Breaking News

मुलायम सिंह से मिले शिवपाल यादव, जानिये क्या रहा खास…

लखनऊ, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा एवं पार्टी के नेता शिवपाल सिंह यादव ने सपा संरक्षक मुलायम सिंह से आज मुलाकात की. यह मुलाकात मुलायम सिंह के सरकारी आवास पर हुई.

अखिलेश यादव पहुंचे आगरा, रास्ते मे भव्य स्वागत, जानिये आज के कार्यक्रम

 पत्रकार रवीश कुमार को जान का खतरा, पीएम मोदी को लिखा ये पत्र

 पांच अक्टूबर को आगरा में होने वाली समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन से पहले, शिवपाल सिंह यादव और  मुलायम सिंह की यह मुलाकात अहम मानी जा रही है. सूत्रों के अनुसार,  मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव के बीच कई मुद्दों पर बातचीत हुई. यह मुलाकात लगभग तीन घंटे चली.

भाजपा की डबल इंजन की सरकार पर, अखिलेश यादव का तीखा हमला

 अखिलेश यादव ने आरक्षण के दंगल का पेश किया फार्मूला

शिवपाल यादव जब मुलाकात के बाद बाहर निकले तो उनके चेहरे की मुस्कराहट साफ बता रही थी कि उनको लेकर कुछ अच्छा होने के आसार हैं. इसके बाद शिवपाल यादव अपने आवास पर अपने करीबियों से नेताजी के साथ हुई खास बातों पर विचार विमर्श कर रहें हैं. खास बात यह रही कि अखिलेश यादव के आगरा निकलने के बाद दोनों भाइयों की यह मुलाकात चौंकाने वाली हो सकती है.

ओबीसी आरक्षण को बांटने के लिये, मोदी सरकार ने बनाया नया आयोग

सांप्रदायिक हरकतों पर प्रशासन का मूक दर्शक बने रहना खतरनाक-अखिलेश यादव

सूत्रों के अनुसार, अप्रत्याशित राजनीतिक दांव चलने के माहिर माने जाने वाले सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में फिर कोई नया धमाका कर सकते हैं। मुलायम सिंह के साथ-साथ शिवपाल सिंह यादव के न सिर्फ सम्मेलन में शामिल होने की चर्चा है। यहां तक कहा जा रहा है कि पार्टी और कुनबे को बिखरने से बचाने के लिए मुलायम सिंह, अखिलेश यादव के साथ सामंजस्य बैठाने के लिए नया फार्मूला भी निकाल सकते हैं।

महान शेन वॉर्न ने कुलदीप यादव की तारीफ मे कहे ये शब्द, बताया भविष्य का…?

लालू यादव का बड़ा खुलासा-कैसे सरकार बचा रही सृजन घोटालेबाजों को 

पार्टी में चल रही अंदरूनी चर्चा के अनुसार, अखिलेश यादव का जोर अपने चाचा को यूपी से दूर रखने पर है। जबकि मुलायम सिंह पार्टी को नहीं टूटने देना चाहते। इसको देखते हुए, मुलायम सिंह, अखिलेश यादव और शिवपाल सिंह को पार्टी में एक साथ बने रहने का नया फार्मूला बना सकते हैं। सूत्रों की मानें तो मुलायम अपने बेटे अखिलेश की इच्छा के अनुसार शिवपाल को प्रदेश से दूर रखने और शिवपाल का पार्टी में वजूद बनाए रखने के लिए राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भेजने का दांव चल सकते हैं।

लंबित मामलों की संख्या, जानिये सुप्रीम कोर्ट मे घटी कि लोअर कोर्ट मे बढ़ी ?

जानिये, उमेश यादव को वनडे क्रिकेट से भी ज्यादा क्या है पसंद..?

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com