”न्यूज 85 डाट इन” समाचार बुलेटिन – रात्रि 8 बजे -19.11.2016

buletan8pmजिंदगीभर नौकरी करने से बेहतर पांच साल स्टार्टअप में लगायें-अमित शाह

नई दिल्ली, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि जिंदगीभर नौकरी करने से बेहतर पांच साल स्टार्टअप में लगाना फायदेमंद है। यह बात अमित शाह ने लखनऊ के बाबू बनारसी दास विश्वविद्यालय में ‘यूपी के मन की बात’ कार्यक्रम में कही।

उन्होने कहा कि जिंदगीभर नौकरी करने से बेहतर पांच साल स्टार्टअप में लगाना फायदेमंद है। लेकिन नौकरियों को भी बढ़ाना होगा। देश में होने वाले सभी परिवर्तन युवाओं ने किए हैं। यूपी में जातिवाद खत्म हो चुका है। इसका सुबूत 2014 के लोकसभा चुनाव में मिल चुके हैं। अब विधानसभा में दोहराना है। एक बार फिर यूपी ऐसे लोगों को जवाब देगा। शाह ने कहा कि जनतंत्र के जिम्मेदार नागरिक के नाते सोचना होगा कि देश कैसा हो। युवाओं को इस बारे में सोचना होगा। लोकतंत्र को जातिवाद से उपर उठाना होगा।

‘यूपी 100’ के लोकार्पण पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा-  अब 20 मिनट मे पहुंचेगी पुलिस, मोबाइल से दर्ज करायें शिकायत

लखनऊ,  मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज  गोमतीनगर विस्तार स्थित ‘यूपी 100’ भवन में पुलिस आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली ‘यूपी 100’ का लोकार्पण किया। इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने पुलिस आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली के सुचारु संचालन के लिए ‘यूपी 100’ भवन में की गयी व्यवस्थाओं जैसे संवाद कक्ष, सम्प्रेक्षण कक्ष, समेकन कक्ष आदि का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने इसके उपरान्त गृह विभाग की 1302 परियोजनाओं का लोकार्पण और 90 परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘यूपी 100’ के माध्यम से पूरे प्रदेश के किसी भी कोने में किसी भी नागरिक की आपातकालीन स्थिति में सहायता के लिए पुलिस 20 मिनट के अंदर उपलब्ध होगी। इस प्रणाली केे शुरू होने के बाद इसकी जो कमियां सामने आएंगी, उन्हें भी दूर किया जाएगा। यूपी 100 प्रणाली आज से 11 जिलों लखनऊ, कानपुर नगर, इलाहाबाद, वाराणसी, मुरादाबाद, बरेली, आगरा, गोरखपुर, मेरठ, झांसी, रामपुर में शुरू की जा रही है। आगामी 10 दिसम्बर तक इस प्रणाली का लाभ पूरे प्रदेश को मिलने लगेगा। ‘यूपी 100’ प्रणाली शहर और गांव दोनों तरह के इलाकों में प्रभावी पुलिस सहायता उपलब्ध कराएगी।

‘यूपी 100’ पुलिस आपातकालीन प्रबन्धन प्रणाली को 11 महीने की अल्प अवधि में तैयार किया गया है। यह एक चुनौतीपूर्ण कार्य था, जिसे समुचित समन्वय एवं प्रबन्धन से पूरा किया गया है। इस प्रणाली के उपयोग के लिए प्रदेशवासी मोबाइल या लैण्डलाइन फोन, एस0एम0एस0, एम0एम0एस0, ई-मेल, सोशल मीडिया आदि के माध्यम से शिकायत दर्ज करा सकेंगे। शिकायतों के निस्तारण के लिए मानक संचालन प्रक्रिया का पालन किया जाएगा।

‘यूपी-100’ परियोजना से सूबे की ध्वस्त कानून व्यवस्था सुधरने वाली नहीं -मायावती

लखनऊ, बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अखिलेश सरकार द्वारा शुरू की गयी ‘यूपी-100’ परियोजना से सूबे की ध्वस्त कानून व्यवस्था में सुधार की उम्मीद करना बेमानी है। मायावती ने कहा ‘समाजवादी पार्टी की सरकार ‘यू.पी. 100’ के बारे में दिखावा और ड्रामेबाजी कर रही है। इससे प्रदेश में ध्वस्त और दयनीय कानून व्यवस्था की स्थिति कतई सुधरने वाली नहीं है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि मौजूदा सरकार का मुखिया घरेलू कलह में उलझा है। ऐसे हालात में सरकार बचे हुये दिनों में कितनी भी हाई फाई ‘यूपी-100’ जैसी व्यवस्था बनाने का दिखाव कर ले, हालात सुधरने वाले नहीं है, बल्कि इसके लिये तमाम आपराधिक व अराजक एवं साम्प्रदायिक तत्वों पर सख्त शिकंजा कसने की मजबूत इच्छाशक्ति और ईमानदार प्रयास की जरुरत है, जो सपा सरकार के पास कभी भी नहीं रही। बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा कि सपा सरकार को अब ऐसा कोई भी फैसला, घोषणा व शिलान्यास आदि नहीं करना चाहिए जिनका लाभ लोगों को वह समय पर नहीं दे पाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश का किसान अब यहां सपा सरकार के किसी बहकावे में आने वाला नहीं है।

