Breaking News

सम्मान पाने वाले, समाज के अन्य लोगों को भी प्रेरित करते हैं-मुख्यमंत्री अखिलेश

AkhileshYadav portलखनऊ,  मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने सरकारी आवास पर उच्च शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थानम् तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद की ओर से दिए जाने वाले वार्षिक पुरस्कार बांटे। उन्होंने कहा कि सम्मानित होने वाले विशिष्टजन न सिर्फ अपने संस्थान को पहचान दिलाते हैं बल्कि समाज के अन्य लोगों को प्रेरित भी करते हैं।

प्रो. अजय व डॉ. राम प्रकाश को सरस्वती पुरस्कार:- मुख्यमंत्री ने दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के जन्तु विज्ञान के प्रो. अजय कुमार श्रीवास्तव व राजकीय महाविद्यालय बीसलपुर पीलीभीत के भौतिकी के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. राम प्रकाश यादव को सरस्वती पुरस्कार प्रदान किया। लखनऊ विश्वविद्यालय के अंग्रेजी के प्रोफेसर रवीन्द्र प्रताप सिंह, गोरखपुर विश्वविद्यालय के सांख्यिकी के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. हिमांशु पांडेय व कुमारी मायावती राजकीय पीजी कॉलेज गौतमबुद्धनगर के जन्तु विज्ञान के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. दिनेश चंद्र शर्मा को शिक्षकश्री पुरस्कार प्रदान किया। सरस्वती पुरस्कार के रूप में स्मृति चिह्न व प्रशस्ति पत्र के साथ तीन लाख रुपये का चेक दिया गया।

केजीएमयू के डॉ. सूर्यकांत को विज्ञान गौरव सम्मान:- मुख्यमंत्री ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद की ओर से विज्ञान रत्न, युवा वैज्ञानिक सम्मान, बाल वैज्ञानिक सम्मान, विज्ञान शिक्षक सम्मान, नवोन्मेषक सम्मान व विज्ञान छात्र सम्मान प्रदान किया। पांच लाख रुपये पुरस्कार राशि का सर्वोच्च विज्ञान गौरव सम्मान केजीएमयू में पल्मोनरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकांत को और 2.50 लाख रुपये पुरस्कार राशि का विज्ञान रत्न सम्मान केजीएमयू में पीडियार्टिक सर्जरी के विभागाध्यक्ष डॉ. एसएन कुरील, गैस्ट्रोसर्जरी विभाग के डॉ. अभिजीत चंद्रा व एनई रेलवे अस्पताल के यूरोलॉजिस्ट डॉ. सलिल टंडन को दिया गया।

इसके अलावा एक लाख रुपये पुरस्कार राशि का यंग साइंटिस्ट सम्मान शाहजहांपुर के गन्ना अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिक डॉ. एके तिवारी, केजीएमयू में डेंटल फैकल्टी के डॉ. मयंक सिंह, बीएचयू वाराणसी में पर्यावरण विभाग के सहायक प्रध्यापक डॉ. सुधाकर श्रीवास्तव, एएमयू अलीगढ़ में वनस्पति विज्ञान के सहायक प्रध्यापक डॉ. तारिक आफताब व सीडीआरआई व लखनऊ के वैज्ञानिक डॉ. वहाजुद्दीन को दिया गया। बाल वैज्ञानिक सम्मान रायबरेली के आयुष्मान बाजपेई, कानपुर के प्रांजल मिश्रा, फर्रूखाबाद की कु़ अवनि गंगवार व कानपुर के सूर्यांक दीक्षित को दिया गया। विज्ञान शिक्षक सम्मान लखीमपुर खीरी के आलोक गोयल, फैजाबाद के डॉ. घनश्याम सिंह, फिरोजाबाद के संजय शर्मा, गाजियाबाद की वीना मिश्रा व मिर्जापुर के सुशील कुमार पांडेय को दिया गया। नवोन्वेषक सम्मान केजीएमयू में डेंटल फैकल्टी के डॉ. जितेन्द्र राव, रायबरेली के डॉ. रमेश कुमार श्रीवास्तव व मो. अबरार, गोंडा के राम सजीवन व लखनऊ के नव कुमार अवस्थी को दिया गया। बाल वैज्ञानिक सम्मान, विज्ञान शिक्षक सम्मान नवोन्वेषक सम्मान पाने वालों को 25-25 हजार रुपये पुरस्कार राशि दी गई।

