रोहित वेमुला की मां से मिले कन्हैया, हैदराबाद विश्वविद्यालय में प्रवेश से रोका गया

kanhaiyakumarहैदराबाद, रोहित वेमुला की आत्महत्या को लेकर हैदराबाद विश्वविद्यालय में प्रदर्शन कर रहे छात्रों को समर्थन देने पहुंचे जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को विश्वविद्यालय परिसर में दाखिल होने नहीं दिया गया । कन्हैया ने विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर ही एक छोटा सा भाषण दिया।’तुम कितने रोहित मारोगे, हर घर से रोहित निकलेगा’ के नारे भी लगे। कन्हैया ने विश्वविद्याल प्रशासन पर छात्रों के विरोध के अधिकार को कुचलने का आरोप लगाया। हैदराबाद विश्वविद्यालय में कैंपस में किसी बाहरी को घुसने पर पाबंदी लगा रखी है। विश्वविद्यालय ने एक बयान में यह कहा है कि वह ‘मीडियाकर्मियों, राजनीतिक दलों, बाहरी छात्रों, संगठनों तथा राजनेताओं को विश्वविद्यालय कैम्पस में प्रवेश नहीं करने देगी।’ आमतौर पर खुला रहने वाला मुख्यद्वार  बंद है तथा वहां सुरक्षाधिकारी पहरा दे रहे हैं, तथा हर आने वाली की बारीकी से जांच कर रहे हैं।
इस बीच, हैदराबाद पुलिस का कहना है कि कन्हैया कुमार को गिरफ्तार करने या उन्हें हिरासत में लेने के लिए उनके पास फिलहाल कोई आधार नहीं है, और वे कन्हैया को हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी की ओर जाने से नहीं रोक सकते।
कन्हैया कुमार हैदराबाद में रोहित वेमुला की मां से मिले, और रोहित को ‘न्याय दिलाने’ की प्रतिज्ञा की। इसी महीने जेल से रिहा होने के बाद भी कन्हैया कुमार ने कहा था, रोहित वेमुला उनके ‘आदर्श’ हैं।
रोहित वेमुला की मां, रोहित के मित्रों, कुछ शिक्षकों तथा विपक्षी दलों ने आरोप लगाया है कि यूनिवर्सिटी अधिकारियों ने पीएचडी स्कॉलर रोहित को केंद्रीय मंत्रियों बंडारू दत्तात्रेय तथा स्मृति ईरानी के दबाव में निलंबित किया था। हालांकि मंत्रियों ने इस मामले में किसी भी तरह का दबाव डालने के आरोप से इंकार किया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *