हमीरपुर सदर विधानसभा उपचुनाव में मतदान संपन्न, वोट पड़े कम

हमीरपुर, उत्तर प्रदेश के हमीरपुर सदर क्षेत्र में हुए विधानसभा उपचुनाव में मतदान शांति पूर्वक संपन्न हुआ।

लेकिन सोमवार को हुए विधानसभा उपचुनाव में कुल 51 फीसदी मतदान हुआ।

जबकि पिछली बार यहां 63. 69 फीसदी वोट पड़े थे।

यह जानकारी जिला निर्वाचन कार्यालय ने दी।

हमीरपुर में सामूहिक हत्याकांड के एक मामले में भाजपा विधायक अशोक सिंह चंदेल को उम्रकैद की सजा सुनाए जाने के बाद रिक्त हुई

सदर विधानसभा सीट पर उपचुनाव हो रहा है।

हमीरपुर जिले में सदर विधानसभा सीट पर सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक वोटिंग हुई।

शुरुआत में 14 बूथों पर ईवीएम में खराबी सामने आई, जिस पर मशीन को बदल दिया गया।

सोमवार को जिले में लगातार बारिश होती रही।

जिसका असर मतदान प्रतिशत पर भी पड़ा है।

यहां 51 फीसदी मतदान हुआ है।

उपचुनाव में कुल नौ प्रत्याशी मैदान में हैं।

इनमें भारतीय जनता पार्टी से युवराज सिंह, बहुजन समाज पार्टी  से नौशाद अली, समाजवादी पार्टी से डॉ. मनोज प्रजापति, कांग्रेस से

हरदीपक निषाद और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी से जमाल आलम मंसूरी प्रमुख हैं।

चार निर्दलीय प्रत्याशी भी मैदान में हैं।

सपा नेताओं ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप लगाया है।

इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की गई है।

रमना गांव और करारा ब्लॉक के ग्रामीणों ने विकास कार्यों में अनदेखी का आरोप लगाकर मतदान का बहिष्कार किया।

डीएम अभिषेक प्रकाश ने ग्रामीणों को वोटिंग के लिए मनाया तो लोग बूथों पर मतदान के लिए पहुंचे हैं।

यहां पहली बार पांच बूथों पर क्यूआर पर्ची की भी व्यवस्था की गई है।