सरकार ने भीम आर्मी को कुचलने के लिए साजिश रची- प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली, कार्यकर्ता-वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल में दलितों के खिलाफ अत्याचार बढ़े हैं और मुद्दे के खिलाफ लड़ने वाले पक्षों को केंद्र ‘‘चुप’’ कर रहा है ।

केंद्रीय कर्मचारियों को लेकर सरकार कर सकती है ये बड़ा ऐलान

भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘वे (दलित) अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाएंगे। अगर आप किसी के खिलाफ इतना अत्याचार करेंगे तो उधर से भी जवाब मिलेगा और यह देश के लिए खतरनाक होगा। ’’

कुत्ते की मौत पर रक्षा मंत्री दुखी, पूरे सम्मान के साथ हुई विदाई

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘पिछले पांच साल में दलितों के खिलाफ अत्याचार बढ़े हैं और खासकर जहां पर भाजपा का शासन है उन राज्यों में निर्ममता पूर्वक उनकी पिटाई की गयी।’’ उन्होंने कहा कि ऐसे मामले अन्य राज्यों से भी सामने आ रहे हैं।
उन्होंने कहा कि पहले दलित पार्टी बसपा अत्याचार के खिलाफ लड़ती थी। सरकार ने उनके नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज उन्हें किसी तरह चुप कर दिया।

इन सरकारी कर्मचारियों का बढ़ा वेतन और भत्ता…

उन्होंने आरोप लगाया कि इसके बाद चंद्रशेखर आजाद ने भीम आर्मी बनायी और तुरंत ही दलितों की आवाज बनने लगे। केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार ने भीम आर्मी को कुचलने के लिए साजिश रची ।
भूषण ने आरोप लगाया कि आजाद को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत गिरफ्तार किया गया था और उन्हें रैलियों में जाने की अनुमति नहीं दी गयी।

जब इंसान के सिर पर निकल आया ‘सींग’, मामला देख डॉक्टर भी रह गए 

भीम आर्मी के प्रतिनिधियों ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में बाबासाहेब आंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ विरोध करने के लिए आजाद के परिवार के सदस्यों पर मामला दर्ज किया गया।

यूपी का पहला रोप-वे इस जिले मे हुआ शुरू, अब नही चढ़नी पड़ेंगी सैकड़ों सीढ़ियां

अब रेलवे फ्री में रिचार्ज करेगा, आपका मोबाइल नंबर

700 रुपये महीने में इंटरनेट, मुफ्त फोन कॉल, एचडी टीवी और डिश….

लखनऊ में ट्रैफिक दबाव को कम करने के लिए, उठाया गया ये बड़ा कदम

शिक्षक और स्टूडेंट्स को पीएम मोदी ने दी ये खास सलाह….

ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर जारी हुआ ये नया नियम

यूपी के इस सरकारी स्कूल के बच्चों का दिमाग है गुगल से भी तेज….