Breaking News

प्रधानमंत्री के दलित और गौ- प्रेम का सोशल मीडिया पर उड़ा मजाक

सद्ग क्ष मदै

लखनऊ, गौरक्षा पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान का व्यापक स्तर पर विरोध शुरू हो गया है।

तेलंगाना के मेडक में मिशन भगीरथ लॉन्च करने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि नकली गोरक्षकों से सावधान रहें। प्रधानमंत्री ने असली गोरक्षकों से अपील की कि वो उन्हें एक्सपोज करें। मोदी ने कहा था कि  नकली गौरक्षकों को समाज से लेना देना नहीं, बल्कि तनाव पैदा करना चाहते हैं राज्य सरकारों से कहना चाहता हूं कि नकली गोरक्षकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

 विश्व हिन्दू परिषद, हिंदू महासभा,बीएसपी प्रमुख मायावती और यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी गौरक्षा पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान पर हमला बोला। सोशल मीडिया पर भी लोगों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान पर तंज कसे।

प्रधानमंत्री अभी तक चुप थे अब प्रधानमंत्री को लग रहा है कि इस मुद्दे से नुकसान पहुंच रहा तो उन्होंने बोलना शुरू किया है। आप कहें तो गायों को पेशन देने की योजना शुरू कर दें। -मुख्यमंत्री अखिलेश यादव   

 अब वे कुंभकर्ण की नींद से इसलिए जगे हैं क्योंकि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक आ गए हैं. दो साल से गोरक्षक मुस्लिमों और दलितों को निशाना बना रहे थे और प्रधानमंत्री मोदी कुंभकर्ण की तरह सो रहे थे.

                                                                                                       – बसपा प्रमुख मायावती 

 

मारना है तो मुझे गोली मार दो, लेकिन दलितों को मत मारो, वरना मरी हुई गाय क्या भागवत जी उठाएंगे?

समझा करो प्लीज!
गो-आतंकवाद तो दो साल से चल रहा था. इनको मजा भी आ रहा था. आफत तो इसलिए आई है कि दलितों ने गाय की लाश उठाने से इन्कार कर दिया है. इसलिए गिड़गिड़ा रहे हैं.   

  • प्रसिद्ध संपादक, आलोचक दिलीप सी मण्डल की फेसबुक वाल से साभार

 

ध्यान देने की बात है कि चुप्पी तब टूटी जब न्यूयार्क टाईम्स ने अपने सम्पादकीय में इसे ‘MODI’S SHAMEFUL SILENCE’ कहा . और चुप्पी तोड़ते हुए मोदी ने यह स्वीकार भी किया कि ‘दुनिया हमारे बारे में क्या कहेगी!’ तो क्या इमेज बिल्डिंग एंड डैमेज कंट्रोल एक्सरसाईज ?
न्यूयार्क टाईम्स के सम्पादकीय से–
“On Monday, Mr. Modi’s handpicked successor, the Gujarat chief minister, Anandiben Patel, resigned, a sign of the B.J.P.’s concern that the turmoil in Gujarat will harm the party in state elections next year and national elections in 2019. That could very well happen if Mr. Modi does not break his shameful silence on cow vigilantes, and reset his political compass on a course of economic opportunity, dignity and justice”–From the editorial of ‘Newyork Times’

  • प्रसिद्ध साहित्यकार, आलोचक वीरेन्द्र यादव की फेसबुक वाल से साभार

 

क्या बात करते हो मोदीजी…. आपको कोई गोली मार ही नहीं सकता. आपका सुरक्षा घेरा इतना तगड़ा है कि यह संभव ही नहीं है. ऐसा होना भी नहीं चाहिए और सब जानते हुए आपको ऐसा डॉयलॉग भी नहीं मारना चाहिए…… अब उसके बाद आप कहते हैं कि दलित भाइयों पर अत्याचार बंद करो. मतलब पहला ऑप्शन असंभव है….!!! क्या करें गौ-रक्षक?

– आई के यदुवंशी की फेसबुक वाल से साभार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com