Breaking News

संविधान और मनु स्मृति लेकर पीएम मोदी से मिलने पर अडिग दलित नेता जिग्‍नेश मेवाणी, रैली से घबराई सरकार

नई दिल्ली, दलित नेता जिग्‍नेश मेवाणी की रैली से घबराई मोदी सरकार, ने दिल्‍ली में रैली करने की मंजूरी नही दी है। रैली से जुड़े कार्यकर्ताओं का कहना है कि 2 जनवरी को इस रैली के ऐलान के बाद से ही इसे रोकने की कोशिश की जा रही है.

संवेदनशील मामलों की जांच कर रहे जजों की, संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो रही- राहुल गांधी

 यूपीए के एक और कथित घोटाले में, कोर्ट ने पर्याप्त सबूत न होने का दिया हवाला, सभी आरोपी बरी

 पत्रकारों को डराकर, भय का माहौल पैदा किया जा रहा- कांग्रेस

इस रैली का ऐलान करते हुए जिग्नेश ने कहा था कि हम पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने जाएंगे. उन्होंने कहा था कि हमारे एक हाथ में संविधान होगा और दूसरे हाथ में मनु स्मृति. मेवाणी ने कहा था कि ये रैली सामाजिक न्याय के लिए है. भीमा कोरेगांव लड़ाई की सालगिरह पर हुई हिंसा के मामले में जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. जिसके बाद जिग्नेश मेवाणी ने बीजेपी और आरएसएस पर निशाना साधा था. ‘सामाजिक न्याय’ रैली या ‘युवा हुंकार रैली’ की योजना तैयार की गयी थी जिसे मेवाणी और असम के किसान नेता अखिल गोगोई को संबोधित करना है.

भाजपा और कांग्रेस ने उपचुनाव के लिए घोषित किये प्रत्याशी

लंबे विवाद के बाद पदमावती नए नाम के साथ इस दिन होगी रिलीज…

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में लगी आग, सपा ने किया बड़ा खुलासा….

जिग्‍नेश ने आज मंगलवार रैली की इजाजत दिल्‍ली पुलिस से मांगी थी लेकिन उनके अनुरोध को मंजूर नहीं किया गया। रैली की इजाजत नहीं मिलने पर भी जिग्नेश मेवाणी और उनके समर्थक रैली करने पर अड़ गए हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिमी उत्तरप्रदेश की भीम आर्मी भी जंतर-मंतर पर रैली में शामिल हो सकती है। भीम आर्मी के कई सदस्य चंद्रशेखर आज़ाद के समर्थन में वहां पहुंच रहे हैं।

 लखनऊ मेट्रो में निकली कई पदों पर बम्पर भर्तियां…

लोकसभा चुनाव के लिए अखिलेश यादव ने लिया बड़ा फैसला, बैठक मे हुये ये निर्णय…

वोट मांगने गये बीजेपी प्रत्याशी को, जनता ने पहनायी जूतों की माला

रैली से जुड़े कार्यकर्ताओं का कहना है कि इस कार्यक्रम को रोकने के लिए बहुत प्रयास किए जा रहे हैं और यहां तक कि कुछ मीडिया घराने गलत सूचना भी फैला रहे हैं कि रैली के लिए इजाजत नहीं दी गई है. दो जनवरी को रैली की घोषणा किए जाने के बाद से मेवाणी को एक देशद्रोही और शहरी नक्सली बताने वाले पोस्टरों पर बहुत सारा पैसा खर्च किया गया है. उन्होंने कहा कि रैली पूर्व निर्धारित समय पर ही होगी.

आखिर शिवपाल सिंह यादव क्यों गये जेल….

भारत के मोबाइल बाजार पर है, इन 10 चीनी कंपनियों का राज…

गुजरात- कांग्रेस ने युवा पाटीदार और हार्दिक के पसंदीदा को सौंपी नेता विपक्ष की कमान

जिग्नेश मेवाणी ने भी ट्वीट कर बीजेपी को चुनौती दी है. जिग्नेश ने लिखा है कि बांध ले बिस्तर बीजेपी, राज अब जाने को है, ज़ुल्म काफ़ी कर चुके, पब्लिक बिगड़ जाने को है.

बांध ले बिस्तर बीजेपी, राज अब जाने को है,
जुल्म काफ़ी कर चुके, पब्लिक बिगड़ जाने को है । 

 

Spread the love
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com