नंबर पर रही थी और अभी उपचुनाव में उसने दो सीटों पर जीत दर्ज की है। वहीं बसपा ने 2014 के चुनावों में किसी सीट पर जीत नहीं दर्ज की और 34 सीटों पर दूसरे नंबर पर रही थी। जबकि कांग्रेस की मात्र दो सीटें आई थीं और रालोद एक भी सीट नहीं जीत सकी थी।

अखिलेश यादव का कार्यकाल हो रहा खत्म ,क्या होगा अगला कदम

दलित आंदोलन को लेकर अखिलेश यादव का बड़ा बयान…

सूत्रों के अनुसार, फार्मूले के हिसाब से  सपा को 38 और बसपा को 34 सीटें मिलती हैं लेकिन अखिलेश यादव कह चुके हैं कि भाजपा को हराने के लिए हम बड़ा दिल दिखाते हुए ‘त्याग’ करने को तैयार हैं। बताया जा रहा है कि 2019 के लोकसभा चुनावों में बसपा 35 सीटों पर और सपा 30 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। बाकी 15 सीटें अन्य दलों के लिए छोड़ी जाएंगी जिनमें कांग्रेस भी शामिल है। महा गठबंधन में कांग्रेस शामिल है और रालोद को भी शामिल किया जा सकता है।

मायावती पहुंची अस्पताल, प्रशासन हुआ हलकान

‘फर्जी खबरों’ पर सरकार ने जारी की गाईडलाईन, पत्रकारों ने बताया गला घोंटने वाला कदम

सपा-बसपा गठबंधन के लिये दो पवित्र त्योहार महत्वपूर्ण होंगे जिन पर ये घोषणायें होंगी। 14 अप्रैल को संविधान निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर की जयंती है और उस दिन मायावती अपने काडर को सपा के साथ सहयोग करने का संदेश देंगी।  वहीं बसपा के सूत्रों ने बताया है कि मई माह में पार्टी की अहम बैठक होनी है जिसके बाद जून में ईद के दिन महागठबंधन के बीच हुए समझौते का औपचारिक ऐलान किया जा सकता है।

 मायावती को अपमानित करने का बीजेपी सरकार का दांव पड़ा उल्टा? अब नही है कोई जवाब?

यूपी और बिहार की विधान परिषद चुनाव की तिथियां घोषित, यूपी मे 13 सीटों पर होगा चुनाव

मायावती पिछला लोकसभा और विधानसभा चुनाव नहीं लड़ी थीं और माना यही गया था कि इसके कारण पार्टी के कार्यकर्ता निष्क्रिय रहे। इसलिए इस बार मायावती के लिए बिजनौर या अम्बेडकर नगर सीट का चयन किया गया है। वहीं दूसरी तरफ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव कन्नौज सीट से चुनाव लड़ेंगे। कन्नौज से अखिलेश पूर्व में सांसद रह चुके हैं वर्तमान में यह सीट उनकी पत्नी डिंपल यादव के पास है जोकि अगला चुनाव नहीं लड़ेंगी।

भारत बंद – कई राज्यों मे बिगड़े हालात, पांच प्रदर्शनकारियों की मौत, कई दर्जन घायल

भारत बंद का व्यापक असर, सपा, बसपा, राजद ने भी दिया समर्थन

लोकसभा चुनाव को लेकर, शिवपाल सिंह यादव ने किया बड़ा दावा

आरक्षण और दलित अत्याचार को लेकर, आखिर अपनी पार्टी के खिलाफ क्यों उतरी बीजेपी सांसद

SC/ST  एक्ट: आज भारत बंद, कई राजनीतिक दलों और संगठनों ने दिया समर्थन

अखिलेश यादव ने बताया अपने बच्चों का भविष्य…

Spread the love
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com