Breaking News

बेटे की हत्या से दुखी पिता का योगी सरकार से भरोसा उठा ,अखिलेश यादव से लगायी न्याय की गुहार

लखनऊ,  बेटे की हत्या से दुखी पिता का योगी सरकार से भरोसा उठ गया है। मृतक के पिता ने समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलकर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।

युवा कांग्रेस का बनारस और दिल्ली मे बड़ा आन्दोलन- केशव चंद्र यादव, राष्ट्रीय अध्यक्ष

पेट्रोल- डीजल के दामों में वृद्धि के खिलाफ सड़क पर उतरे सपा और कांग्रेस, कुछ एेसे किया विरोध

बाराबंकी के सभासद राजगोपाल यादव ने अन्य क्षेत्रवासियों के साथ मिलकर अखिलेश यादव को अपनी पीड़ा बताई। उन्होंने एक ज्ञापन देकर बताया कि गत 17 मई की रात उनके पुत्र दुर्गेश कुमार यादव की हत्या कर दी गई। नामजद रिपोर्ट के बावजूद हैदरगढ़ कोतवाल द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। उनसे न्याय मिलने की आशा भी नहीं है। इसलिए वर्तमान जांच अधिकारी  को हटाकर अन्य अधिकारी से जांच कराई जाए। अखिलेश यादव ने इस सम्बंध में उचित कार्यवाही कराने का भरोसा दिलाया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘‘ चुनौती स्वीकार है विराट” कहते ही मिली इतनी चुनौतियां..

उत्तर प्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, सांसद एवं विधायकों को दी ये बड़ी छूट

ज्ञापन में कहा गया है कि घटना की रात दुर्गेश तिवारी व राजेश तिवारी उर्फ पप्पू पंड़ित, अंकुर टंडन, नरेन्द्र टंडन उर्फ गुल्लू निवासी मो0 ठठराही नगर ने दुर्गेश कुमार यादव पर लाठी-डंडो व सरिया से हमला कर दिया और राजेश तिवारी उर्फ पप्पू पंड़ित के घर ले जाकर भी मारा पीटा। दुर्गेश को मरा समझ कर घर के बाहर रोड पर फेंक दिया।

भीम आर्मी भी उतरी उप चुनाव में , कैराना की राजनीति ने लिया नया मोड़.

बीजेपी को लगा बड़ा झटका, इस निर्दलीय प्रत्याशी ने थामा आरएलडी का हाथ…..

दुर्गेश को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हैदरगढ़ ले गए। कई बार फोन करने पर भी कोतवाल ने फोन रिसीव नहीं किया तब खुद जाकर कोतवाली में मुंशी को घटना बताई गई। उपचार के दौरान दुर्गेश को खून की उल्टी होने से वह केवल दुर्गेश तिवारी, राजेश तिवारी, शुभम तिवारी को नामजद कर सका। आगे बयान नहीं दे सका। कोतवाली में एफआईआर के बावजूद न तो अभियुक्तगण पकड़े गए और नहीं घटना की जांच सही ढंग से हो रही है।

शिवपाल यादव हुए भावुक ,मुलायम सिंह और अखिलेश से कही ये बात…

 विधायकों को खुलेआम धमकी, पूर्व डीजीपी के घर डकैती, यूपी में कानून व्यवस्था ध्वस्त- अखिलेश यादव

उन्होंने बताया गया कि हत्या के बाद जबरन शव को बिना पंचायतनामा के सरकारी गाड़ी से बाराबंकी ले जाया जा रहा था जिसे रोक कर शव वापस कोतवाली लाया गया। स्थानीय कोतवाल द्वारा सही ढंग से जांच करने और न्याय मिलने की उम्मीद नहीं की जा सकती है। पीड़ित परिवार ने हत्या की सीबीआई जांच कराने, परिवार को आर्थिक मदद देने तथा अभियुक्तों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग भी की है।

  योगी सरकार ने फिर किये पीसीएस अफसरों के तबादले

यूपी उपचुनाव में बीजेपी की बढ़ी मुश्किले ,सपा गठबंधन को मिला इस बड़ी पार्टी का साथ

गोरखपुर के डॉ. कफील खान, अब बचायेंगे इनकी जान, मुख्यमंत्री बोले….

यूपी मे हालात बद्तर, अब भाजपा विधायकों से मांगी जा रही रंगदारी, सीएम से की शिकायत

 मोदी सरकार के इस फैसले से SC, ST,OBC और अल्पसंख्यक के मन मे पक्षपात की आशंका- शिवपाल यादव

राहुल गांधी ने छात्रों को किया आगाह, बताया मोदी सरकार कैसे आरएसएस के अनुकूल अफसरों को भरेगी

कैराना उपचुनाव हुआ और भी दिलचस्प,बीजेपी को रोकने के लिए दो बड़े दुश्मन हुए एक

कर्नाटक जा रहे अखिलेश यादव, पूरी करेंगे अपनी ये हसरतें

Spread the love
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com