Breaking News

टीवी देखने वालो के लिए खुशखबरी,TRAI ने किया ये बड़ा ऐलान…

नई दिल्ली,भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने 3 बड़े ऐलान किए हैं. जानिए इसका आम लोगों को कैसे फायदा मिलेगा.आइए जानते हैं कि ट्राई ने क्‍या ऐसा ऐलान किया है और इसका आम लोगों को कैसे फायदा मिलेगा.

यूपी में इन लोगो को लगने वाला है बड़ा झटका…..

सीजन का सबसे बड़ा ऑफर, इन कारों पर मिल रहा है लाखों का डिस्काउंट

दरअसल,  टेलीविजन दर्शक जल्द ही सेट टॉप बॉक्स (एसटीबी) बदले बिना अपने डीटीएच या केबल सर्विस प्रोवाइडर को बदल सकेंगे. यह जानकारी भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के चेयरमैन आर एस शर्मा ने दी है. आर एस शर्मा ने कहा, ‘‘पिछले दो साल से हम सेट टॉप बाक्स को सभी डीटीएच या केबल सर्विस प्रोवाइडर के बीच आंतरिक रूप से कार्य करने लायक बनाने का प्रयास कर रहे हैं. समस्या का एक बड़ा हिस्सा सुलझ गया है. कुछ कारोबारी चुनौतियां बाकी हैं. हम इसे इस साल के अंत तक शुरू करना चाहते हैं.

इस तारीख से पहले कर दें अपने बकाया बिजली के बिल का भुगतान, वरना

घर में शेर पालना पड़ा भारी,जो हुआ वो जानकर रह जाएंगे हैरान….

इसके साथ ही ट्राई चेयरमैन आर एस शर्मा ने बताया , ” हमें बीएसएनएल और एमटीएनएल को 4 जी सेवाओं के लिए स्‍पेक्ट्रम आवंटन पर कुछ दिन पहले दूरसंचार विभाग की ओर से संदर्भ सूचना मिली है. हम एक परामर्श पत्र जारी करेंगे और उस पर खुली चर्चा करेंगे. दोनों दूरसंचार कंपनियों ने सरकार से इक्विटी के बदले में 4 जी सेवाओं के लिए स्पेक्ट्रम आवंटन करने का आग्रह किया था. बीएसएनएल ने दूरसंचार बाजार में जारी प्रतिस्पर्धा के लिए 7,000 करोड़ रुपये के इक्विटी निवेश के माध्यम से पूरे देश में 4 जी स्पेक्ट्रम की मांग की है.

सरकार कारोबार शुरू करने के लिए देगी इतने लाख रुपये,ऐसे करें अप्लाई….

पहली बार प्याज के बराबर पैदा हुआ इंसान का बच्चा,देखकर रह जाएगे हैरान

इससे पहले बीते सोमवार को ट्राई ने स्पष्ट किया कि टेलिकॉम ऑपरेटर, कस्‍टमर की ओर से मंजूरी मिलने के बाद ही उन्हें इलेक्ट्रॉनिक रूप में बिल की प्रति भेज सकते हैं. पोस्टपेड उपभोक्ताओं को बिल भेजने के प्रावधान की समीक्षा के बाद ट्राई ने बताया कि नि:शुल्क बिल भेजने का यह प्रावधान मौजूदा रूप में जारी रहेगा. ट्राई ने हालांकि, कहा कि यदि उपभोक्ता ई-मेल के जरिये बिल के विकल्प को चुनता है तो सेवाप्रदाता ऐसा कर सकते हैं. इसके लिए उन्हें उपभोक्ताओं से मंजूरी लेनी होगी.

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com