Breaking News

सेना मे भ्रष्टाचार का बड़ा खुलासा, हवाला के जरिये दी जा रही थी रिश्वत

नई दिल्ली, नई दिल्ली में सैन्य मुख्यालय में कथित स्थानांतरण रैकेट के संबंध में सीबीआई ने एक लेफ्टिनेंट कर्नल और एक बिचौलिए को गिरफ्तार किया गया है। ऐसा आरोप है कि सैन्य अधिकारियों ने उनकी तैनाती में हेरफेर करने के लिए लाखों रुपए दिए थे। सीबीआई ने एकत्र की गई खुफिया जानकारी के आधार पर मामला दर्ज किया। उसने लेफ्टिनेंट कर्नल रंगनाथन सुब्रमणि मोनी और गौरव कोहली को उस समय गिरफ्तार किया जब बेंगलूरू में रह रहे एक सैन्य अधिकारी के तबादले के लिए दो लाख रुपए की कथित रिश्वत दी जा रही थी।

आज आयोग के सामने हैक होगी ईवीएम, राकांपा और माकपा ने स्वीकार की चुनौती

 प्राथमिकी में एक ब्रिगेडियर का नाम है लेकिन आरोपियों की सूची में उसका नाम शामिल नहीं किया गया। सैन्य मुख्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों की संलिप्तता के साथ यह कथित रैकेट संदिग्ध रूप से चल रहा था। सीबीआई प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि यह रिश्वत हवाला माध्यमों के जरिए दी जा रही थी।

गरीबी और पिछड़ापन तोड़ नही पाया, यूपीएससी टॉपर का हौसला

अगर आप नकद लेन देन के आदी हैं, तो हो जायें सावधान, आयकर विभाग की चेतावनी

 एजेंसी इस पर भी ध्यान दे रही है कि सैन्य अधिकारी अपनी पसंद की जगह पर तैनाती पाने के लिए किस प्रकार लाखों रुपए देने के लिए तैयार थे। सैन्य मुख्यालय की कार्मिक शाखा के लेफ्टिनेंट कर्नल मोनी, हैदराबाद में रह रहे सैन्य अधिकारी पुरुषोत्तम, भारतीय सेना में बीएसओ बेंगलूरू के गौरव कोहली एवं एस सुभाष के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। ऐसा आरोप है कि मोनी ने कोहली एवं सैन्य अधिकारी पुरषोत्तम के साथ मिलकर विभिन्न अधिकारियों के तबादलों को प्रभावित करने के लिए एक आपराधिक षड़यंत्र रचा।

दिल्ली एनसीआर क्षेत्र और पश्चिमी यूपी मे, भूकंप के जोरदार झटके

सीएम योगी अनुभवहीन, यूपी मे अपराधों की आ गई बाढ़- रामगोपाल यादव

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com