Breaking News

कविता और लेखनी के माध्यम से विरोध व्यक्त करें साहित्यकार – कवि गोपालदास नीरज

neerajजाने माने कवि गोपालदास नीरज ने कहा है कि साहित्यकारों को चाहिये कि वे पुरस्कार वापस किये जाने के स्थान पर कविता और लेखनी के माध्यम से विरोध व्यक्त करें। जाने माने कवि गोपालदास नीरज ने देश में फैल रही असहिश्णुता और दादरी जैसी घटनाओं के विरोध में कुछ साहित्यकारों द्वारा साहित्य अकादमी पुरस्कार वापस किये जाने को अनुचित क़रार दिया है। वह आज आगरा में मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होने बताया कि आपातकाल के दौरान उन्होंने भी सत्ता का विरोध किया था, लेकिन विरोध का माध्यम उनकी कवितायंे और गीत बने थे।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान मिले पुरस्कारों को अब कांग्रेस पार्टी ही लौटाने का काम करवा रही है। उन्होंने कहा कि साहित्यकारों को कविता और लेखनी के माध्यम से विरोध व्यक्त करना चाहिए।

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com