Breaking News

यूपी:नोडल अधिकारी ने कोविड-19 के प्रभाव को लेकर कही ये बड़ी बात

सहारनपुर, उत्तर प्रदेश के खाद्य प्रसंस्करण विभाग के प्रमुख सचिव एवं सहारनपुर जिले के नोडल अधिकारी बाूललाल मीणा ने कहा कि कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण में मेडिकल टेस्टिंग की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है और संक्रमण के नियंत्रण के लिए टेस्टिंग कार्य पूरी तेजी से संचालित किया जाए।

श्री मीणा ने आज यहां नेशल हैल्थ मिशन के अपर निदेशक हीरालाल तथा के.जी.एम.यू के डाॅ. कुल रंजन सिंह के साथ शेखुल हिन्द मौलाना महमूद हसन राजकीय मेडिकल काॅलेज में कोविड-19 कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में आक्सीजन तथा आवश्यक दवाओं की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित रखी जाए। उन्होंने कहा कि इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाए कि अस्पतालों में आक्सीजन की उपलब्धता के सम्बन्ध में कोई समस्या न/न हो।

उन्होंने मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य व मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि आक्सीजन की उपलब्धता के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को नियमित रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के सफलतापूर्वक उपचारित रोगियों की उपचार विधि का गहन अध्ययन करते हुए कोविड-19 पर नियंत्रण स्थापित करने के निर्देश दिए हैं।

इस मौके पर अपर मिशन निदेशक, नेशनल हैल्थ मिशन एवं नोडल अधिकारी हीरा लाल, ने मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. डी.एस. मर्तोलिया से जानकारी ली की लैब टेस्टिंग की क्षमता के अनुरूप टेस्टिंग क्यों नहीं हो पा रही है। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग कार्य में जो भी लापरवाह कर्मी है, उन्हें चिन्हित कर कार्रवाही की जाए। उन्होंने कहा कि लैब में टेस्टिंग में लक्ष्य के अनुरूप प्रतिदिन जांच कराई जाए। किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरती जाए।

उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी व मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्य के प्रति गहरी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि कोई दिक्कत हो तो हमें बताएं। उन्होंने मेडिकल काॅलेज प्राचार्य को निर्देश दिए कि मेडिकल काॅलेज में काम न/न कर रहे डाक्टरों व कर्मचारियों से लिखित में उनके कार्य के बारे में पूछिए तथा उनके विरूद्ध कार्रवाई करें। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि कार्य के प्रति लापरवाही अब बर्दाश्त नहीं होगी। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए कि जो भी लापरवाही बरतेंगा वो दण्ड़ के लिए तैयार रहें। उन्होंने निर्देश दिये कि टेस्टिंग को कैसे प्रमोट किया जाय। इसके लिए जरूरी कदम उठाए जाए।

बैठक में मुख्य रूप से नोडल अधिकारी के.जी.एम.यू के डाॅ. कुल रंजन सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा0 एस0चेनप्पा, नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह डा. बी.एस.सोढी, नगर मजिस्ट्रेट सुरेश कुमार सोनी, एसडीएम सदर अनिल कुमार सिंह, सहित मेडिकल काॅलेज के सभी चिकित्सक तथा स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी आदि मौजूद रहे।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com