Breaking News

मायावती ने परिवारवाद का आरोप लगाने वालों को दिया जवाब, उठाया ये बड़ा कदम

लखनऊ, बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने परिवारवाद का आरोप लगाने वालों को  बड़ा जवाब दिया है।  एक बड़ा फैसला लेते हुए  उन्होने अपनी पार्टी के संविधान में बदलाव किया है।

अखिलेश यादव ने मोदी सरकार को बताया- ‘जीरो-डिलेवरी सरकार‘…?, जानिये क्यों ?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार का देखिये ‘रिपोर्ट कार्ड’, चौंक जायेंगे आप ?

सूत्रों के अनुसार,  मायावती ने शनिवार को पार्टी के हित मे एक बड़ा फैसला लेते हुए अपने भाई आनंद कुमार के पार्टी के उपाध्यक्ष पद से हटा दिया है। बताया जा रहा है कि मायावती ने यह फैसला विपक्ष की उन तमाम पार्टियों के आरोपों के बाद लिया है, जिन्होंने बीते दिनों बीएसपी सुप्रीमो पर अपने भाई को संरक्षण देने और परिवारवाद का आरोप लगाया था।

पीएम नरेंद्र मोदी की चार साल की सरकार पर, भारी पड़ गये ये चार सवाल..?

जयंत चौधरी का सीएम योगी आदित्यनाथ पर पलटवार, पूछा- आपको खुजली क्यों हो रही है ?

सूत्रों के अनुसार,  मायावती ने लखनऊ में बीएसपी के राष्ट्रीय अधिवेशन के दौरान पार्टी के संविधान में बदलाव करते हुए अब किसी भी राष्ट्रीय अध्यक्ष के रिश्तेदार को पार्टी में पद ना देने की घोषणा की है। इसके साथ ही बीएसपी के नए संविधान में किसी भी राष्ट्रीय अध्यक्ष के रिश्तेदार के चुनाव लड़ने पर भी रोक लगा दी गई है।

मायावती ने किया बसपा में बड़ा फेरबदल…..

सपा-बसपा गठबंधन से डरे अमित शाह, दिया ये बयान

मायावती ने अपनी पार्टी के संविधान में कुछ जरूरी फैसले लिये जाने की जानकारी देते हुए बताया,‘‘ मुझे खुद को भी मिलाकर तथा मेरे बाद अब आगे भी बसपा का जो भी ‘‘राष्ट्रीय अध्यक्ष’’ बनाया जायेगा तो फिर उसके जीते-जी व ना रहने के बाद भी उसके परिवार के किसी भी नजदीकी सदस्य को पार्टी संगठन में किसी भी स्तर के पद पर नहीं रखा जायेगा अर्थात उनके परिवार के सदस्य बिना किसी पद पर बने रहकर और एक साधारण कार्यकर्ता के रूप में ही केवल अपनी निःस्वार्थ भावना के साथ ही पार्टी में कार्य कर सकते है।”

मायावती ने किया बड़ा खुलासा, कहा उल्टी गिनती शुरू

मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर अखिलेश यादव ने कुछ यूं दी बधाई..

उन्होंने कहा कि ”इसके अलावा उनके परिवार के किसी भी नजदीकी सदस्य को ना कोई चुनाव लड़ाया जायेगा तथा ना ही उसे कोई राज्यसभा सांसद, एम.एल.सी.और मंत्री आदि भी बनाया जायेगा और ना ही उसे अन्य किसी भी राजनैतिक उच्च पद पर रखा जायेगा। लेकिन पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद को छोड़कर बाकी अन्य सभी स्तर के पदाधिकारियों के परिवार के लोगों पर ’’विशेष परिस्थितियों में’’ यह सब शर्तें लागू नहीं होगी।”

बहुजन समाज पार्टी  की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आज, जानिये क्यों हो गयी इतनी महत्वपूर्ण ?

बढ़ते दमन, अत्याचार और धार्मिक ध्रुवीकरण को रोकने के लिए उतरी, ये दिग्गज हस्तियां

कैराना उपचुनाव- अंतिम दौर मे, संयुक्त विपक्ष की उम्मीदवार तबस्सुम की स्थिति हुयी मजबूत

नये राज्यपालों की हुयी नियुक्ति, बीजेपी के इन पार्टी पदाधिकारियों को मिला मौका

अखिलेश यादव का आवास परिवर्तन, क्या करेगा भाग्य परिवर्तन?

जानिए क्यों कि बसपा के सतीश चंद्र मिश्रा ने सीएम योगी से मुलाकात….

अखिलेश यादव के इस फैसले ने कर दिया सबको हैरान…

कांग्रेस की बड़ी जीत,रमेश कुमार को चुना गया विधानसभा स्पीकर

बसपा का राष्ट्रीय अधिवेशन कल, मायावती को लेकर होगी ये बड़ी घोषणा…..

बेटे की हत्या से दुखी पिता का योगी सरकार से भरोसा उठा अखिलेश से की न्याय की मांग

युवा कांग्रेस का बनारस और दिल्ली मे बड़ा आन्दोलन- केशव चंद्र यादव, राष्ट्रीय अध्यक्ष

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com