आईआईटी खड़गपुर के व्हिसलब्लोअर और पूर्व प्रोफेसर को जेएनयू में मिली पोस्टिंग

 

 

नई दिल्ली,  कदाचार के आरोप में आईआईटी खड़गपुर द्वारा अनिवार्य सेवानिवृत्ति दिए जाने के बाद छह साल चली कानूनी लड़ाई के पश्चात पूर्व प्रोफेसर और व्हिसलब्लोअर राजीव कुमार को अंततः जवाहरलाल नेहरू विविद्यालय में पोस्टिंग मिल गई है। जेएनयू ने एक आदेश में कुमार से आग्रह किया कि वह स्कूल ऑफ कंप्यूटर एंड सिस्टम साइंसेज में तत्काल अपनी ड्यूटी शुरू करें। आईआईटी खड़गपुर ने मई 2011 में कुमार को कदाचार के आरोप में निलंबित कर दिया था।

मुलायम सिंह का आशीर्वाद, अखिलेश यादव के साथ, जानिये किसने किया यह खुलासा ?

पुलवामा पुलिस लाइंस पर फिदायीन हमला, आठ जवान शहीद, दो आतंकी मारे गये

 उन पर आरोप लगाए गए थे कि उन्होंने संस्थान की छवि को यह आरोप लगा कर खराब किया है कि संस्थान में प्रवेश देने और लैपटॉप खरीदने में धांधली हुई है और परीक्षा में छात्र बड़े स्तर पर नकल करते हैं। उसी साल उच्चतम न्यायालय ने आईआईटी संयुक्त प्रवेश परीक्षा जेईई में सुधार के प्रयासों के लिए कुमार को नेपथ्य का नायक बताया था। इसके बाद से इस परीक्षा का नाम बदलकर जेईई एडवांस हुआ।

लालू यादव की, ‘बीजेपी भगाओ, देश बचाओ’ रैली के, रंग मे रंगा पटना

ओबीसी आरक्षण मे विभाजन के मुद्दे पर, उ० प्र० पिछड़ा वर्ग संघ की आज बैठक

 कुमार की अनिवार्य सेवानिवृति को हाल ही में प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रपति पद छोड़ने से कुछ दिन पहले रद्द कर दिया था। आईआईटी खड़गपुर द्वारा उनका कार्यभार ले लेने के बाद कुमार जून 2015 में एक आदेश के माध्यम से जेएनयू के साथ जुड़े थे जिसमें उन्हें दो साल – 12 जून 2015 से 11 जून, 2017 तक के लिए कार्यकाल पुनर्धकिारग्रहण दिया गया था।

 जानिये, अखिलेश यादव ने क्यों कहा मोदी सरकार से-‘न्यू इंडिया’ रहने दो, शांति से जीने दो

बाबा राम रहीम के समर्थकों के आगे बीजेपी सरकार ने घुटने टेके, 30 मरे 250 से ज्यादा घायल

 आदेश में कहा गया था कि अगर उन्होंने इस अधिकार की अवधि खत्म होने पर आईआईटी खड़गपुर में कार्यभार नहीं संभाला तो माना जाएगा कि उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। जेएनयू प्रशासन ने पिछले साल मई में जब उनसे पद संभालने को कहा था तब उनसे उनकी कार्यकाल समाप्ति या आईआईटी खड़गपुर को दिए इस्तीफे की प्रति जमा करने को कहा गया था। कुमार के इस्तीफे को आईआईटी खड़गपुर ने 14 अगस्त 2017 को दिल्ली उच्च न्यायलय के एक आदेश के बाद स्वीकार कर लिया। प्रोफेसर कुमार ने अपने सभी समर्थकों को धन्यावाद दिया है।

बीजेपी सांसद के बिगड़े बोल- बाबा राम रहीम का किया बचाव, न्यायपालिका को दी धमकी

समाजवादी पार्टी ने घायल शिवानी मिश्रा को दी आर्थिक मदद, योगी सरकार से भी की अपील

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com