पीएम मोदी ने कहा,आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का वक्त आ गया….

ह्यूस्टन, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाने के फैसले से राज्य के लोगों को बाकी देशवासियों के बराबर अधिकार मिल गये हैं तथा अब आतंकवाद और उसे बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ने का वक्त आ गया है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की माैजूदगी में टेक्सास प्रांत की राजधानी ह्यूस्टन मेें 50 हजार से अधिक भारतीय अमेरिकी समुदाय के सामने श्री मोदी ने जम्मू कश्मीर को लेकर अपना पक्ष जोरदार ढंग से पेश किया और पाकिस्तान का नाम लिये बिना कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाने से उन लोगों को तकलीफ हो रही है जिनसे अपना देश नहीं संभल रहा है। प्रधानमंत्री ने आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का आह्वान किया और अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को इस लड़ाई में मजबूत साथी बताया।

ह्यूस्टन के एनआरजी फुटबॉल स्टेडियम में भारतीय अमेरिकी सांस्कृतिक कलाओं के प्रदर्शन के बाद उपस्थित विशाल जनसमूह को संबोधित करत हुए श्री मोदी ने कहा कि देश के सामने 70 साल से एक बड़ी चुनौती थी जिसे कुछ दिन पहले भारत ने विदाई दे दी है। अनुच्छेद 370 ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को विकास से और समान अधिकारों से वंचित रखा था। इस स्थिति का लाभ आतंकवाद और अलगाववाद बढ़ाने वाली ताकतें उठा रहीं थीं। उन्होंने कहा कि भारत के संविधान ने जो अधिकार बाकी भारतीयों को दिए हैं, अब वही अधिकार जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को मिल गए हैं। वहां की महिलाओं-बच्चों-दलितों के साथ हो रहा भेदभाव खत्म हो गया है।

उन्होंने बताया कि भारत की संसद के दोनों सदनों में इस कदम पर घंटों चर्चा हुई और उसे पूरी दुनिया ने देखा। संसद के उच्च सदन में बहुमत नहीं होने के बावजूद दो तिहाई बहुमत से इसे पारित किया गया। प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान का नाम लिये बिना कहा, “भारत अपने यहां जो कर रहा है, उससे कुछ ऐसे लोगों को भी दिक्कत हो रही है, जिनसे खुद अपना देश नहीं संभल रहा। इन लोगों ने भारत से नफरत को ही अपनी राजनीति का केन्द्र बना दिया है। ये वो लाेग हैं जो अशांति चाहते हैं, आतंक के समर्थक हैं और आतंकवाद को पालते पोसते हैं। उनकी पहचान आप भी अच्छी तरह से जानते हैं कि अमेरिका में 9/11 हो या मुंबई में 26/11, उनके साजिशकर्ता कहां पाये जाते हैं।”

श्री मोदी ने कहा, “अब समय आ गया है कि आतंकवाद के खिलाफ और आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जाए। मैं यहां पर जोर देकर कहना चाहूंगा कि इस लड़ाई में राष्ट्रपति ट्रंप पूरी मजबूती के साथ आतंक के खिलाफ खड़े हुए हैं।” प्रधानमंत्री ने उपस्थित जनसमुदाय से भारत के सभी सांसदों का अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले का समर्थन करने के लिए तथा अमेरिकी राष्ट्रपति श्री ट्रंप की आतंकवाद के खिलाफ प्रतिबद्धता के लिए खड़े होकर अभिवादन करने की अपील की जिसपर लोगों ने तदनुसार प्रतिक्रिया व्यक्त की।