Breaking News

भेदभाव संविधान ने तो समाप्त कर दिया, परंतु सत्ता वर्ग इसको हर स्तर पर संरक्षण देते रहे-मायावती

लखनऊ,  बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी  और केंद्र सरकार के साथ-साथ कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि संविधान के उद्देश्यों को फेल करने में भाजपा-कांग्रेस चोर-चोर मौसेरे भाई हैं। बसपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा व आरएसएस की संविधान विरोधी घातक व घृणित सोच आमजनता कभी सफल नहीं होने देगी।

मायावती द्वारा जब्त करवाया गया अरबों का खजाना, अब जाकर राजा भैया को मिला वापस

अखिलेश यादव ने लोकतंत्र पर जनता का भरोसा पुख्ता करने के लिये उठाया कदम- समाजवादी पार्टी

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता की हुई हत्या, कानून व्यवस्था पर उठ रहे सवाल

मायावती ने कहा कि डॉ. भीमराव अंबेडकर का भारतीय संविधान आज खतरे में जरूर है, परंतु यह भी एक ऐतिहासिक सत्य है कि संविधान को उसकी सही मंशा के अनुसार लागू करके देश का व्यापक कल्याण करने के मामले में कांग्रेस किसी भी प्रकार से भाजपा एंड कंपनी से कम फेल नहीं रही है अर्थात संविधान के पवित्र उद्देश्यों को फेल साबित करने के मामले में भाजपा व कांग्रेस दोनों ही चोर-चोर मौसेरे भाई हैं।

केंद्रीय मंत्री हेगड़े के इस बयान पर मचा बवाल, क्या ये भी भाजपा का एक प्रयोग है ?

नेपाल के युवा नेता कौशल कुमार यादव ने, भारत- नेपाल रिश्तों को बताया अहम

समाजवादी पार्टी मे बड़ा फेरबदल, अखिलेश यादव ने बदले कई जिला व नगर अध्यक्ष

नवनियुक्त कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘संविधान खतरे में है’ वक्तव्य पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मायावती ने कहा, “यही सही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आरएसएस की विघटनकारी व हिंदुत्ववादी सोच वाली सरकार में देश का संविधान खतरे में है और यह बात भाजपा एंड कंपनी के लोग चाहे लाख नकारें, परंतु यह सभी जानते हैं कि आरएसएस की सोच संविधान व भारतीय तिरंगा विरोधी रही है।”

जन समस्याओं को लेकर अशोक यादव राज्यपाल से मिले, कहा- ट्रिपल इंजन सरकार, नही कर रही कोई काम

लालू यादव के बीजेपी से समझौता कर हाथ मिलाने पर, तेजस्वी यादव ने किया बड़ा खुलासा ?

 बैलेट पेपर से मतदान कराने को लेकर, अखिलेश यादव ने लिया ये बड़ा फैसला…  

उन्होंने कहा कि ये लोग मुंह में राम बगल में छुरी की तरह संविधान की शपथ लेकर सरकार में तो आ गए हैं, लेकिन इस संविधान की आड़ में अपनी घोर कट्टरवारी व जातिवादी सोच को लागू करने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “यही कारण है कि आज देश की हर संवैधानिक व लोकतांत्रिक संस्थाएं, यहां तक कि संसद, न्यायपालिका व कार्यपालिका सभी एक अभूतपूर्व संकट व तनाव के दौर से गुजर रही है। लेकिन दूसरी तरफ यह भी एक ऐतिहासिक सत्य ही है कि बाबा साहब ने देश की आजादी के बाद जिस सामाजिक व आर्थिक लोकतंत्र का मानवतावादी सपना देखा था, वह कांग्रेस के लंबे शासनकाल के दौरान बिखरता चला गया।”

 रूपाणी मंत्रिमंडल मे हार्दिक-अल्पेश-जिग्नेश इफेक्ट आया नजर, मात्र 2 राजपूत-1 ब्राह्मण शामिल

शिवपाल सिंह यादव के फिर बागी तेवर, मजबूत राजनैतिक विकल्प तैयार करने के दिए संकेत

जानिये, भाजपा राज मे क्या है थानों का रेट ?

मायावती ने कहा, “छुआछूत, जातीयता, जातिवादी हिंसा व भेदभाव संविधान में तो समाप्त कर दिया गया, परंतु सत्ता वर्ग के लोग इसको हर स्तर पर संरक्षण ही देते रहे। साथ ही अन्य पिछड़े वर्ग को उसका हक देने के मामले में काफी ज्यादा भेदभाव बढ़ता गया। यही कारण है कि आजादी के काफी लंबे समय के बाद ही गैर कांग्रेस सरकार द्वारा बाबा साहब को ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया जा सका तथा ओबीसी वर्ग को शिक्षा व नौकरी के क्षेत्र में आरक्षण की व्यवस्था की जा सकी।”

उन्होंने कहा, “कांग्रेस को यह बात भी देश को बतानी चाहिए कि बाबा साहब ने 1951 में देश के पहले कानून मंत्री के पद से इस्तीफा क्यों दिया था? कांग्रेस पार्टी के अनेक संवैधानिक हित व कल्याण की पवित्र भावना के विपरीत काम करते रहने के कारण ही मजबूर होकर ‘बहुजन समाज’ को अपने अधिकार की लड़ाई लड़ने के लिए अंतत: 14 अप्रैल 1984 को बसपा की स्थापना करनी पड़ी थी।”

भाजपा राज में चला देश किस ओर, काम किसी और का फीता काटे कोई और- अखिलेश यादव

लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस ने चला बड़ा दांव, डॉ० कर्ण सिंह यादव को बनाया उम्मीदवार

‘राजनैतिक द्वेष’ के शिकार हैं लालू यादव, व्यापमं पर कार्रवाई क्यों नहीं?- तारिक अनवर

मायावती ने कहा, “भाजपा और आरएसएस एंड कंपनी यदि आज खुलेआम संविधान की अवमानना करके देश के इतिहास में काला अध्याय जोड़ रही है तो कांग्रेस का भी दामन कम दागदार नहीं है। बसपा बाबा साहब के पवित्र संविधान की रक्षा में अपना जी-जान ही नहीं, बल्कि अपना सब कुछ कुर्बान कर देगी, लेकिन कांग्रेस पार्टी किस नैतिक आधार पर भाजपा की संविधान विरोधी सोच से मजबूती से लड़ेगी, यह देखने वाली बात होगी।”

इस बीजेपी विधायक के फिर बिगड़े बोल, इनके आगे कानून का नही कोई मोल

एक और छात्रसंघ पर समाजवादियों का कब्जा

Spread the love
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com