Breaking News

बेटियों की बढ़ रही संख्या, समाज की बदलती सोच का परिणाम-प्रधानमंत्री

25-1432529556-narendra-modi22016 के पहले  संस्करण में प्रधानमंत्री ने हरियाणा में बेटियों की बढ़ रही संख्या को सामाजिक सोच में बदलाव बताया। उन्होने कहा कि मैं हरियाणा को बेहतर लिंगानुपात के लिए बधाई देता हूं। हरियाणा में बड़े पैमाने पर सामाजिक सोच में बदलाव चल रहा है। लड़कियों की संख्या में बढ़ोतरी इसका जीता जागता उदाहरण है। प्रधानमंत्री ने कहा कि बेटियों की संख्या में इजाफे के लिए हम सभी लोगों को एक मंच पर आने की जरुरत है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल के ‘मन की बात’ के पहले संस्करण में कहा कि ये कार्यक्रम उनके लिए बेहद ही महत्वपूर्ण हैं। वो न केवल लोगों की भावनाओं को महसूस कर पाते हैं, बल्कि अपनी बातों को प्रभावी तौर पर रख पाते हैं। प्रधानमंत्री नेस्टार्ट अप कार्यक्रम की उपलब्धियों को बताया तो सोलर चरखे की कामयाबी को देश के सामने रखा।  इस मौके पर उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ही देशवासियों को उनकी मातृभाषा में ये कार्यक्रम सुनने का अवसर मिलेगा। देश में 16 जनवरी को स्टार्ट अप प्रोग्राम को लॉन्च किया गया।

 

मैंने महसूस किया देश के नौजवानों में उत्साह, उमंग और जोश का संचार हुआ है। स्टार्ट अप की शुरुआत में लोगों ने कहा कि ये महज आईटी सेक्टर तक सीमित है। लेकिन सिक्किम के युवाओं ने खेती के क्षेत्र में इसे आजमा रहे हैं। पीएम मे कहा कि देश में किसानों के नाम पर बहुत कुछ कहा जाता है। लेकिन वो किसी विवाद में नहीं पड़ना चाहता हूं। फसल बीमा योजना कि जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि इस योजना में देश में जागरुकता फैलाने की जरूरत है ताकि ज्यादा से ज्यादा किसानों को इसका फायदा मिल सके।

 

भारत का सामुद्रिक इतिहास गौरवशाली रहा है। विशाखापत्तनम इसका उदाहरण है जहां देश विदेश के युद्धपोत वाणिज्यिक पोत आते हैं। सीमाएं हमें अलग करती हैं जमीन हमें अलग करती है लेकिन जल सभी को जोड़ता है।ये गर्व की बात है कि विशाखापत्तनम में इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू 2016 का आयोजन किया जा रहा है। भारत के पूर्वी छोर पर गुवाहाटी सैफ खेलों का आयोजन कर रहा है। खेलों से न केवल शरीर स्वस्थ रहता है बल्कि मानसित मजबूती आती है। इन खेलों के आयोजन से दुनिया के मानचित्र पर देश का पूर्वोत्तर इलाका एक नये इतिहास को रचने को तैयार है।

खादी महज एक पोशाक नहीं है बल्कि ये एक प्रतीक है त्याग का, समर्पण का, देश के स्वातंत्र आंदोलन का। ये देश के युवाओं की पहचान बन चुकी है। खादी को बढ़ावा देकर दुनिया के सामने हम एक नजीर पेश कर सकते हैं।

सोलर चरखे ने बहुत लोगों की जिंदगी में बदलाव लाया है। चरखे और सौर ऊर्जा का एक साथ आना बहुत बड़ी उपलब्धि है। इस अभियान में प्राचीन और आधुनिक तकनीक का बेहतर इस्तेमाल किया गया है।

‘मन की बात’ के 16वां संस्करण में उन्होंने कहा कि 30 जनवरी का दिन बेहद ही महत्वपूर्ण है। तीस जनवरी को हम सभी लोगों ने शहीदों की याद में दो मिनट का मौन रखा। ये दिन देश के वीर सपूतों को सम्मान देने के लिए बेहद ही खास है जिस तरह से देश की 125 करोड़ की आबादी ने देश के शहीदों के प्रति अपना सम्मान दिखाया वो काबिले तारीफ है। ‘मन की बात’ के लिए उन्होंने मोबाइल नंबर तय किया है जो कुछ इस तरह है- 8190881908। पीएम ने कहा कि जल्द ही आप लोगों को अपनी मातृभाषा में ‘मन की बात’ सुनने का अवसर मिलेगा।

स्वच्छता अब सौंदर्य से जुड़ चुकी है। मैं सुनता हूं कि बहुत से लोग रेलवे स्टेशन को कलात्मक ढंग से सजा रहे हैं। ये प्रयास न तो रेलवे का है न ही मेरा। इस अभियान में आम लोग जुड़े हैं जिसका असर हम देख रहे हैं। जब तक किसी कार्यक्रम से लोग अपने आप को जुड़ा महसूस नहीं करेंगे वो कार्यक्रम सफल नहीं हो सकता है। आने वाले दिनों में दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं होने वाली हैं मैं उन सभी छात्रों को सफलता के लिए शुभकामना देता हूं। उन्होंने कहा छात्र देश के भविष्य हैं। उन्हें अपने मकसद को पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी।

‘मन की बात’ आकाशवाणी पर प्रसारित किया जाने वाला एक ऐसा कार्यक्रम है जिसके जरिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के आमजन को संबोधित करते हैं। इस कार्यक्रम का पहला प्रसारण अक्तूबर 2014 को किया गया था। जनवरी 2015 में अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी उनके साथ इस कार्यक्रम में भाग लिया था।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com