Breaking News

जन शिकायतों के निस्तारण हेतु मुख्यमंत्री ने ‘जन-सुनवाई’ का किया शुभारम्भ

cm upउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज अपने सरकारी आवास पर जन शिकायतों के त्वरित, प्रभावी एवं पारदर्शी निस्तारण हेतु देश के पहले एकीकृत पोर्टल ‘जन-सुनवाई’ (jansunwai.up.nic.in) के साथ-साथ देश की पहली मीडिया हेल्पलाइन (1800-1800-303) का शुभारम्भ किया। उन्होंने  पवन कुमार की काॅफी टेबल बुक अखिलेश यादव-संघर्ष की सफलता’ तथा प्रदेश के सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग की मासिक पत्रिका ‘उत्तर प्रदेश’ के ‘अमृतलाल नागर विशेषांक’ तथा ‘उत्तर प्रदेश वार्षिकी-2015’ का विमोचन भी किया। इसके अलावा उन्होंने सूचना विभाग की पत्रावलियों तथा पत्रों पर कार्रवाई को समयबद्ध एवं पारदर्शी बनाने हेतु कम्प्यूटराइज़्ड लैटर/फाइल ट्रैकिंग सिस्टम का लोकार्पण भी किया। उन्होंने दुलर्भ छाया चित्रों पर आधारित सूचना विभाग की ‘यू0पी0 के गौरव’ प्रदर्शनी का भी शुभारम्भ किया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता की छोटी-छोटी समस्याओं एवं शिकायतों के निस्तारण पर मुख्यमंत्री कार्यालय से ‘जन-सुनवाई’ पोर्टल के माध्यम से निगाह रखी जाएगी। इससे लोगों को राहत मिलेगी और उनकी शिकायतों के निस्तारण में गुणवत्ता आएगी। इस समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली की विशिष्टताओं का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कार्यालय, जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक कार्यालय, तहसील दिवस व आॅनलाइन माध्यम से प्राप्त शिकायतों का निस्तारण इसी पोर्टल के माध्यम से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 20 फरवरी, 2016 से अन्य राज्य स्तरीय कार्यालयों में आॅनलाइन आवेदन करने की सुविधा भी इस प्रणाली के माध्यम से उपलब्ध हो जाएगी। इसमें ई-मार्किंग के जरिए जनता की शिकायतें व आवेदन, सम्बन्धित अधिकारियों एवं विभागों को इलेक्ट्राॅनिक माध्यम से भेजे जाएंगे, जिससे निस्तारण में गति आएगी। लोग अपनी शिकायतें एवं आवेदन घर बैठे आॅनलाइन कर सकते हैं, जिससे लोगों को अनावश्यक विभिन्न कार्यालयों में आने-जाने से राहत मिलेगी।
श्री यादव ने कहा कि शिकायतों के निस्तारण की स्थिति पर इसी पोर्टल द्वारा जानकारी प्राप्त की जा सकेगी और यदि निस्तारण की गुणवत्ता ठीक नहीं है तो इसी पोर्टल पर अपनी बात पुनः लिखने की सुविधा मिलेगी। इस पोर्टल पर आने वाली शिकायतों पर सीधे उनके कार्यालय द्वारा सतत नज़र रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि शिकायतों के निस्तारण एवं अन्य प्रकरणों में फीडबैक प्राप्त करने के लिए अलग से काॅल सेण्टर भी स्थापित किया जा रहा है। राज्य सरकार के इस प्रयास से गवर्नेन्स में सहूलियत होगी।
अखिलेश यादव ने काॅफी टेबल बुकअखिलेश यादव-संघर्ष की सफलता’ के लिए  पवन कुमार को बधाई देते हुए कहा कि यह उनके जीवन के संघर्ष को ताज़ा करने जैसा है। ज्ञातव्य है कि ‘राॅयटर’ न्यूज़ एजेंसी एवं ‘द वीक’ पत्रिका से जुड़े फोटोग्राफर  पवन कुमार द्वारा मुख्यमंत्री के राजनैतिक सफर के प्रारम्भिक दिनों से लेकर अब तक के विभिन्न अवसरों के फोटोग्राफ्स को इस पुस्तक में संकलित किया गया है।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सूचना विभाग द्वारा मीडिया कर्मियों की सुविधा के लिए जारी की गई टोल फ्री मीडिया हेल्पलाइन के लिए प्रमुख सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे मीडिया कर्मियों को अपनी समस्याओं एवं कठिनाइयों को शासन के संज्ञान में लाने में सहूलियत होगी। उन्होंने श्री अमृतलाल नागर पर आधारित विशेषांक की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रकार के प्रयास से राज्य के लेखकों एवं साहित्यकारों के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने में मदद मिलती है।
उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष श्री उदय प्रताप सिंह ने विमोचित पुस्तकों एवं पत्रिका की सराहना करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश पत्रिका द्वारा  अमृतलाल नागर पर आधारित विशेषांक से जहां साहित्य प्रेमियों को उनके बारे में और अधिक गहराई से जानने एवं समझने का मौका मिलेगा, वहीं मुख्यमंत्री पर आधारित काॅफी टेबल बुक से प्रदेश के नौजवानों को प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के विजन एवं इसके अनुरूप कार्य करने की क्षमता की सराहना करते हुए कहा कि इतने कम समय में जन मानस में स्थान बनाने में श्री अखिलेश यादव जी ने जो सफलता प्राप्त की है, वह उनकी विनम्रता एवं जनता के दुःख एवं तकलीफों को पूरी संवेदनशीलता से दूर करने के प्रयासों के कारण सम्भव हो पाया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने तमाम विश्वस्तरीय विकास कार्यों के साथ-साथ जनकल्याणकारी कार्यों को आगे बढ़ाया है। इसके साथ ही, ललित कला के क्षेत्र में काफी काम किया है।
उत्तर प्रदेश भाषा संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष एवं प्रख्यात कवि डाॅ0 गोपालदास नीरज ने मुख्यमंत्री द्वारा किए जा रहे तमाम विकास कार्यों के साथ-साथ साहित्यकारों के लिए किए गए कल्याणकारी कार्यों की भी सराहना की। उन्होंने कहा कि देश के सभी मुख्यमंत्रियों में प्रदेश के मुख्यमंत्री सर्वाधिक विनम्र हैं और वे पूरी तरह अहंकार रहित भी हैं। इस कम उम्र में अखिलेश यादव ने शालीनता से प्रदेश में विकास का जो काम किया है, वह सराहनीय है।
एवरेस्ट विजेता  संतोष यादव ने आज विमोचित विभिन्न पुस्तकों की चर्चा करते हुए कहा कि मीडिया देश एवं समाज के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देती है। संचार के महत्व का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि जनता एवं सरकार के बीच में कम्युनिकेशन बनाए रखने में जन-सुनवाई एवं मीडिया हेल्पलाइन काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।
इससे पूर्व, मुख्य सचिव आलोक रंजन ने कहा कि जन-सुनवाई पोर्टल से जनता की समस्याओं के सही निस्तारण तथा अनुश्रवण में मदद मिलेगी। उन्होंने इसे गवर्नेन्स रिफाॅर्म की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम बताते हुए कहा कि अगले तीन महीने में काॅल सेण्टर काम करने लगेगा, जिसका सीधा लाभ प्रदेश की जनता को मिलेगा।
प्रमुख सचिव सूचना  नवनीत सहगल ने तकनीक के सहारे प्रशासन को बेहतर बनाने की प्रक्रिया का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य सरकार जनता की समस्याओं के निदान के लिए लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि मीडिया के क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों के लिए मीडिया हेल्पलाइन चैबीस घण्टे काम करेगी।
सचिव मुख्यमंत्री श्री अमित गुप्त ने जन-सुनवाई पोर्टल के विभिन्न पहलुओं की जानकारी देते हुए कहा कि इसे प्रभावी एवं जनोपयोगी बनाने के लिए अनुश्रवण की कड़ी व्यवस्था की जाएगी।
निदेशक सूचना  आशुतोष निरंजन ने कहा कि आज मुख्यमंत्री द्वारा मीडिया हेल्पलाइन, विभाग की साहित्यिक एवं सांस्कृतिक हिन्दी मासिक पत्रिका उत्तर प्रदेश द्वारा श्री अमृतलाल नागर की रचनाधर्मिता पर आधारित विशेषांक तथा उत्तर प्रदेश वार्षिकी-2015 का विमोचन किया गया है। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा करीब 40,000 से अधिक दुर्लभ छाया चित्रों के पुनर्सृजन एवं डिजिटलाइजेशन के साथ-साथ इन पर आधारित ‘यू0पी0 के गौरव’ नामक प्रदर्शनी का आयोजन भी कराया जा रहा है। विभाग के इन कार्यों से समाज के विभिन्न वर्गों को काफी लाभ होगा।
cm up

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com