इसी क्रम में विज्ञान के क्षेत्र में अभिनव कार्य करने वाले सुल्तानपुर के आनंद कुमार पांडेय व हसन रजा खां, फैजाबाद के वंश चतुर्वेदी, गाजियाबाद के हामिद हुसैन व देवरिया के रमेश कुमार मौर्या को 10-10 हजार रुपये का पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। पूर्व कुलपति प्रो. राजेन्द्र मिश्र को विश्वभारती पुरस्कार:- मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थानम् का 5.01 लाख रुपये का प्रतिष्ठित विश्वभारती पुरस्कार संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी के पूर्व कुलपति प्रो. राजेन्द्र मिश्र को प्रदान किया।

इसी क्रम में वाल्मीकि पुरस्कार प्रो. रहस बिहारी द्विवेदी को तथा व्यास पुरस्कार आचार्य राधेश्याम शास्त्री को दिया गया। इन्हें पुरस्कार राशि के रूप में 2.01 लाख रुपये के चेक दिए गए। 1.01 लाख रुपये पुरस्कार राशि का विशिष्ट पुरस्कार डॉ. मीरा द्विवेदी, प्रो. रमेश कुमार पांडेय, डॉ. वागीश शर्मा दिनकर, प्रो. जनार्दन प्रसाद पांडेय, प्रो. बनमाली बिश्वाल व डॉ. प्रणव शर्मा शास्त्री को दिया गया। 51 हजार रुपये पुरस्कार राशि का वेद पंडित पुरस्कार तोयराज उपाध्याय, श्याम शंकर द्विवेदी, विवेक कुमार शर्मा, दुर्गा प्रसाद गौतम, वेद प्रकाश चतुर्वेदी, रवीन्द्र शर्मा, सर्वेश कुमार मिश्र, ज्योति स्वरूप तिवारी, नितिन कुमार पांडेय व विवेक पाठक को, 51 हजार रुपये का नामित पुरस्कार डॉ. हर्ष देव माधव, पं. सत्य नारायण शास्त्री व डॉ. राम नारायण द्विवेदी को दिया गया। 21 हजार रुपये का विशेष पुरस्कार प्रो. प्रद्युम्न दूबे, डॉ. जमुना पाठक, डॉ. उपेन्द्र कुमार त्रिपाठी, डॉ. शिवदत्त शर्मा चतुर्वेदी, प्रो. श्रीकिशोर मिश्र व डॉ. नरेन्द्र त्रिपाठी को दिया गया।

इसके अलावा 11 हजार रुपये का विविध पुरस्कार (साहित्य पुरस्कार) डॉ. अमलदार निहार, डॉ. सुशीला सिंह, प्रो. राम सुमेर यादव, डॉ. पवन कुमार शास्त्री, डॉ. उपेन्द्र देव पांडेय, डॉ. रेखा शुक्ला, डॉ. शालिनी अग्रवाल, डॉ. प्रयाग नारायण मिश्र, डॉ. सुरेद्र पाल सिंह, आचार्य बाबूराम अवस्थी, आचार्य राधेश्याम चतुर्वेदी, डॉ. केवल कृष्ण ठकराल, डॉ. सुधाकर मिश्र, प्रो. विमला कर्नाटक, लालजी, प्रो. संघसेन सिंह व डॉ. कृष्ण नारायण पांडेय को दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com