Breaking News

आखिर अखिलेश यादव को मिल गया बीजेपी को हराने का फॉर्मूला

लखनऊ,   समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को भारतीय जनता पार्टी को हराने का फॉर्मूला मिल गया हैं.

लालू यादव से मिले अखिलेश यादव, दिल्ली का राजनैतिक पारा चढ़ा

इस बार की डॉ.आंबेडकर की जयंती होगी कुछ अलग, बसपा कर सकती हैं ये एेलान…

बीजेपी के इस दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री का बड़ा एेलान, नहीं लड़ेंगे अब चुनाव

 अखिलेश यादव ने  एक साक्षात्कार में कहा, “इस समय प्रासंगिक यही है कि भारतीय जनता पार्टी को हराने के राष्ट्रीय लक्ष्य को हासिल करने के लिए दोनों पार्टियां एक-दूसरे का हाथ थामे आगे बढ़ रही हैं.उन्होंने कहा कि भाजपा देश और राज्य दोनों को नुकसान पहुंचा रही है. अखिलेश यादव ने कहा कि बसपा-सपा गठबंधन एक ऐसा जोड़ है, जो मगरूर और बेकार भाजपा सरकार को करारी शिकस्त देगा. उन्होनें  कहा कि भाजपा अक्सर उपहास उड़ाती रहती है कि विपक्ष के पास उससे मुकाबले के लिए कोई आधार नहीं है. उन्होंने कहा कि बसपा और सपा के साथ आने के बाद आखिरकार वह आधार मिल गया है.

सपा-बसपा के बीच सीटें तय, मायावती- अखिलेश लड़ेंगे चुनाव, ये दो पर्व गठबंधन के लिये महत्वपूर्ण

इस सपा सांसद का छलका दर्द….

बीजेपी को लगा बड़ा झटका, विधायक ने बनाई अलग पार्टी….

पूर्व मुख्यमंत्री ने यह संकेत देते हुए कहा कि बसपा-सपा की दोस्ती 2019 के लोकसभा चुनाव तक जारी रहेगी,  पार्टी ने इसके लिए पहले ही तैयारी कर ली है और अब वह माइक्रो बूथ और जाति प्रबंधन में भाजपा का ही अनुसरण करने की कोशिश कर रही है. मायावती के पल-पल में बदलने वाले स्वभाव के बारे में पूछे जाने पर अखिलेश ने कहा कि समय लोगों को बदल देता है.

SC/ST एक्ट के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दिया केंद्र सरकार को झटका, जानिये क्या कहा

अखिलेश यादव का कार्यकाल हो रहा खत्म ,क्या होगा अगला कदम

 यूपी के लखनऊ में एक समय कट्टर प्रतिद्वंद्वी रही बहुजन समाज पार्टी  के साथ नवगठित गठबंधन के ज्यादा देर टिकने या न टिकने को लेकर लग रहे कयासों के बीच अखिलेश यादव का कहना है कि मायावती और उनकी पार्टी के साथ 23 साल पुरानी कड़वाहट अब ‘पुरानी बात हो गई. अखिलेश से उनके पिता मुलायम सिंह यादव और मायावती के रिश्तों में, खासतौर पर उन पर हुए हमले के बाद पनपी कड़वाहट के बारे में सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा, “जो बीत गया, सो बीत गया। मैं पीछे नहीं, आगे देखता हूं.

दलित आंदोलन को लेकर अखिलेश यादव का बड़ा बयान…

मायावती पहुंची अस्पताल, प्रशासन हुआ हलकान

 अखिलेश यादव ने कहा, सीटों का बंटवारा छोटी-मोटी बात है और जब जरूरत होगी, तब इस पर बात कर ली जाएगी. समय आने पर हम इस स्थिति से निपट लेंगे. अखिलेश ने कहा कि वह अब वही कर रहे हैं, जो भाजपा ने उन्हें सिखाया है. उन्होंने कहा, वे पन्ना प्रमुखों, जातीय समीकरण को समझने और बूथ प्रबंधन की बात करते हैं. और अब जब हम यह कर रहे हैं तो हम पर जातिवादी होने का आरोप लगाया जाता है..हर चीज भाजपा के लिए ही फायदे का सौदा कैसे हो सकती है?

‘फर्जी खबरों’ पर सरकार ने जारी की गाईडलाईन, पत्रकारों ने बताया गला घोंटने वाला कदम

 मायावती को अपमानित करने का बीजेपी सरकार का दांव पड़ा उल्टा? अब नही है कोई जवाब?

 उन्होंने कहा, “वह गर्मजोशी से मिलीं. उन्होंने मुझे एक आम इंसान से देश के सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य की चार बार मुख्यमंत्री बनने की अपनी यात्रा की चित्रमय यात्रा कराई. अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर आरोप लगाया कि उन्होंने उनके शासन काल में उत्तर प्रदेश में हुए अनुकरणीय विकास की तुलना में पिछले एक साल में कोई काम नहीं किया.

यूपी और बिहार की विधान परिषद चुनाव की तिथियां घोषित, यूपी मे 13 सीटों पर होगा चुनाव

भारत बंद – कई राज्यों मे बिगड़े हालात, पांच प्रदर्शनकारियों की मौत, कई दर्जन घायल

 सपा अध्यक्ष ने कहा की, भाजपा सरकार ने पिछले एक साल में केवल एक ही काम किया है और वह है सपा सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं के रिबन काटना. अखिलेश यादव ने दार्शनिक अंदाज में कहा कि राजस्थान के धौलपुर मे स्थित सैन्य स्कूल में और बाद में बेंगलुरू में पढ़ाई करके वह भूल गए थे कि वह एक पिछड़ी जाति के व्यक्ति हैं.

भारत बंद का व्यापक असर, सपा, बसपा, राजद ने भी दिया समर्थन

लोकसभा चुनाव को लेकर, शिवपाल सिंह यादव ने किया बड़ा दावा

 उन्होंने कहा, “मैं यह लगभग भूल ही बैठा था, जब तक कि भाजपा ने मुझे यह याद नहीं दिला दिया कि मैं पिछड़ी जाति से हूं। ऐसा करने के लिए मैं उनका आभारी हूं. मैं यही कहना चाहूंगा कि मेरा जन्म भले ही एक पिछड़े परिवार में हुआ हो, लेकिन मैं एक प्रगतिशील व्यक्ति हूं, जिसका अपना दृष्टिकोण है और जो विकास चाहता है.

आरक्षण और दलित अत्याचार को लेकर, आखिर अपनी पार्टी के खिलाफ क्यों उतरी बीजेपी सांसद

SC/ST  एक्ट: आज भारत बंद, कई राजनीतिक दलों और संगठनों ने दिया समर्थन

अखिलेश ने भाजपा को भ्रमित करार देते हुए राज्य सरकार की कई नाकामियां गिनाईं. उन्होंने कहा कि भाजपा एकजुट हो रही सपा और बसपा का कोई तोड़ निकालने के लिए बेचैन है. एक महागठबंधन में और भी दलों को जोड़ने की योजना के सवाल पर उन्होंने कहा, “फिलहाल केवल यूपी और बसपा-सपा के साथ की बात है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के साथ उनका रिश्ता सामान्य और सौहार्दपूर्ण है.

अखिलेश यादव ने बताया अपने बच्चों का भविष्य…अखिलेश यादव ने बीजेपी की पॉलिसी को लेकर किया बड़ा खुलासा…सचिन तेंदुलकर ने राज्यसभा सांसद के तौर पर किया ऐसा काम….मोदी सरकार के खिलाफ BJP सांसद ने शुरू किया आंदोलनजानिए मायावती ने किस पर कार्रवाई करने को कहाजब सभी कुछ दुबारा हो रहा है तो लगे हाथ ये काम भी कर लो- अखि

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com