Breaking News

बिड़ला और सहारा समूह से मोदी ने पैसे खाये हैं- केजरीवाल

kejriwal-07-1465291658-600x400रांची , आम आदमी पार्टी  के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आज फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा आरोप लगाते हुए कहा कि बिड़ला और सहारा समूह से श्री मोदी ने पैसे खाये हैं और शराब कारोबारी विजय माल्या से भी उनकी सांठगांठ है।
श्री केजरीवाल ने आज  नोटबंदी के खिलाफ आप पार्टी की ओर से हरमू मैदान में आयोजित जनसभा में कहा कि उनके रांची आने का मतलब राजनीति नहीं है, वे वोट मांगने नहीं आये बल्कि एक माह से देश भर में घूम.घूम कर नोटबंदी के नाम पर हो रहे घोटाले को उजागर करने का प्रयास कर रहे है। उन्होंने आयकर विभाग से मिले कुछ दस्तावेजों का हवाला देते हुए बताया कि छोटे किसान, व्यवसायी यदि बैंक ऋण का एक किश्त जमा करने में चूक जाते हैं तो बैंक वाले गुंडा भेज कर पैसे की वसूली कराते हैं या जमीन-संपत्ति जब्त कर लेते है। लेकिन, प्रधानमंत्री के अमीर दोस्त बैकों के आठ लाख करोड़ रुपये डकार गये और प्रधानमंत्री ने इन पूंजीपतियों के अब तक 1.14 लाख करोड़ रुपये बैंक ऋण को माफ कर दिया है। नोटबंदी के बाद बैंकों में होने वाली जमाराशि से ही इन पूंजीपतियों के आठ लाख करोड़ रुपये का ऋण माफ किया जाएगा।
दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि शराब बनाने वाला कारोबारी विजय माल्या नौ हजार करोड़ रुपये का बैंक ऋण लेकर एक दिन अचानक लंदन भाग गया लेकिन प्रधानमंत्री कहते है कि उन्हें पता ही नहीं चला कि कब विजय माल्या देश छोड़ कर चला गया। उन्होंने बताया कि नोटबंदी के बाद जब देश के आम लोग बैंकों और एटीएम के सामने लंबी कतार में लगे थे तब एक सप्ताह पहले माल्या के 1200 करोड़ रुपये को भी माफ कर दिया गया है, जो यह साबित करता है कि कहीं न कहीं गड़बड़ी हुई है। उन्होंने आयकर विभाग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताया कि 15 अक्टूबर 2013 को बिड़ला समूह के ठिकाने पर आयकर छापेमारी हुई। रिपोर्ट की पृष्ठ संख्या 217 पर लिखा है कि गुजरात के मुख्यमंत्री को 25 करोड़ रुपये दिये जाने हैं, जिसमें 12 करोड़ का भुगतान हो चुका है। लेकिनए प्रधानमंत्री ने इस मामले में अब तक जांच नहीं करायी।
उन्होंने कहा कि 22 नवंबर 2014 को सहारा समूह के ठिकाने पर आयकर छापेमारी में 130 करोड़ रुपये नकद एवं अन्य दस्तावेज बरामद किये गये। इससे यह जानकारी मिलती है कि 30 अक्टूबर 2013 को 2.5 करोड़ रुपये जायसवाल के माध्यम से गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को दिये गये। इसी तरह जायसवाल के जरिये ही 12 नवंबर 2015 को 5ण्10 करोड़ए 27 नवंबर 2013 को 2ण्10 करोड़ तथा छह दिसंबर 2015 को पांच करोड़ रुपये सचिन के माध्यम से नरेंद्र मोदी को दिये गये। उन्होंने कहा कि जब एक बार पैसा लेने की आदत पड़ जाती है तो व्यक्ति सभी से पैसा लेता है और 1.14 लाख करोड़ रुपये जिन अमीर दोस्तों का माफ किया गया है उनसे भी पैसे लिये गये होंगे। इससे
इंकार नहीं किया जा सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com