Breaking News

लंबे समय से सत्ता में होने के कारण बीजद में अहंकार आया- धमेंद्र प्रधान

 

भुवनेश्वर,  केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धमेंद्र प्रधान ने ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल  सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि लंबे समय से सत्ता में बने रहने के कारण उसमें अहंकार आ गया है। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, इतने लंबे समय से सत्ता में बने रहने के बाद किसी भी व्यक्ति में अहंकार आ जाना काफी स्वभाविक है। नवीन बाबू  के मामले में भी ऐसा ही है। इससे पहले सोमवार को बीजद अध्यक्ष एवं ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने विपक्षी दलों पर अपनी सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार करने का आरोप लगाया था।

 पत्रकार रवीश कुमार को जान का खतरा, पीएम मोदी को लिखा ये पत्र

ओबीसी आरक्षण को बांटने के लिये, मोदी सरकार ने बनाया नया आयोग

 केंद्रीय मंत्री ने आरोप लगाया कि बीजद भ्रष्टाचार में आकंठ डूबा हुआ है और राज्य में पीसी  आम बात हो गयी है। उन्होंने कहा कि पटनायक ने खुद प्रतिशत कमीशन को पूरी तरह खत्म करने पर जोर दिया है लेकिन इस तरह के चलन लोकनिर्माण विभाग तथा सिंचाई विभाग में ज्यादा व्याप्त हैं जो मुख्यमंत्री के अधीन आते हैं। प्रधान ने कहा, अगर विपक्ष कोई मुद्दा उठाता है तो वह  उसे दुष्प्रचार करार देते हैं। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या पुलों के गिरने की घटनाएं और आंगनवाड़ी केंद्रों से जुड़ी हाल में आयी सीएजी रिपोर्ट के तथ्य भी दुष्प्रचार हैं।

सांप्रदायिक हरकतों पर प्रशासन का मूक दर्शक बने रहना खतरनाक-अखिलेश यादव

महान शेन वॉर्न ने कुलदीप यादव की तारीफ मे कहे ये शब्द, बताया भविष्य का…?

 वहीं बीजद ने प्रधान के आरोपों को लेकर पलटवार करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री से अनुनय-विनय करने के बाद उन्हें कैबिनेट रैंक पर पदोन्नत किया गया। पार्टी के वरिष्ठ नेता और मंत्री दामोदर राउत ने कहा, उनके लिए माटी  नहीं बल्कि पार्टी पहले आती है। वह हमारे उलट सरकारी धन का इस्तेमाल अपने हितों को पूरा करने के लिए करते हैं। उनकी पार्टी जब हमारे साथ थी तब उन्हें 36  सीटें मिलीं लेकिन हमारे साथ संबंध तोड़ने के बाद उनकी सीटें घटकर छह हो गयीं।

लालू यादव का बड़ा खुलासा-कैसे सरकार बचा रही सृजन घोटालेबाजों को 

अन्ना हजारे राजघाट पर सत्याग्रह पर बैठे, जानिये कारण ?

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com