Breaking News

राज्यसभा चुनाव- लालू की गैर-मौजूदगी के बावजूद, छक्का मारने की तैयारी मे तेजस्वी यादव

 पटना, बिहार में राज्यसभा की सात सीटों के लिए फरवरी में चुनाव संभावित है। खाली होने वाली सारी सीटें जदयू-भाजपा गठबंधन की हैं। दो अप्रैल को खाली होने वाली बिहार से राज्यसभा की सात सीटों में से सभी सीटें सत्तारूढ़ गठबंधन की हैं। पांच सीटों पर जदयू एवं दो पर भाजपा का कब्जा है। राजद-कांग्रेस गठबंधन के पास एक भी नहीं है।लालू यादव की गैर-मौजूदगी के बावजूद नेता विपक्ष और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव स्टार बनकर उभरने की तैयारी मे हैं।

लालू यादव ने पत्रकारों की ली क्लास, बोले-थूकत बानी ऊहो छपअता..जेल अइह त पता चली..

अखिलेश यादव ने राजनीति में आगे के सफर के बारे में किया बड़ा खुलासा….

वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने, चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के कारनामों का किया खुलासा

243 सदस्यों वाली विधानसभा में एक सीट जीतने के लिए 35 वोट की जरूरत पड़ेगी।नियमित चुनाव वाली छह में से दो सीटें निकालने में जदयू को किसी की मदद की दरकार नहीं होगी। भाजपा को दूसरी सीट के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। आनंद भूषण पांडेय के निधन के बाद भाजपा विधायकों की संख्या 52 रह गई है।इस हिसाब से राजग के पास कुल वोट 128 हैं। तीन सीटों पर जीत के समीकरण 105 से 23 ज्यादा।

लालू प्रसाद यादव ने, सजा के खिलाफ, हाई कोर्ट मे की अपील

जानिये, प्रेस कांफ्रेंस करने वाले चार जजों के बारे मे…

मुख्तार अंसारी के भाई ने योगी सरकार पर लगाये गंभीर आरोप, बताया जान का खतरा

राजद के अभी 79 और कांग्रेस के 27 विधायक हैं। तीन सीटों पर जीत के लिए विपक्ष को कम से कम 105 वोट चाहिए। अभी हैं सिर्फ 106 वोट। जरूरत से एक ज्यादा।अदालती झंझटों में फंसे राजद के दो विधायकों ने भी अगर पाला बदल लिया या वोट के समय अनुपस्थित हो गए तो राजद-कांग्रेस गठबंधन की मुश्किलें बढ़ जाएंगी।

सुप्रीम कोर्ट के जजों ने की अभूतपूर्व प्रेस कॉन्फ्रेंस, मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग चलाने की मांग की

आजम खान ने सीएम योगी पर लगाए ये गंभीर आरोप…

जानिये क्यों बोले अखिलेश यादव- ये है वो जनसैलाब, जो लाएगा अगला इंक़लाब

संख्या बल के हिसाब से सत्ता पक्ष एवं विपक्ष को तीन-तीन सीटें आसानी से मिल जाएंगी। शरद यादव की सदस्यता जाने से खाली हो रही एक सीट के लिए अलग बैलेट पेपर होने के कारण उसे सत्ता पक्ष की झोली में जाना तय है।लेकिन निर्दलीय एवं राजद-कांग्रेस के असंतुष्ट विधायकों के सहारे राजग अपने विरोधियों का हिसाब गड़बड़ करने की कोशिश कर सकता है।

मोदी ही नही संघ भी परेशान है, पिछड़े- दलित-आदिवासियों के भाजपा से छिटकने से, ये है नयी रणनीति ?

मौका मिला तो अखिलेश यादव को छोड़ूंगा नहीं-अमर सिंह

 योगी सरकार ने किया 28 आईएएस व आठ पीसीएस अफसरों का तबादला, देखिये पूरी सूची….

राज्यसभा चुनाव में विधायकों पर उनकी पार्टी का व्हिप लागू नहीं होता। मतदान भी गुप्त होता है।ऐसे में मुख्य मुकाबला नियमित चुनाव वाली खाली हो रही छह सीटों के लिए होगा। लालू यादव की गैर-मौजूदगी में पूरा दारोमदार नेता विपक्ष और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के कंधों पर है।तेजस्वी यादव के लिये ये बड़ी परीक्षा है।

बीजेपी ने जारी की स्टार प्रचारक की लिस्ट….

सपा-कांग्रेस के गठबंधन पर राज बब्बर ने दिया बड़ा बयान

सैफई की तर्ज पर आयोजित गोरखपुर महोत्सव पर अखिलेश यादव ने किया ये कमेंट

तेजस्वी यादव ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है और पहले मैच मे ही छक्का लगाने की तैयारी कर चुकें हैं।सूत्रों के अनुसार, तेजस्वी यादव ने इसके लिये दोतरफा रणनीति बनायी है। एक तरफ उन्होने अपने विधायकों को टूट से बचाने के लिये योजना बनायी है तो दूसरी तरफ वह जदयू- बीजेपी के नाराज और अन्य छोटे दलों के विधायकों के संपर्क मे भी हैं।तेजस्वी यादव निर्दलीय विधायकों को भी साध सकतें हैँ। सूत्रों के अनुसार, ये तय है कि तेजस्वी यादव जदयू-भाजपा गठबंधन से तीन सीटें छीन लेंगे।

अखिलेश यादव ने बताया बीजेपी सरकार का किस तरह कर रही भगवान का अपमान…

अखिलेश यादव ने किया बड़ा खुलासा, बताया नये डीजीपी क्यों नहीं कर रहे ज्वाइन..

कई दलों के पूर्व विधायक और नेताओं ने स्वीकारा अखिलेश का नेतृत्व,सपा में हुए शामिल

बिहार विधान सभा की वर्तमान स्थिति-

पार्टी – विधायक 

राजद – 80

जदयू – 71

भाजपा – 53

कांग्रेस – 27

भाकपा माले – 3

रालोसपा – 2

लोजपा – 2

निर्दलीय – 4

हम – 1

कुल – 243

(राजद के मुंद्रिका सिंह यादव एवं भाजपा के आनंद भूषण पांडेय के निधन के बाद दोनों दलों की संख्या में एक-एक कमी आई है।)

तो क्या लालू यादव केस की आड़ मे, जज साहब विवादित जमीन का मामला निपटाना चाहतें हैं?

सिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा के परिणाम घोषित, जानिये कब से होंगे इंटरव्यू

 समाजवादी पार्टी ही कश्यप समाज की हितैषी, क्यों बोले पूर्व राज्यमंत्री ?

सीबीआई जांच से परेशान, एनआरएचएम घोटाले मे आरोपी, पूर्व निदेशक ने की आत्महत्या

ये क्या कर रही हैं मुलायम सिंह की बहू,देख कर रह जायेगें हैरान..

जानिए क्यों, अखिलेश यादव ने ट्वीट की ये पंक्तियां…

दूरदर्शन के ओपी यादव हुये, ‘पार्लियामेंट प्रेस ऑफ साउथ एशिया’ के चेयरमैन’

Spread the love
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com