हालत बिगड़ने पर, मोदी सरकार को हुई नोटबंदी का जनता पर असर जानने की चिंता

atm-queues_650x400_71479459536नई दिल्ली,  नोटबंदी के बाद जमीनी हालात को जानने के लिए केंद्रीय विभागों में कार्यरत वरष्ठि नौकरशाह राज्यों का दौरा करेंगे। अधिकारियों को मौके पर पहुंचकर आकलन करने और अपना फीडबैक देने को कहा गया है। कार्मिक विभाग (डीओपीटी) ने अतिरक्ति सचिव और संयुक्त सचिव स्तर के और निदेशक या उप सचिव के तौर पर काम कर रहे 70 वरष्ठि अधिकारियों के कुल 32 दल बनाए हैं।

ये अधिकारी केंद्र सरकार के विभन्नि विभागों से हैं। आदेश के मुताबिक तीन अधिकारियों वाले दल गुजरात, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, कनार्टक, राजस्थान, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर और पंजाब जाएंगे। दो सदस्यों वाले दल तेलंगाना, केरल, हरियाणा, छत्तीसगढ़, झारखंड, गोवा और असम जाएंगे। एक अधिकारियों वाले दल नगालैंड, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, मेघालय, मणिपुर, अंडमान और निकोबार, पुडुचेरी और सिक्किम जाएंगे। डीओपीटी के मुताबिक उनके दौरे की तारीख और उद्देश्य आर्थिक मामलों के विभाग तय करेंगे। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपये के नोटों को अमान्य करार दे दिया था। साथ ही लोगों को इन नोटों को बदलने के लिए 30 दिसंबर तक समय दिया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *