इस बार देर से आयेगा मानसून, इस तारीख से शुरू होगी बारिश

नयी दिल्ली, इस बार मानसून के  देरी से आने का पूर्वानुमान है। साथ ही इस साल मानसून कमजोर रहने का अनुमान है और स्थिति बहुत अच्छी नहीं दिख रही है।

महाराष्ट्र, विदर्भ, तमिलनाडु, कर्नाटक, झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल में औसत से कम मानसून रहेगा।

मौसम विभाग के अनुसार, दिल्ली- एनसीआर, पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और चंडीगढ़ में मानसून सामान्य रह सकता है।

जून से शुरुआत होने वाले मानसून सीजन के दौरान 50 सालों के औसत 89 सेंटीमीटर से अधिक बारिश होने को सामान्य कहा जाता है, जो 96 फीसद से 104 फीसद के बीच होता है। बता दें कि भारत, एशिया की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था है और इसमें कृषि क्षेत्र की निर्भरता चार महीनों के दौरान होने वाली मानसूनी बारिश पर होती है।

वर्ष 2014 और 2015 में इसी अल नीनो के प्रभाव के चलते भारत में सूखे जैसी स्थितियां पैदा हो गई थीं। लेकिन वर्ष 2016 में जून से सितंबर के बीच मानसून की अच्छी बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिकों को अल नीनो के विपरीत प्रभाव की कोई संभावना नहीं दिखती है।

इसके पहले मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट ने जून से सितंबर के बीच होने वाली मानसून की बारिश पर अल नीनो का प्रभाव का हवाला देकर कम बारिश का अनुमान व्यक्त किया था।

Spread the love
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com