Breaking News

दुनिया भर मे काले धन निवेश करने का हुआ बड़ा खुलासा, 714 भारतीयों के नाम शामिल

नई दिल्ली, दुनिया भर मे काले धन निवेश करने का बड़ा खुलासा हुआ है. पनामा पेपर्स के बाद काले धन को लेकर अब पैराडाइज पेपर्स में एक और बड़ा खुलासा सामने आया है. इसमें भारत समेत कई अन्य देशों की प्रभावशाली हस्तियों के नाम शामिल हैं.

भाजपा नेताओं के बाद, आरएसएस ने भी खींचे मोदी सरकार के कान, जानिये क्यों ?

समाजवादी पार्टी की 25 वर्ष की संघर्ष यात्रा- युवा पार्टी, युवा नेतृत्व

 ‘पैराडाइज पेपर्स’ में 1.34 करोड़ दस्तावेज शामिल हैं, जिनमें दुनिया के कई अमीर और शक्तिशाली लोगों के गुप्त निवेश की जानकारी दी गई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन लोगों ने विदेशी फर्मों और फर्जी कंपनियों की मदद से अपने धन को ठिकाने लगाए.

जानिये पीएम मोदी का ‘मित्रों’ कहना कितना डरावना..? 

 शत्रुघ्न सिन्हा ने भाजपा की खोली पोल, गुजरात और हिमाचल के चुनाव को लेकर जानिये क्या कहा ?

सूत्रों के अनुसार, पैराडाइज पेपर्स में कुल 180 देशों के लोगों के नाम शामिल हैं जिसमें से भारत 19वें नंबर पर है. इसमे 714 भारतीयों के नाम  शामिल बताए जा रहे हैं. अभी इस खुलासे से जुड़ी 40 और रिपोर्ट्स आनी बाकी हैं। ये जानकारियां कुल 19 टैक्स हेवन (ऐसे देश जहां टैक्स काफी मामूली होता है) माने जाने वाली जगहों से आई हैं.

बिग बॉस के घर मे ये क्या हुआ ढिंचैक पूजा के साथ…?

अखिलेश यादव के विकास के बुनियादी ढ़ांचे को, भाजपा सरकार नष्ट कर रही-समाजवादी पार्टी

 पनामा पेपर्स को सामने लाने वाले जर्मन अखबार जीटॉयचे साइटुंग ने ही पैराडाइज पेपर्स का भी खुलासा किया है. पैराडाइज पेपर्स से 18 महीने पहले पनामा पेपर के जरिए ऐसा ही खुलासा हुआ था. उसमें भी कई बड़े नेताओं के नाम सामने आए थे.

ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा- #ToiletChorNitish, देखिये कमेंट्स और चुटीले पोस्टर

कांग्रेस का मोदी पर गंभीर आरोप, कहा-महिलाओं के साथ किया बड़ा विश्वासघात

 इस जानकारी को सबसे पहले जर्मन के एक अखबार जीटॉयचे साइटुंग ने जुटाया, जिसके बाद  इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट (ICIJ) ने इसकी जांच शुरू की। ICIJ में 90 मीडिया संस्थानों के पत्रकार शामिल थे. 380 जर्नलिस्ट्स ने करीब एक वर्ष तक इस प्रोजेक्ट पर काम किया था. इन पेपर्स में पिछले 70 वर्षों के आंकड़ें दिए गए हैं.

ये शिवसेना ने ममता बनर्जी की तारीफ की, या भाजपा की पोल खोली ?

 सीबीआई के आरोपी नेता को भाजपा में शामिल होते ही, मोदी सरकार ने वाई प्लस सुरक्षा से नवाजा

 सूत्रों के अनुसार, इस लीक का केंद्र ऐपलबी नामक एक लॉ फर्म है जो बरमूडा, ब्रिटेन के वर्जिन आईलैंड, केमैन आईलैंड, आइल ऑफ मैन, जर्सी में स्थित है. यह फर्म खुद को विदेशों में पैसा जमा करने के मामले में नंबर वन करार देती है। कंपनी का कहना है कि वह एक लॉ फर्म है जो क्लाइंट्स को उनके बिजनेस के लिए कानूनी तरीकों के बारे में बताती है।  

अखिलेश यादव की सीएम योगी को सलाह-रंग बदलने से विकास नहीं होता, विकास होने से रंग बदलता है

अभिनेता कमल हासन के खिलाफ वाराणसी मे मुकदमा दर्ज

 

 

 

 

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com