Breaking News

बंद होंगे 2000 रुपये के नए नोट? मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला…..

नई दिल्ली, 2000 रुपये के नोट बंद होंगे ? दो साल पहले नोटबंदी के बाद जारी किए गए 2,000 रुपये के करेंसी नोट की छपाई ‘न्यूनतम स्तर पर’ पहुंच गई है. वित्त मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने  यह जानकारी दी. नवंबर, 2016 में नोटबंदी के बाद सरकार ने 2,000 रुपये का नया नोट जारी किया था.

रेलवे देगी यात्रियों को ये नई बड़ी सुविधा…

घर बैठे मिलेगा पेट्रोल-डीजल ,जानिए कैसे….

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रिजर्व बैंक और सरकार समय समय पर करेंसी की छपाई की मात्रा पर फैसला करते हैं. इसका फैसला चलन में मुद्रा की मौजूदगी के हिसाब से किया जाता है. जिस समय 2,000 का नोट जारी किया गया था तभी यह फैसला किया गया था कि धीरे-धीरे इसकी छपाई को कम किया जाएगा. 2,000 के नोट को जारी करने का एकमात्र मकसद प्रणाली में त्वरित नकदी उपलब्ध कराना था.

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये निर्णय….

इन शहरों में मिल रहा है सबसे सस्ता पेट्रोल-डीजल…

अधिकारी ने बताया कि 2,000 के नोटों की छपाई काफी कम कर दी गई है. 2000 के नोटों की छपाई को न्यूनतम स्तर पर लाने का फैसला किया गया है. रिजर्व बैंक के आंकड़ों में मार्च, 2017 के अंत तक 328.5 करोड़ इकाई 2000 के नोट चलन में थे. 31 मार्च, 2018 के अंत तक इन नोटों की संख्या मामूली बढ़कर 336.3 करोड़ इकाई पर पहुंच गई.

कहीं आपके फोन पर भी तो नहीं आ रहे इन नंबर से कॉल..?

PM आवास के लिए अब कोई भी कर सकता है आवेदन, बस करना होगा ये काम

मार्च 2018 के अंत तक कुल 18,037 अरब रुपये की करेंसी चलन में थी. इनमें 2000 के नोटों का हिस्सा घटकर 37.3 प्रतिशत रह गया. मार्च, 2017 के अंत तक कुल करेंसी में 2000 के नोटों का हिस्सा 50.2 प्रतिशत पर था.इससे पहले नवंबर 2016 में 500, 1000 रुपये के जिन नोटों को बंद किया गया उनका कुल मुद्रा चलन में 86 प्रतिशत तक हिस्सा था.

यूपी में निकलीं बंपर भर्तियां, ऐसे करें आवेदन…

इस रेस्टोरेंट की आड़ में चल रहा था ये धंधा….

चांद के अनदेखे हिस्से पर उतरा इस देश का पहला अंतरिक्ष यान

देखिए चर्चित विवेक तिवारी हत्याकांड के आरोपी के साथ क्या हुआ…

भारतीय रेलवे ने निकाली बंपर वैकेंसी ,ऐसे करें अप्लाई..

ये इंजेक्शन लगाते ही खत्म हो जाएगी पेट की चर्बी…

इस दिन पड़ेगा साल 2019 का पहला सूर्यग्र

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com