Breaking News

पीएम मोदी ने कहा , उनकी भी पूजा होती है, जिनका डूबना तय है

नयी दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि भारत ने हमेशा शांति, एकता और सद्भाव का संदेश दिया है और हमारे सशस्त्र बल दुनिया भर में संयुक्त राष्ट्र मिशनों के माध्यम से इस दिशा में योगदान देते रहे हैं। अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्तमान में करीब 7,000 भारतीय सुरक्षा कर्मी शांतिरक्षण मिशनों में तैनात हैं और यह शांतिरक्षण अभियानों में तीसरा सबसे बड़ा योगदान है। मोदी ने सुरक्षा बलों के साथ कश्मीर के गुरेज सेक्टर में मनाई गई दिवाली को याद करते हुए कहा कि हमारे जवान, न सिर्फ़ हमारी सीमाओं पर, बल्कि विश्वभर में शांति स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

यूपी निकाय चुनाव-अखिलेश यादव ने बताया इस तारीख को जारी करेगें प्रत्याशियों की सूची…..

सपा में नेताओं के शामिल होने की लगी होड़,कई दलों के नेता हुए शामिल

 मोदी ने कहा कि अब तक 18 हज़ार से अधिक भारतीय सुरक्षा-बलों ने संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षण अभियानों में अपनी सेवाएँ दी हैं। उन्होंने कहा कि अगस्त 2017 तक भारतीय जवानों ने संयुक्त राष्ट्र के विश्वभर के 71 शांतिरक्षण अभियानों में से लगभग 50 अभियानों में अपनी सेवाएँ दी हैं। भारत लगभग 85 देशों के शांतिरक्षकों को प्रशिक्षण देने का भी काम कर रहा है।

आरटीआई से हुआ, अखिलेश यादव के बारे मे, एक बड़ा खुलासा…

पारिवारिक स्वामित्व वाले कारोबार में, कौन है नंबर वन, क्या है भारत का नंबर?

 प्रधानमंत्री ने कहा कि कांगो और दक्षिण सूडान में भारतीय सेना के अस्पताल में 20 हज़ार से अधिक रोगियों का इलाज़ किया गया है और अनगिनत लोगों को बचाया गया है। उन्होंने कहा कि भारत के संविधान की प्रस्तावना और संयुक्त राष्ट्र चार्टर की प्रस्तावना, दोनों ‘वी द पीपुल’ शब्दों के साथ शुरू होती है। भारत ने नारी समानता पर हमेशा ज़ोर दिया है और यूएन डिक्लेरेशन ऑफ ह्यूमन राइट्स इसका जीता-जागता प्रमाण है।

बढ़ गई अरबपतियों की संख्या, जानिये कितनी ?

वृन्दावन एवं बरसाना, पवित्र तीर्थस्थल घोषित, जानिये क्यों ?

 मोदी ने कहा कि दीपावली के छह दिन बाद मनाया जाने वाले महापर्व छठ के केंद्र में सूर्य और जल हैं वहीं पूजन विधि से जुड़ी अन्य सामग्रियां बांस और मिट्टी के बने बर्तन आदि हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया सिर्फ उगते सूर्य को नमस्कार करती है लेकिन आस्था के महापर्व छठ में उनको भी पूजने का संदेश दिया जाता है जिनका डूबना निश्चित है।

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों पर अत्याचार को लेकर सपा ने राज्यपाल को दिया ज्ञापन, रखी ये मांगें

गन्ना मूल्य मे भाजपा ने किसानों के साथ किया बड़ा अन्याय-समाजवादी पार्टी

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल ने आधुनिक अखण्ड भारत की नींव रखी और इसके लिए उन्होंने जरूरत के अनुसार, मान मनौव्वल तथा बल प्रयोग किया एवं जटिल समस्याओं का व्यावहारिक हल निकाला। मोदी ने कहा कि सरदार पटेल ने कहा था – “जाति और पंथ का कोई भेद हमें रोक न सके, सभी भारत के बेटे और बेटियाँ हैं, हम सभी को अपने देश से प्यार करना चाहिए और पारस्परिक प्रेम तथा सद्भावना पर अपनी नियति का निर्माण करना चाहिए।

अखिलेश यादव ने लांच की फिल्म की सीडी, दिया खास संदेश

 यूपी में नगर निगम निकाय चुनाव की तारीखों का हुआ एेलान,जानिए पूरा विवरण..

 उन्होंने कहा कि सरदार पटेल का यह कथन आज भी हमारे नये भारत के दृष्टिकोण के लिए प्रेरक है, प्रासंगिक हैं और यही कारण है कि उनका जन्मदिन ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि 31 अक्तूबर को सरदार पटेल की जयंती के अवसर पर देशभर में ‘रन फॉर यूनिटी’ का आयोजन किया जाएगा, जिसमें बच्चे, युवा, महिलाएँ, सभी आयु-वर्ग के लोग शामिल होंगे। उन्होंने सभी लोगों से इसमें भाग लेने की अपील की।

देश की अर्थव्यवस्था आईसीयू में, डा० जेटली की दवा में दम नहीं-राहुल गांधी

मेयर- चेयरमैन और वार्डों के आरक्षण की अंतिम सूची जारी

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com