Breaking News

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच हो सकता है गठबंधन, कांग्रेस ने दिया ये आफर

नई दिल्ली,  लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन के लिये खुशखबरी है. दिल्ली में एक बार फिर से आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन की प्रक्रिया तेज हो गई है।  आज इसे लेकर कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी से गठबंधन पर हां कर दी है. कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी को दिल्ली मे 7मे से 4सीट देने का आफर दिया है.

अगर आपको नही मिला है ट्रेन टिकट तो न लें टेंशन,अब भी बुक कर सकते हैं कन्फर्म टिकट

1865 रुपये से ज्यादा सस्ता हुआ सोना….

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गठबंधन पर फैसला लेने के लिए सुबह 10 बजे अपने आवास पर एक अहम बैठक बुलाई थी. इस बैठक में दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित, तीनों कार्यकारी अध्यक्ष और दिल्ली कांग्रेस के प्रभारी पीसी चाको भी मौजूद थे.

पीएम मोदी समेत भाजपा नेताओं ने बदला अपना नाम…..

WhatsApp ने उठाया ये बड़ा कदम, देखिए कहीं आप तो नहीं हुए शिका

सूत्रों की मानें तो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली की परिस्थितियों पर चर्चा की और दिल्ली के कांग्रेस नेताओं की राय जानीं.लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर कांग्रेस का ये आफर बीजेपी के लिये बड़ी आफत हो सकती है. हालांकि, आम आदमी पार्टी  दिल्ली की सातों सीटों पर अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर चुकी है और चुनाव अभियान भी शुरू कर दिया.

मुर्गियों ने ले ली इस खतरनाक जानवर की जान,देखकर आप रह जाएंगे हैरान…

सरकार कारोबार शुरू करने के लिए देगी इतने लाख रुपये,ऐसे करें अप्लाई….

 सूत्रों ने बताया कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने मध्यस्थ की भूमिका निभाते हुए दोनों पार्टियों से बातचीत की थी. आम आदमी पार्टी ने शरद पवार के जरिए कांग्रेस को गठबंधन के लिए नया ऑफर भिजवाया है. सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गठबंधन के पक्ष में हैं. इसके लिए कांग्रेस ने अपने कार्यकर्ताओं में एक सर्वे और ऑपिनियन पोल करवाया. इसमें गठबंधन करने पर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को फायदा होते हुए दिखाया. इसके बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने राहुल गांधी से अपने फैसले पर दोबारा से विचार करने के लिए कहा.

पहली बार प्याज के बराबर पैदा हुआ इंसान का बच्चा,देखकर रह जाएगे हैरान

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों को दी ये बड़ी सुविधा….

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी दोनों ही दिल्ली में साथ चुनाव क्यों लड़ना चाहती हैं. यह पूरा खेल आंकड़ों का है. साल 2014 लोकसभा चुनाव के आंकड़ें देखें तो दिल्ली में भाजपा ने 46.63 फीसदी वोटों के साथ सातों सीटों पर कब्जा कर लिया था. वहीं अगर आम आदमी पार्टी के वोट फीसद देखें तो वह 33.08 फीसदी के साथ दूसरे नंबर पर थी. कांग्रेस को 42.01 फीसदी वोटों का नुकसान हुआ था, उसका आंकड़ा 15.22 फीसदी ही पहुंच पाया. अगर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के वोट फीसद को जोड़ा जाए तो यह 48 फीसदी से ज्यादा जा रहा है, जो कि भाजपा से ज्यादा है. ऐसे में दोनों पार्टियों का सोचना है कि साथ चुनाव लड़ने से दोनों को फायदा होगा और भाजपा को हराने में मदद मिलेगी.

फिर हुआ बड़ा विमान हादसा,हुई कई लोगो की मौत…

इस करोड़पति को चाहिए दामाद, बस माननी होगी ये छोटी सी शर्त

यूपी में इन लोगो को लगने वाला है बड़ा झटका…..

सीजन का सबसे बड़ा ऑफर, इन कारों पर मिल रहा है लाखों का डिस्काउंट

इस तारीख से पहले कर दें अपने बकाया बिजली के बिल का भुगतान, वरना

घर में शेर पालना पड़ा भारी,जो हुआ वो जानकर रह जाएंगे हैरान….

आठ साल की बच्ची के पेट से निकली ये खतरनाक चीजें……

कार लोन पर ये बैंक दे रहा है बड़ा तोहफा…..

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com