Breaking News

बदलते मौसम में इन घरेलू उपायों से दूर करें गले और छाती की बीमारी

nackअक्सर देखा जाता है कि मौसम बदलने का साथ हमे बहुत सी छोटी-छोटी बीमारियां हो जाती है। ऐसे में अगर इन बीमारियां का सही से इलाज न किया जाए तो यह गभीर रूप ले सकती हैं। जिनसे बड़ी-बड़ी बीमारियां हो सकती हैं। जब मौसम बदलता है तो सबसे पहले हमारा गला खराब होता है। ऐसे समय में गले में इन्फेक्शन होने के साथ बीमारी और भी बढ़ सकती है। जैसे कि गले में दर्द, खरास, खासी, कफ जमा है या फिर गले में टोनसीलाईटिस हुआ हो। आज हम आपको मौसम बदलने के साथ-साथ होने वाली गले और छाती की बीमारी को दूर करने के कुछ घरेलू उपाय बताएगें। जिनसे आप आसानी से इन बीमारियों को दूर कर सकते हैं।

1. हल्दी अक्सर मौसम बदलने के साथ हम सब गले की खराबी होने के कारण बीमार पड़ जाते है। ऐसे में आप आधा चम्मच कच्ची हल्दी का रस लें कर मुह खोल कर गले में डाल दें। कच्ची हल्दी का रस गले में डालने से खांसी से जल्द राहत मिल जाती है। अगर आपके छोटे बच्चे को टॉन्सिल की तकलीफ है तो हल्दी का रस देने से ठीक हो जाती है।

2. अदरक अदरक का छोटा का टुकड़ा मुंह में रखने से या टफी की तरह चुसने से खासी तुरंत ठीक हो जाती है। अगर खांसते-खांसते आपका चेहरा लाल हो जाए तो अदरक के रस में पान का रस और गुड या सेहद मिला कर गरम करके पीने से खासी एक मिनट में बंध हो जाएगी ।

3. अनार का रस खांसी को तुरंत बंद करने के लिए आपको अनार का रस पीना चाहिए।

4. काली मिर्च काली मिर्च के मुंह में रखकर चबाने के बाद गर्म पानी पी लेने से खासी से फायदा होगा।

5. गाय मूत्र गाय मूत्र पीने से छाती की कुछ बीमारियां जैसे दमा, अस्थमा, ब्रोंकिओल अस्थमा आदि ठीक हो जाती हैं। इसे लगातार पांच छे महीने पीने से टीबी भी ठीक हो जाती है।

6. दालचीनी का पाउडर दमा-अस्थमा को ठीक करने के लिए हर रोज सुबह खाली पेट दालचीनी में आधा चम्मच गुड मिला कर गरम पान पीए।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com