इन नियमों को अपनाएं, सफलता आपके कदम चूमेगी

बेंगलुरु,  चंद्रमा की सतह से महज 2.1 किलोमीटर पहले चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का संपर्क टूट जाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वहां मौजूद छात्रों को जीवन में कभी निराश नहीं होने और बड़ा लक्ष्य रखने की सलाह दी।

चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम के चांद की सतह पर उतरने की प्रक्रिया का जीवंत प्रसारण देखने के लिए इसरो के बेंगलुरु स्थित टेलीमेंट्री ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क (आईएसटीआरएसी) केन्द्र में मौजूद बच्चों का उत्साह बढ़ाते हुए श्री मोदी ने कहा, “ जीवन में बड़ा लक्ष्य रखें और लक्ष्य हासिल करने के मार्ग में कभी निराशा को न आने दें।”

प्रधानमंत्री ने बच्चों से कहा,“ जीवन में बड़ा लक्ष्य रखें और उसे छोटे-छोटे लक्ष्यों में विभाजित कर लें। इन छोटे-छोटे लक्ष्याें को हासिल करने का प्रयास करें और उन्हें एकत्र करें। यह भूल जाएं कि आपने क्या खोया और रास्ते में कभी निराशा को न आने दें।”श्री मोदी ने वहां मौजूद भूटान के छात्रों से भी मुलाकात की। उन्होंने छात्रों को ऑटोग्राफ दिए और उनके साथ फाेटो भी खिंचवाए।