सपा के बर्खास्त युवा नेताओं और विधान परिषद सदस्यों की भी होगी वापसी

लखनऊ, समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता रामगोपाल यादव की वापसी के बाद नेताजी मुलायम सिंह जल्द ही सभी बर्खास्त विधान परिषद सदस्यों व युवा नेताओं की वापसी की घोषणा भी कर सकते हैं। जिन विधान परिषद सदस्यों व युवा नेताओं पर अनुशासनहीनता का आरोप लगाकर पार्टी से छह साल के लिए बाहर किया गया है, उनकी जल्द ही वापसी होगी।

सूत्रों के अनुसार, आज कुछ निकाले गये नेता मुलायम सिंह से मिले हैं और उन्हे अपना स्पष्टीकरण दिया है। एमएलसी सुनील साजन, एमएलसी आनंद भदौरिया, यूथ ब्रिगेड के अध्यक्ष मोहम्मद एबाद, समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष ब्रजेश यादव, एमएलसी संजय लाठर और यूथ ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव दुबे की वापसी हो सकती है। साथ ही रामगोपाल यादव के भतीजे अरविंद प्रताप यादव की भी सपा में वापसी हो सकती है।

 समाजवादी पार्टी कर रही मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन की व्यापक तैयारी

लख्ननऊ, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में समाजवादी पार्टी के प्रमुख कार्यकर्ताओं को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन की व्यापक तैयारी की जा रही है। सभी कार्यकर्ताओं, शुभचिंतकों को न्यौता भी मिल गया है। इसमें सपा महानगर अध्यक्ष सहित समस्त प्रमुख कार्यकर्ताओं को समाजवादी पार्टी कार्यालय (प्रदेश) पर बुलाया गया है।

समाजवादी पार्टी के महानगर अध्यक्ष फाकिर सिद्दकी ने बताया कि नेताजी का जन्मदिन मनाने के लिये प्रदेश कार्यालय से न्यौता मिला है और इसमें पार्टी के प्रमुख कार्यकर्ताओं को 22 नवम्बर को सुबह दस बजे लोहिया सभागार में बुलाया गया है। उन्होंने बताया कि पार्टी को नेताजी के जन्मदिन के पहले यमुना एक्सप्रेस वे का उद्घाटन आगामी 21 नवम्बर को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को करना है। वहां भी महानगर लखनऊ से समस्त पदाधिकारियों को बुलाया गया है।  सपा के महानगर कार्यालय पर मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन के अवसर पर सैकड़ों लोगों को वस्त्र वितरण और फल वितरण भी किया जायेगा।

पतंजलि को मिला ‘हलाल सर्टिफिकेट,’ अब मुस्लिम भी करेंगे, बाबा रामदेव के प्रोडक्ट्स का प्रयोग

नई दिल्ली, योग गुरू बाबा रामदेव के प्रोडक्ट को हलाल सर्टिफिकेट मिल गया है। यह पतंजलि के लिये सोने मे सुहागा हो गया है। अ मुस्लिम समुदाय के लोगो भी पतंजलि के प्रोडक्ट का प्रयोग कर सकेंगे।
अबी तक कई उलेमा और मुस्लिम संस्थाओं को योग गुरू बाबा रामदेव के पतंजलि प्रोडक्ट का प्रयोग करने पर आपत्ति थी। उनका कहना था कि योग गुरू बाबा रामदेव के पतंजलि प्रोडक्ट का प्रयोग हराम है। दारूल उलूम देवबंद के उलेमा कहते हैं कि यह हराम है। क्योंकि पतंजलि के प्रोडक्ट में गोमूत्र मिलाया जाता है।

नवनीत सहगल एयर-बस से भेजे गये मेदांता अस्पताल मे

लखनऊ, यूपी के प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल को लखनऊ ट्रामा से रेफर कर एयर एंबुलेस के द्वारा गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में लाया गया है। हादसे में घायल हुए उनके ड्राइवर को भी उन्ही के साथ मेदांता लाया गया है।
कल शाम को यूपी के प्रमुख सचिव  सूचना  नवनीत सहगल की कार दुर्घटना हो गई थी। जिसके बाद उन्हें लखनऊ के ट्रामा सेंटर में रेफर किया गया था। लेकिन अब उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें लखनऊ ट्रामा से रेफर कर एयर एंबुलेस के द्वारा गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल भेजा गया है।

