Breaking News

रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने टीवी पर पहली रैंक हासिल की

Ramdev-predicts12825नई दिल्ली,योग गुरू बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड सबसे बड़ी एफएमसीजी एडवर्टाइजिंग कंपनी बन गई है। सात प्रॉडक्ट्स के विज्ञापनों के जरिए टीवी पर पहली रैंक हासिल कर ली है।

पतंजलि ब्रैंड के अंतर्गत आने वाले प्रॉडक्ट्स के टीवी कमर्शल्स की संख्या कैडबरी, पार्ले और पॉन्ड्स जैसे दिग्गज ब्रैंड्स के विज्ञापनों से भी ज्यादा रही। ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसल की टीवी विज्ञापनों के आंकडों का प्रकाशन करने वाली संस्था से मिले आंकडों में यह बात सामने आई है।

बीएआरसी करीब 450 चैनल्स पर निगरानी करता है। आंकडों के मुताबिक 23 जनवरी से 29 जनवरी के बीच पतंजलि प्रॉडक्ट्स के टीवी कमर्शल्स 17000 से भी अधिक बार प्रसारित किए गए, जबकि समान अवधि में कैडबरी प्रॉडक्ट्स के लिए यह संख्या 16000 ही है। ये विज्ञापन देश के विभिन्न क्षेत्रीय और राष्ट्रीय चैनलों पर प्रसारित किए गए। एड एंड ब्रॉडकास्ट इंडस्ट्री के विशेषज्ञों का कहना है कि पतंजलि की यह बढ़त आगे भी बनी रह सकती है।

इन आंकडों के जारी होने से महज एक हफ्ते पहले ही पतंजलि इस मामले में छठे नंबर पर थी, जबकि नवंबर से पहले टॉप 10 में उसका कहीं नामो-निशान तक नहीं था। पतंजलि करीब 7 प्रॉडक्ट्स की दमदार मार्केटिंग कर रही है, जिसमें घी, बिस्किट, नूडल्स, शहद, टूथपेस्ट, शैंपू और क्रीम शामिल हैं।

बाबा रामदेव के प्रवक्ता एस के तिजारावाला ने बताया कि हमने अपने सात प्रॉडक्ट्स के विज्ञापनों के जरिए टीवी पर पहली रैंक हासिल कर ली है। हम 7 और प्रॉडक्ट्स लेकर आ रहे हैं ऐसे में इन विज्ञापनों की संख्या में और बड़ोतरी होने वाली है। एक अनुमान के मुताबिक पतंजलि ने इन विज्ञापनों पर कम से कम 300 करोड रूपये खर्च किए हैं। इस अनुमान का खंडन पतंजलि ने भी नहीं किया है।

तिजारावाला कहते हैं कि ये विज्ञापन न्यूज चैनल्स को ध्यान में रख कर बनाए गए हैं लिहाजा उन्हें कम कीमत में ही तैयार कर लिया गया और उनके प्रसारण की फ्रीक्वेंसी भी इतनी अधिक है।योगगुरू रामदेव ने दावा किया था कि अगले 5 साल के भीतर उनकी कंपनी देश की सबसे बडी एफएमसीजी कंपनी बन जाएगी।

 

 

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com