संविधान बचाने के चुनाव में गठबंधन की होगी जीत: मल्लिकार्जुन खड़गे

लखनऊ, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर तानाशाही रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुये कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि संविधान बचाने की लड़ाई में जनता इंडिया गठबंधन के साथ है और चार जून को भाजपा की विदाई तय है।

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में मल्लिकार्जुन खड़गे ने बुधवार को कहा कि यह चुनाव देश के लोकतंत्र और संविधान को बचाने का चुनाव है। यह दो विचारधाराओं के बीच की लड़ाई है जिसमें भाजपा पूंजीपतियों के साथ अंध श्रद्धा दिखा रही है वहीं 26 दल मिल कर गरीब,आदिवासी,दलित,अल्पसंख्यक के हक और हुकूक की लड़ाई लड़ रहे हैं।

उन्होने कहा कि भाजपा के नेता कहते हैं कि अगले कार्यकाल में वे संविधान मे बदलाव करेंगे। अगर वे संविधान बदलेंगे तो लोकतंत्र खतरे में पड़ जायेगा। लोकतांत्रिक व्यवस्था में हर किसी को अपनी बात रखने का हक है मगर संविधान में बदलाव कर भाजपा यह हक भी मिटाना चाहती है। इसलिये यह देश का भविष्य बनाने वाला चुनाव है आगे की पीढ़ी को सुरक्षित रखने का चुनाव है। अगर संविधान बचेगा तो सब कुछ बचेगा.. वरना हम गुलामी में चले जाएंगे।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि चार चरणों का चुनाव संपन्न हो चुका है जिसमें इंडिया गठबंधन काफी आगे चल रहा है। देश की जनता ने मोदी जी की विदाई तय कर दी है। चार जून को इंडिया गठबंधन नई सरकार बनाने जा रही है।

उन्होने कहा कि सरकार धर्म जाति की बात करती है मगर महंगाई,गरीबी,बेरोजगारी जैसी समस्यायों पर बात करना नहीं चाहती। बड़ी संख्या में शिक्षित युवा बेरोजगार हैं। लाखाें की संख्या में सरकारी रिक्त पदों के बावजूद सरकार भर्ती नहीं कर रही है। इससे युवाओं में आक्रोश है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मौजूदा चुनाव में भी भाजपा का तानाशाही चेहरा सामने आया है। भाजपा के लोग गठबंधन के प्रत्याशी को नामांकन से रोक रहे है। हमारे चुनाव एजेंटो का डराया धमकाया जा रहा है।

उन्होने कहा कि भाजपा कहती है कि वह 80 करोड़ गरीबों को पांच किलो मुफ्त राशन दे रही है मगर उसे पता होना चाहिये कि कांग्रेस ने अपने कार्यकाल में खाद्य सुरक्षा योजना लागू की थी ताकि कोई भूखा न सो सके। कांग्रेस अगर सत्ता में आती है तो हर गरीब परिवार को दस किलो मुफ्त राशन की सुविधा दी जायेगी।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि गठबंधन की सरकार आने पर सभी सहयोगी दलों के घोषणा पत्रों के आधार पर कामन मिनिमम प्रोग्राम लागू किया जायेगा जिसमे समाज के सभी वर्गो का ध्यान रखा जायेगा। कांग्रेस की सरकार आने पर पांच न्याय और 25 गारंटियों को अमल में लाया जायेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुये उन्होने तंज कसा कि श्री मोदी गांधी परिवार को दिन भर में जितनी गालियां देते हैं जितना उन्होने भगवान राम का नाम नहीं लिया होगा।

उन्होने कहा कि गठबंधन सरकार आने पर जातीय जनगणना करायी जायेगी मगर इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि इससे सामाजिक विद्वेष बढ़े बल्कि इसका मकसद उन तबकों की पहचान कर उन्हे सशक्त बनाना होगा जो आर्थिक रुप से,शैक्षणिक रुप से अथवा स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित है।