Breaking News

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर को जेल मे रखने की क्या है साजिश ? जानिये, पूरी बात..

लखनऊ, भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण को सभी मामलों मे जमानत मिलने के बावजूद जेल से रिहा न करना अब जन आक्रोश का रूप ले रहा है। चंद्रशेखर उर्फ रावण के लगातार खराब हो रहे स्वास्थ्य और भाजपा सरकार के द्वेषपूर्ण रवैये को देखते हुये समर्थकों मे इस बात को लेकर शंका बढ़ रही है कि कहीं जेल मे उनके साथ कोई अनहोनी न हो जाये।

भाजपा ने सभी मेयर प्रत्याशियों का किया एलान

सेना कर रही कई पदों पर भर्ती, लीजिये भाग, जानिये पूरा विवरण

शिवसेना ने बीजेपी के 350 से अधिक सीटें जीतने की, निकाली हवा, जानिये कैसे ?

भीम आर्मी के संस्थापक को जेल जाने से पूर्व कोई गंभीर बीमारी नहीं थी। चंद्रशेखर एक स्वस्थ और ऊर्जावान युवा दिखते थे लेकिन अब जो जेल से तस्वीरें आ रही हैं उसमें  चंद्रशेखर , बीमार, निस्तेज, व्हील चेयर या बेड पर लेटे हुये दिखायी पड़ रहें हैं जो अपने पैरों पर भी नही चल सकता है। जेल सूत्रों के अनुसार चंद्रशेखर उर्फ रावण को पेट में इंफेक्शन हुआ है।

अखिलेश यादव ने चुनाव को लेकर जाहिर की शंका, कार्यकर्ताओं को किया सतर्क

बांदा जेल मे एक कैदी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

राष्ट्रपति की बहू ने किया बीजेपी से बगावत, मचा हड़कंप…..

सहारनपुर जेल में बंद चंद्रशेखर को मंगलवार की रात मेरठ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया । मेरठ मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर तुंगवीर सिंह आर्य के अनुसार, चंद्रशेखर के पेट में इंफेक्शन हुआ है और उसका अल्ट्रासाउंड कराया गया है। चंद्रशेखर की तबीयत एक सप्ताह पहले भी जेल में खराब हुई थी। तब चंद्रशेखर को सहारनपुर में ही जिला अस्पताल ले जाया गया था। इलाज के बाद फिर से जेल भेज दिया गया। लेकिन मंगलवार को दिन में फिर से तबीयत खराब होने की शिकायत करने पर रात में मेरठ मेडिकल कॉलेज मे भर्ती कर दिया गया।

ये क्या किया हार्दिक पटेल ने अखिलेश यादव के साथ?

भाजपा सरकार से त्रस्त जनता, समाजवादी प्रत्याशियों को जितायेगी-अखिलेश यादव

 सपा ने सभी मेयर प्रत्याशियों की आधिकारिक घोषणा की, देखिये किसकी कितनी हिस्सेदारी ?

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर को सहारनपुर में हुई हिंसा के आरोप मे गिरफ्तार किया गया था और तब से वह जेल में बंद है। चंद्रशेखर के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज किये गयें हैं। एक मामले में सहारनपुर कोर्ट और 4 मामलों में हाई कोर्ट इलाहाबाद से जमानत हो चुकी है। जमानत देते समय हाई कोर्ट के जज ने कहा कि उन्हे राजनैतिक द्वेश वश फंसाया गया है। उसके बाद भी चंद्रशेखर को जेल से रिहा होता देख भाजपा सरकार ने उस पर रासुका लगा दी है।

सपा ने लखनऊ में शेष पार्षद प्रत्याशियों की सूची जारी की…..

बीएसपी ने अपने लखनऊ पार्षद प्रत्याशियों की सूची जारी की…..

प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई ने किया नया खुलासा……….

चंद्रशेखर का कहना है कि वह अपने खिलाफ लगाई गई रासुका से कतई नहीं डरता है। लेकिन बड़ा सवाल यह उठता है कि भीम आर्मी के संस्थापक  से सरकार को एेसा कौन सा खतरा है कि वह गंभीर रूप से बीमार चंद्रशेखर को जमानत मिलने के बाद भी जेल से छोड़ना नही चाहती है। अचानक दलित समाज के उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाने वाला और उनके कल्याण के लिये काम करने वाला युवा एडवोकेट, देश की सुरक्षा के लिये कैसे खतरा बन गया।

नोटबंदी पर सर्वे: PM मोदी के दावों की खुली पोल- जनता त्रस्त, सरकार थी मस्त

आगामी विधानसभा चुनावों में, फेसबुक निभायेगा ये बड़ी जिम्मेदारी….

यूपी – खनन के लिए ई-टेंडरिंग प्रक्रिया को सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी

क्या भाजपा सरकार  दलित उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाने वाले इस युवा की आवाज हमेशा के लिये खत्म कर देना चाहती है या यूपी के नगर निकाय चुनाव और गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा सरकार बीमार चंद्रशेखर को रिहा कर चुनाव हारने का कोई रिस्क नही लेना चाहती है।

मुलायम सिंह के खिलाफ कार सेवकों पर गोली चलाने का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुँचा..जानिये पूरा हाल ?

विश्व चैम्पियन मेरीकाम एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंची

 कांग्रेस ने आरक्षण के लिए दिए तीन विकल्प, हार्दिक पटेल के समर्थन की संभावना बढ़ी

कुछ भी हो चंद्रशेखर के साथ भाजपा सरकार द्वारा की जा रही ज्यादती को देखकर दलितों – पिछड़ों मे विशेष रूप से सरकार के खिलाफ आक्रोश बढ़ रहा है। भीम आर्मी ने रासुका लगाए जाने के खिलाफ गुरुवार को यूपी के सभी जिलों में भूख हड़ताल और प्रदर्शन करने का ऐलान किया था। हालांकि, प्रशासन ने निकाय चुनाव के मद्देनजर और धारा 144 लागू होने के कारण अनुमति नहीं दी। भीम आर्मी के सूत्रों के अनुसार, अब 3 दिसंबर को इसी मुद्दे को लेकर सहारनपुर में विशाल जनसभा होगी। 

नोटबंदी का जश्न मनाने पर, अखिलेश यादव का भाजपा सरकार पर हमला, जानिये क्या कहा ?

नोटबंदी के दौरान हुई पीड़ा का प्रतीक है, अखिलेश यादव का खजांची, मनायेगा पहला जन्मदिन

कांग्रेस ने लखनऊ मेयर पद के लिये उतारा पूर्व IAS को, गोरखपुर और इलाहाबाद मे ये बने प्रत्याशी 

भाजपा सरकार के उत्पीड़न के खिलाफ और भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर के पक्ष मे सोशल मीडिया पर बड़ा अभियान भी चल रहा है। लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि जिस समुदाय के लिये यह युवा संघर्ष कर रहा है उस समाज के किसी राष्ट्रीय नेता ने चंद्रशेखर के पक्ष मे एक बयान देना भी मुनासिब नही समझा।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com