 प्रधानमंत्री मोदी को ड्रग माफिया, आतंकवादियों और आर्थिक अपराधियों से खतरा- रामदेव

वडोदरा, ऊंचे मूल्य के नोटों को बंद करने के सरकार के कदम की तारीफ करते हुए योग गुरु रामदेव ने आज कहा कि ऐतिहासिक कदम की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ड्रग माफिया, आतंकवादियों और अन्य आर्थिक अपराधियों से खतरा है। रामेदव ने लोगों से सरकार के साथ सहयोग करने और कुछ दिनों तक दर्द सहने का अनुरोध किया और कहा कि पूरी कवायद से आखिरकार देश की अर्थव्यवस्था बेहतर होगी। शहर के हवाई अड्डे पर अपने आगमन के बाद रामदेव ने संवाददाताओं से कहा, 500 और 1000 रूपये के नोट को बंद कर मोदी ने भ्रष्टाचार, कालाधन, आतंकवाद और जाली मुद्रा कारोबार को जोरदार झटका दिया है। 500 रूपये और 1000 रूपये का फर्जी नोट पाकिस्तान में प्रिंट होता रहा है और भारत में इसे चलाया गया। इन नोटों के हटने से आतंकवादी तबाह हो गए हैं। उन्होंने कहा, इस कदम से मोदी अब ड्रग माफिया, आतंकवादियों और आर्थिक अपराधियों से जान का खतरा झेल रहे हैं।

संघ को 700 करोड़ का चंदा मिला था और ज्यादातर चंदा अमेरिका से आया- प्रकाश अंबेडकर

नई दिल्ली, डॉ. भीमराव अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया है कि आरएसएस के चंदे का हिसाब कौन देगा?

उन्होंने याद दिलाते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के कार्यकाल में संघ को 700 करोड़ का चंदा मिला था और ज्यादातर चंदा अमेरिका से आया था। इस मामले की जांच इनकम टैक्स अधिकारी मिस्टर गुप्ता ने की थी। उस वक्त भाजपा ने इस मामले को लेकर जमकर बवाल किया था और उस अधिकारी का तबादला तक करा दिया था। इसके बाद जब वीपी सिंह सरकार गिर गई तो मामले को दबा दिया गया और किसी को नहीं पता कि वो पैसा कहां गया।

अंबेडकर का कहना है कि लोग बैंकों में जाकर अपने नोट बदवा सकते हैं तो ऐसे में संघ अपने नोट कैसे बदलेगा क्योंकि वो न तो किसी कंपनी के रूप में रजिस्टर्ड है, न किसी सरकारी संगठन के रूप में और न ही राजनीतिक पार्टी के रूप में। ऐसे में संघ अपने रुपयों को कैसे बदलेगा। अंबेडकर ने कहा कि दशहरे के दिन संघ नागपुर में एक बहुत बड़ी रैली करता है और इस दिन भारी मात्रा में पैसे इकट्ठे होते हैं और इनमें 500 और 1000 के नोट अधिक मात्रा में होते हैं। एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में उन्होंने कहा कि इस दिन संघ के पास करोड़ों रुपये इकट्ठे होते हैं। उन्होंने पीएम मोदी से पूछा है कि क्या प्रधानमंत्री बता सकते हैं कि इस पैसे का हिसाब-किताब कैसे होगा और ये पैसा जाता कहां है?

यूपी सहित पांच राज्यों में तारीखों की घोषणा कर सकता है चुनाव आयोग

नई दिल्ली, चुनाव आयोग जल्द ही पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा कर सकता है। इनमें उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड शामिल हैं। इसके अलावा उत्तराखंड और पंजाब में मतदाता सूची को संशोधित करना भी शामिल है। यहां पर फरवरी और मार्च में चुनाव हो सकते हैं।

निर्वाचन सदन के मुताबिक उत्तर प्रदेश, गोवा, मणिपुर, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में वर्ष 2012 के दिसंबर में चुनाव हुए थे। इन सभी राज्यों की संशोधित मतदाता सूची जनवरी में जारी कर दी जाएगी। हालांकि उत्तर प्रदेश की संशोधित मतदाता सूची जारी होने में कुछ विलंब जरूर हो सकता है। इसकी वजह उत्तर प्रदेश का आकार और यहां के मतदाताओं की अधिक संख्या का होना है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *