गणेश विसर्जन के दौरान हुई कई लोगा की मौत, मिली इतने लाख रुपए की आर्थिक सहायता

भोपाल, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में आज तड़के हुए एक दर्दनाक हादसे में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान दो नावों के पलटने के बाद 11 लोगों की मौत हो गई। इस मामले में राज्य शासन ने हादसे की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश देते हुए सभी मृतकों के परिजन को 11-11 लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है।

आधिकारिक जानकारी के मुताबिक स्थानीय खटलापुरा घाट पर हुई इस दुर्घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिये गये हैं। मध्यप्रदेश शासन ने मृतकों के परिजन को 11-11 लाख रुपए और नगरनिगम भोपाल ने दो-दो लाख रूपये सहायता राशि देने की घोषणा की है। जिला प्रशासन ने मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए रेडक्रास से 50-50 हजार रुपए की अलग से सहायता राशि दी है।

भोपाल में आज तड़के करीब साढ़े चार बजे लगातार बारिश के बीच गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान आपस में जुड़ी हुईं दो नाव पलटने से उसमें सवार डेढ दर्जन से भी ज्यादा लोग डूब गए। इनमें से छह लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। 11 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से बताया जा रहा है कि नाव में करीब 19 लोग सवार थे। राज्य आपदा प्रबंधन दस्ता (एसडीआरएफ) और जिला पुलिस दो और लोगों की तलाश में लगातार जुटा हुआ है।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि दुःख की इस घड़ी में सरकार हर पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। उनकी हरसंभव मदद की जायेगी। मौके पर मौजूद विधि मंत्री पी सी शर्मा ने बताया कि नाव में एक पूरी उत्सव समिति के सदस्य सवार थे। वे जैसे ही बड़ी मूर्ति का विसर्जन करने लगे, नाव अचानक पलट गई।

भोपाल पुलिस ने दोनों नावों के चालकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। स्थानीय जहांगीराबाद थाना पुलिस सूत्रों की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक नाव हादसे में फरियादी निर्मल कुमार की रिपोर्ट पर दोनों नाविकों आकाश बाथम एवं चंगु बाथम के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

वहीं इस हादसे में अब तक मिले शवों की भी पहचान कर ली गई है। मृतकों की पहचान परवेज़ खान (15), रोहित मौर्य (30), करण (16), हर्ष (20), सन्नी ठाकरे (22), राहुल वर्मा (30), विक्की (28), विशाल (22), अर्जुन शर्मा (18), राहुल मिश्रा (20) और करण (26) के तौर पर हुई है। सभी युवक स्थानीय पिपलानी क्षेत्र के निवासी थे।