मध्यप्रदेश के 24 लोकसभा प्रत्याशियों के नामों का ऐलान, देखें पूरी लिस्ट….

भोपाल,  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मध्यप्रदेश से लोकसभा की कुल 29 सीटों में से 24 पर आज शाम प्रत्याशी घोषित कर दिए, जिनमें चार महिलाएं शामिल हैं। पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को विदिशा से टिकट दिया है।

इसके अलावा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा को खजुराहो संसदीय सीट से एक बार फिर से प्रत्याशी बनाया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री श्री चौहान विदिशा संसदीय सीट का पहले भी प्रतिनिधित्व कर चुके हैं और वर्तमान में वे बुधनी क्षेत्र से विधायक हैं। रोचक बात है कि उनके समर्थक पूर्व महापौर आलोक शर्मा को भोपाल से प्रत्याशी बनाया गया है। मौजूदा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर का टिकट काट दिया गया है। श्री चौहान के एक अन्य समर्थक दर्शन सिंह चौधरी को होशंगाबाद से टिकट दिया गया है।

भाजपा ने मुरैना से शिवमंगल सिंह तोमर को, भिंड (अजा) से श्रीमती संध्या राय, ग्वालियर से भारत सिंह कुशवाह, गुना से केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, सागर से श्रीमती लता वानखेड़े, टीकमगढ़ (अजा) से वीरेंद्र खटीक, दमोह से राहुल लोधी, सतना से गणेश सिंह, रीवा से जनार्दन मिश्रा, सीधी से डॉ राजेश मिश्रा और शहडोल (अजजा) से श्रीमती हिमाद्री सिंह को प्रत्याशी घोषित किया है।

जबलपुर से आशीष दुबे, मंडला (अजजा) से फग्गन सिंह कुलस्ते, राजगढ़ से रोडमल नागर, देवास (अजा) से महेंद्र सिंह सोलंकी, मंदसौर से सुधीर गुप्ता, रतलाम (अजजा) से श्रीमती अनिता नागर सिंह चौहान, खरगोन (अजजा) से गजेंद्र पटेल, खंडवा से ज्ञानेश्वर पाटिल और बैतूल (अजजा) से दुर्गादास उइके पर दाव लगाया गया है। पार्टी ने अभी छिंदवाड़ा, बालाघाट, उज्जैन (अजा), धार (अजजा) और इंदौर से प्रत्याशी घोषित नहीं किया है। भाजपा ने वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में कुल 29 में से 28 पर विजय हासिल की थी। मात्र छिंदवाड़ा सीट पर भाजपा विजय दर्ज नहीं करा पायी थी। इस पर पार्टी ने सभी 29 सीटों पर अपना परचम लहराने का लक्ष्य रखा है।

पार्टी ने भोपाल से प्रज्ञा सिंह ठाकुर को टिकट नहीं दिया है। उनके स्थान पर पूर्व महापौर आलोेक शर्मा को प्रत्याशी बनाया गया है। गुना से डॉ के पी सिंह यादव के स्थान पर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को टिकट दिया गया है। पिछले लोकसभा चुनाव में गुना से श्री सिंधिया कांग्रेस के टिकट पर चुनाव में मैदान में थे और उन्हें पराजय झेलना पड़ी थी। अब वे भाजपा के टिकट पर इस क्षेत्र में अपनी किस्मत आजमाएंगे।