Breaking News

अभिजीत बनर्जी की प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद, बीजेपी ने लिया यू टर्न

कोलकाता,  अर्थशास्त्र क्षेत्र में इस साल नोबेल पुरस्कार के लिए चुने गए अभिजीत बनर्जी पर भाजपा के कुछ नेताओं द्वारा की गई टिप्पणी के बाद राज्य में आलोचनाओं का सामना कर रही पार्टी ने बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मुलाकात के बाद राहत की सांस ली।

भाजपा सूत्रों के मुताबिक अर्थशास्त्री के खिलाफ पार्टी के कुछ नेताओं द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पणी का नकारात्मक असर राज्य में हो रहा था। यहां पार्टी 2021 के विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को सत्ता से हटाने के लिए हरसंभव प्रयास में लगी हुई है।

कई शहरों के बाद अब बदलेगा हज हाउस का नाम

बनर्जी के खिलाफ राज्य और केंद्र के नेताओं द्वारा की गई ‘अशोभनीय’ टिप्पणियां बंगाल के लोगों को रास नहीं आई और इसे लोगों ने इसे ‘बंगाली विरोधी’ मानसिकता के तौर पर देखा।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बनर्जी को वामपंथी विचारधारा का बताते हुए कहा था कि भारतीय मतदाताओं ने उनकी न्यूनतम आय योजना को खारिज कर दिया। पार्टी के राष्ट्रीय नेता राहुल सिन्हा ने कहा था कि बनर्जी की अर्थशास्त्र की थ्योरी भारत में जमीनी स्तर पर नहीं चल पाई हैं। इसके अलावा सिन्हा ने उनके निजी जीवन पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की।

यूपी में 30 नवम्बर तक अधिकारियों की छुट्टी बंद

राज्य के भाजपा नेताओं ने कहा कि बनर्जी और मोदी की मंगलवार को हुई मुलाकात से बंगाल के लोगों को यह सकारात्मक संदेश गया कि पार्टी योग्य लोगों के सम्मान से भी पीछे नहीं हटती है चाहे वह आलोचक ही क्यों न हो।भाजपा के एक नेता ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया, ‘‘ हमारे मन में भी बनर्जी के लिए काफी सम्मान है क्योंकि उन्होंने बंगाल और देश दोनों को गौरव प्रदान किया है।’’

बनर्जी मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में प्रोफेसर हैं और उन्हें अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है। यह पुरस्कार उन्हें उनकी पत्नी एवं अर्थशास्त्री एस्थर डुफ्लो और माइकल क्रेमर के साथ संयुक्त रूप से दिया जाएगा। इन तीनों को वैश्विक स्तर पर गरीबी से लड़ने संबंधी शोध कार्यों के लिये 2019 के अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है।

खत्म हो रहीं सरकारी नौकरियां, मंत्री बोले- 400 विभाग होंगे बंद

मोदी ने अपने आधिकारिक आवास में बनर्जी के साथ मुलाकात के बाद ट्वीट किया, ‘‘नोबेल पुरस्कार के लिए चयनित अभिजीत बनर्जी के साथ शानदार मुलाकात। मानव सशक्तिकरण के प्रति उनका जुनून स्पष्ट रूप से दिखाई देता है। विभिन्न विषयों पर हमारे बीच अच्छी और गहन चर्चा हुई। भारत को उनकी उपलब्धियों पर गर्व है। भविष्य के लिए मेरी शुभकामनाएं।’’

महात्मा गांधी के ‘हे राम’ और ‘जय श्रीराम’ में क्या फर्क है ?

मोदी ने बनर्जी के साथ अपनी मुलाकात की एक तस्वीर भी साझा की। नोबेल पुरस्कार के लिये चुने गये अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिन में मुलाकत में उनसे मजाक किया कि किस तरह मीडिया उनके मुख से ‘‘मोदी विरोधी’’ बात निकलवाने के प्रयास में लगा हुआ है।

पिज्जा खाने वालो के लिए बुरी खबर,कंपनी ने लिया ये बड़ा फैसला….

यूपी के यूनिवर्सिटी और डिग्री कॉलेजों में बैन हुआ मोबाइल …

यूपी सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दिया ये बड़ा तोहफा….

बछड़ी देगी गाय से ढाई गुना अधिक दूध, नई तकनीक हुई विकसित…..

बिग बॉस 13 में ये भोजपुरी स्टार बनेंगे पहले वाइल्ड कार्ड कंटेस्टेंट्स

केन्द्र सरकार के सरकारी कर्मचारियों को मिला ये बड़ा तोहफा….

कुएं से अचानक आने लगी रहस्यमयी आवाज,डर के मारे लोगों ने छोड़ा घर

Spread the love
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com